• Home
  • Rajasthan News
  • Barmer News
  • विद्यार्थियों ने एक दूसरे को गुलाल लगाकर खेली होली
--Advertisement--

विद्यार्थियों ने एक दूसरे को गुलाल लगाकर खेली होली

बाड़मेर | महावीर विद्या मंदिर माध्यमिक विद्यालय में विद्यार्थियों द्वारा रंगोली बनाकर होली की शुभकामनाएं दी गई...

Danik Bhaskar | Mar 01, 2018, 03:20 AM IST
बाड़मेर | महावीर विद्या मंदिर माध्यमिक विद्यालय में विद्यार्थियों द्वारा रंगोली बनाकर होली की शुभकामनाएं दी गई इसके अलावा बच्चों ने एक दूसरे को गुलाल लगाकर सूखी होली खेली और होली पर पक्के रंगों का इस्तेमाल न करने व दूसरों को भी इसके लिए प्रेरित करने का संकल्प लिया।

आदर्श विद्या मंदिर उच्च प्राथमिक गागरिया स्टेशन में होली से एक दिन पूर्व होली का त्यौहार धूमधाम से मनाया गया। इस अवसर पर प्रधानाचार्य मोहब्बतसिंह सोढा ने होली का महत्व बताते हुए कहा कि होली रंगों का त्योहार है। इस त्यौहार में हम सब कुछ भूलकर रंग में रंग जाते हैं । इसी प्रकार हमारे जीवन में प्रेम रंग में रंगना चाहिए जो कभी ना उतरने वाला हो।

बाड़मेर महाराजा पब्लिक स्कूल में बुधवार को बच्चों ने गुलाल से होली खेली। प्रधानाचार्य खेमीचंद सोलंकी ने बताया कि कार्यक्रम में बच्चों ने होली के गीत और फाग गाए। वहीं स्कूल के प्रबंध निदेशक भागीरथ चौधरी ने बच्चों को परम्परागत रूप से मनाई जाने वाली होली के बारे में जानकारी दी। इस दौरान ओमप्रकाश जांगिड़, सायरी चौधरी, पंकज व्यास, नेमीचंद, देवी चौधरी सहित विद्यालय स्टाफ के सदस्य मौजूद रहे।

ग्लोब एकेडमी माध्यमिक विद्यालय इंद्रा काॅलोनी में बुधवार को विद्यार्थियों द्वारा अपने सहपाठियों को तिलक लगाकर होली के पर्व की बधाइयां दी। सर्व प्रथम विद्यार्थीं प्रार्थना स्थल पर एकत्रित होकर विज्ञान दिवस पर संकल्प लिया कि होली पर पानी व्यर्थ नहीं बहाएंगे। विद्यालय के बालक बालिकाओं द्वारा होली पर कविताएं सुनाई व होली के गीत गाए। संस्थान अध्यक्ष मेवाराम सुथार ने कहा कि तन पर लगा रंग उतर जाएगा परन्तु मन में मेल न रखें। होली को रंगों का त्योहार कहा जाता है क्योंकि हस में हर व्यक्ति रंगों में रंग जाता है। प्रबंधक गणपत सोढ़ा ने जल की महत्ता को ध्यान में रखते हुए अबीर-गुलाल के साथ तिलक होली खेलने का आह्वान किया।

भियाड़ | करणी विद्या मंदिर उच्च प्राथमिक विद्यालय में होली के अवसर पर कार्यक्रम आयोजित किया गया। इस दौरान सभी छात्र-छात्राओं ने एक-दूसरे को रंग, गुलाल लगाया। विद्यालय के प्रधानाध्यापक मूलचंद जांगिड़ ने बच्चों को केमिकल युक्त रंगो से होली न खेलने को प्रेरित किया और कहा कि केमिकल युक्त रंगो से होली खेलने से त्वचा रोग हो सकते है, तथा बच्चों को होली के महत्व के बारे में विस्तार से बताया। कहा कि होली प्रेम व सौहार्द का त्यौहार है। इस दौरान सभी से स्वच्छता बनाए रखने पर भी जोर दिया गया।

बाड़मेर. विद्यालय में एक दूसरे को गुलाल लगाकर विद्यार्थियों ने खेली होली।