--Advertisement--

बीएसएफ के जवानों ने बयाना कस्बे में किया फ्लैग मार्च

गत दो अप्रैल को एससी-एसटी आंदोलन के बाद उपजे तनाव के हालातों के मद्देनजर कानून व शांति व्यवस्था की दृष्टि से...

Dainik Bhaskar

Apr 07, 2018, 02:30 AM IST
गत दो अप्रैल को एससी-एसटी आंदोलन के बाद उपजे तनाव के हालातों के मद्देनजर कानून व शांति व्यवस्था की दृष्टि से शुक्रवार को स्थानीय पुलिसकर्मियों व बीएसएफ के जवानों ने कस्बे के बाजारों व बस्तियों में फ्लैग मार्च किया।

एसएचओ खलील अहमद के नेतृत्व में दोपहर को बजरिया से शुरू हुआ फ्लैग मार्च सुभाष चौक, शिवगंज मंडी, सब्जी मंडी, लाल दरवाजा, महादेव गली, छोटा बाजार, गांधी चौक, भीतरबाड़ी, पठानपाड़ा आदि में होकर गुजरा। मार्च में हथियारों से लैस बीएसएफ के जवानों को देखकर लोग एकबार तो सकते में आ गए। माना जा रहा है कि एससी-एसटी वर्ग के आंदोलन के बाद देश-प्रदेश में वर्तमान में व्याप्त संवेदनशील हालातों व सोशल मीडिया पर आगामी 10 अप्रैल को भारत बंद व 14 अप्रैल को चक्काजाम को लेकर वायरल हो रहे मैसेजों को लेकर पुलिस प्रशासन अब पूरी सतर्कता बरत रहा है। पुलिस प्रशासन व इंटेलीजेंस के लोग प्रत्येक समाजों की हर पल की रिपोर्ट ले रहे हैं। फ्लैग मार्च के पीछे का उद्देश्य जहां असामाजिक तत्वों को कड़ा संदेश देना है वहीं आमजन को उसकी सुरक्षा के प्रति विश्वास जगाना है। वहीं उन्होंने बताया कि आमजन को प्रशासन व पुलिस प्रशासन का सहयोग करना चाहिए।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..