• Hindi News
  • Rajasthan
  • Barmer
  • भाजपा कांग्रेस ने झोंकी ताकत, पूर्व मंत्री और शिव विधायक की प्रतिष्ठा दांव पर
--Advertisement--

भाजपा-कांग्रेस ने झोंकी ताकत, पूर्व मंत्री और शिव विधायक की प्रतिष्ठा दांव पर

Barmer News - जिले में पंचायतीराज उप चुनाव में जिला परिषद सदस्य वार्ड 37 से भाजपा व कांग्रेस के बीच सीधा मुकाबला है। पंचायतीराज...

Dainik Bhaskar

Mar 04, 2018, 02:25 AM IST
भाजपा-कांग्रेस ने झोंकी ताकत, पूर्व मंत्री और शिव विधायक की प्रतिष्ठा दांव पर
जिले में पंचायतीराज उप चुनाव में जिला परिषद सदस्य वार्ड 37 से भाजपा व कांग्रेस के बीच सीधा मुकाबला है। पंचायतीराज चुनाव में यह सीट भाजपा ने कांग्रेस से छीनी थी। इस उप चुनाव में कांग्रेस पुराना हिसाब चुकता करने के मूड में है। वहीं भाजपा दूसरी बार जीत दर्ज करने की तैयारी में है। इस सीट को लेकर पूर्व मंत्री अमीन खां व शिव विधायक मानवेंद्रसिंह की प्रतिष्ठा दांव पर लगी है। दोनों पार्टियों के वरिष्ठ नेता वार्ड क्षेत्र में आने वाली 18 ग्राम पंचायतों में लगातार सभाएं कर अपने प्रत्याशियों के पक्ष में समर्थन जुटा रहे हैं। भाजपा प्रत्याशी के समर्थन में शिव विधायक मानवेंद्रसिंह बीते तीन दिनों से प्रचार कर रहे हैं। वहीं पूर्व मंत्री अमीन खां के नेतृत्व में कांग्रेस प्रत्याशी का प्रचार बीते एक सप्ताह से लगातार जारी है। बाड़मेर विधायक मेवाराम जैन के अलावा कांग्रेस जिलाध्यक्ष, वरिष्ठ नेता भी चुनाव प्रचार में पूरी ताकत झोंक रहे हैं। इस सीट के लिए 5 फरवरी को मतदान होगा।

भाजपा-कांग्रेस के यह चुनाव सेमीफाइनल

दिसंबर में विधानसभा चुनाव है। शिव विधानसभा क्षेत्र की 18 पंचायतें इसी वार्ड क्षेत्र में आती है। करीब 43 हजार वोटर्स इसी क्षेत्र के है। जिला परिषद सदस्य चुनाव में मतदाताओं का जिस तरफ रुझान रहेगा उससे विधानसभा चुनाव के संकेत साफ हो जाएंगे। इस लिहाज से दोनों पार्टियां ने इस सीट को प्रतिष्ठा का सवाल बना रखा है। धरातल पर प्रचार-प्रसार से लेकर राजनीति जोड़-तोड़ को लेकर दांव पेच लगाए जा रहे हैं। उप चुनाव को भाजपा-कांग्रेस सेमीफाइनल मान रही है।

मतदान कल

47 बूथों पर 43 हजार वोटर्स कल डालेंगे वोट : जिला परिषद वार्ड 37 के उप चुनाव को लेकर सोमवार को मतदान होगा। 18 पंचायतों में 47 पोलिंग बूथ बनाए गए है। इस क्षेत्र में करीब 43300 वोटर्स है। एसडीएम चंद्रभानसिंह भाटी ने बताया कि मतगणना को लेकर तैयारियां पूरी कर ली है।

सियासी मायने क्या

फ्लैश बैक

जिला प्रमुख पद की दावेदार को हराया था : जिला परिषद वार्ड 37 से भाजपा प्रत्याशी निर्मला मेघवाल ने कांग्रेस प्रत्याशी व जिला प्रमुख की प्रबल दावेदार गोपीदेवी को हराया था। हालांकि मतगणना के दिन यह वार्ड विवादों की वजह से सुर्खियां में रहा। तीन बार मतगणना के बाद निर्मला को विजयी घोषित किया गया। कांग्रेस ने भाजपा पर मतगणना को लेकर गंभीर आरोप भी लगाए।

X
भाजपा-कांग्रेस ने झोंकी ताकत, पूर्व मंत्री और शिव विधायक की प्रतिष्ठा दांव पर
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..