• Hindi News
  • Rajasthan News
  • Bari News
  • बाड़ी-सैंपऊ मार्ग की शिकायत के बाद भी नहीं हो रहा निर्माण
--Advertisement--

बाड़ी-सैंपऊ मार्ग की शिकायत के बाद भी नहीं हो रहा निर्माण

उपखंड क्षेत्र के लोगोें के लिए जिला मुख्यालय को जोड़ने वाले धौलपुर सैंपऊ मार्ग के बाद दूसरा सबसे महत्वपूर्ण...

Dainik Bhaskar

Mar 12, 2018, 03:40 AM IST
उपखंड क्षेत्र के लोगोें के लिए जिला मुख्यालय को जोड़ने वाले धौलपुर सैंपऊ मार्ग के बाद दूसरा सबसे महत्वपूर्ण मार्ग बाडी सैंपऊ स्टेट हाईवे संख्या 43 राजनैतिक उपेक्षा का दंश झेल रहा है। इस मार्ग से क्षेत्र के लोगों का करौली और आगरा के लिए बहुतायात में आवागमन रहता है। बसई नबाव से लेकर बाडी तक स्थानीय बाडी विधानसभा का हिस्सा होने के कारण क्षेत्र की राजनीति भी इसी मार्ग से रफ्तार पकड़ती है। लेकिन इस रफ्तार को 8 वर्षों से सरकार की अनदेखी ने ब्रेक लगा दिया है। ऐसे में जर्जर हाल सड़क से यात्री साधनों और लोगों को आवागमन में भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। लोगों की मानें तो लंबे समय से बदहाली के कारण बाडी मार्ग जिले के सबसे खराब मार्गों में गिना जाने लगा है। बसई नबाव से लेकर बाडी तक 38 किलोमीटर की दूरी को तय करने में यात्री साधनों को डेढ़ से दो घंटे का समय लग जाता है। लोगों की मानें तो बाडी से विपक्षी पार्टी का विधायक होने के कारण बाडी सैंपऊ मार्ग पर सरकार का ध्यान नहीं है। और इस मार्ग की जिले में सबसे ज्यादा अनदेखी की जा रही है। कहने को सरकार से इस मार्ग को स्टेट हाइवे का दर्जा मिला हुआ है। उसके बावजूद लंबे समय से अनदेखी खत्म होने का नाम नही ले रही है। मार्ग का निर्माण कांग्रेस की अषोक गहलोत सरकार के समय हुआ था। जिसे करीब 8 वर्स बीत चुके है। लंबे समय से सड़क निर्माण नहीं होने के कारण सडक की हालत बदतर हो गई है। निजी वाहन चालकों ने बताया कि बसई नबाव से वाया सैंपऊ होकर बाडी की 38 किलोमीटर की दूरी तय करने में दो घंटे का समय लग जाता है। वाहनों में टूट-फूट का खतरा बना रहता है सो अलग से। लोगों ने बताया कि क्षेत्रीय विधायक से समस्या और कामकाजों के लिए सैंपऊ, कंचनपुर और बसई नबाव के लोगों का आवागमन हर समय बना रहता है। गाहे बगाहे इस रूट पर पहले की अपेक्षा समस्याओं और शिकायतों को लेकर लोगों का आवागमन बढा है।

विधानसभा में उठा चुका हूं फिर भी की जा रही है अनदेखी: मलिंगा

बाडी विधायक गिर्राज सिंह मलिंगा ने भास्कर को बताया कि बाडी सैंपऊ मार्ग के निर्माण और चौड़ाई करण समेत बसई नबाव और सैंपऊ में बाईपास के निर्माण की मांग विधानसभा में कई बार उठा चुका हूं। सरकार के द्वारा प्रस्ताव भेजे जाने की जानकारी दी जाती है। लेकिन स्वीकृति आज तक नही निकाली है। बाडी क्षेत्र में सडकों की अनदेखी के पीछे राजनैतिक कारण है। जबकि मुख्यमंत्री के द्वारा धौलपुर पर पूरा फोकस है। फिर भी इन समस्याओं के निराकरण के लिए हर संभव प्रयास करेंगे।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..