Hindi News »Rajasthan »Bari» अवैध ट्यूशन जांच कमेटी के अध्यक्ष महेश मंगल पर मिलीभगत के आरोप

अवैध ट्यूशन जांच कमेटी के अध्यक्ष महेश मंगल पर मिलीभगत के आरोप

अभिभावक संघ द्वारा मुख्यमंत्री के नाम भेजे एक शिकायती पत्र के आधार पर जिला शिक्षा अधिकारी द्वारा कस्बे में बड़े...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jan 15, 2018, 07:10 AM IST

अभिभावक संघ द्वारा मुख्यमंत्री के नाम भेजे एक शिकायती पत्र के आधार पर जिला शिक्षा अधिकारी द्वारा कस्बे में बड़े पैमाने पर पनप रहे अवैध ट्यूशन धंधे की जांच के लिए एक दल गठित किया। जिसने कस्बे में महज एक दिन कार्रवाई के नाम पर खानापूर्ति कर अपनी पीठ थपथपा ली जबकि सच्चाई तो ये थी कि जांच दल के अध्यक्ष महेश मंगल प्रधानाचार्य राउमावि बाड़ी ने जिला कलक्टर के आदेश होने के बावजूद भी इस मामले को लगभग 20 दिनों तक ठंडे बस्ते में डाले रखा और जब दबाव बना तो महज एक दिन कार्रवाई कर खानापूर्ति कर दी। जानकारी के मुताबिक जांच दल में एक भी ट्यूशन केन्द्र नियमों का पालन करते नहीं पाया गया ऐसे में उनपर कार्रवाई तो दूर कठोर चेतावनी तक नहीं दी। तो वहीं दूसरी और अभिभावकों का कहना है कि हमारे द्वारा मुख्यमंत्री तक की गई शिकायत भी अब व्यर्थ होती नजर आ रही है।

सरकारी ट्यूशन संचालकों को बचाया गया: निजी ट्यूशन संचालक

जांच दल की नीयत पर सवाल केवल अभिभावकों द्वारा ही नहीं उठाया जा रहा। अभिभावक संघ के अलावा कई प्राइवेट ट्यूशन संचालकों का तो कहना है कि जिस दिन जांच दल ने बाड़ी में कोचिंगों की जांच पड़ताल की उसमें किसी भी सरकारी अध्यापक को नहीं पकड़ा ऐसे में जांच दल द्वारा पक्षपात करने की साफ स्थिति नजर आती है जबकि सच्चाई ये है कि कस्बे का हर नागरिक जानता है कि बाड़ी में कई ऐसे ट्यूशन संचालक है जो पेशे से एक सरकारी अध्यापक के पद पर है।

बड़े पैमाने पर हो रही है कर चोरी

कस्बे में कई ऐसे ट्यूशन संचालक है जिनकी मासिक आय 80 से 1 लाख रुपए मासिक तक है लेकिन जब कर देने की बात आती है तो ये सभी अपने आप को बेरोजगार दिखा कर देने से साफ बच निकलते है जबकि वास्तविकता ये है कि कस्बे में कई ऐसे अवैध ट्यूशन केन्द्र है जो ना तो रजिस्टर है और ना ही ट्यूशन संचालन के लिए निर्धारित गाइड लाइनों को फॉलो करते है। ऐसे में अगर इनके इनकम सॉर्स का निष्पक्ष रूप से जांच की जाए तो सच्चाई सभी के सामने होगी।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Bari News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: avaidh tyushn jaanch kmeti ke adhyks mhesh mngal par milibhgat ke aarop
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Bari

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×