Hindi News »Rajasthan »Barmer» ब्रह्यसर दादावाड़ी में किया पार्श्वनाथ का पूजन

ब्रह्यसर दादावाड़ी में किया पार्श्वनाथ का पूजन

कुशल दर्शन मित्र मण्डल बाड़मेर के तत्वावधान में पूर्णिमा के उपलक्ष्य में लौद्रवापुर ब्रह्मसर तीर्थ की यात्रा...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 02, 2018, 05:00 AM IST

ब्रह्यसर दादावाड़ी में किया पार्श्वनाथ का पूजन
कुशल दर्शन मित्र मण्डल बाड़मेर के तत्वावधान में पूर्णिमा के उपलक्ष्य में लौद्रवापुर ब्रह्मसर तीर्थ की यात्रा करवाई गई। मण्डल के राजू वडेरा व कपिल मालू ने बताया कि यात्रा संघ में 2 बसों के साथ सैकड़ों यात्री आराधना भवन बाड़मेर से रवाना होकर लौद्रवापुर तीर्थ पहुंचा। जहां पाश्र्वनाथ दादा के दर्शन कर पूजा अर्चना की गई और मनोकामना पूर्ण करने वाला कल्पवृक्ष, नागदेवता, प्राचीन रथ सहित अधिष्ठायक घंटा कर्ण महावीर देव व दादा गुरूदेव के दर्शन वंदन का लाभ लिया। इस अवसर पर शां‍ति स्नात्र महापूजन का आयोजन किया गया जिसमें स्थानीय कलाकारों ने पूजन में पाश्र्वनाथ दादा के भजनों की प्रस्तुतियां दी। पूजन के पश्चात संघ लौद्रवापुर से ब्रह्मसर की ओर प्रस्थान कर गया। कुशल दर्शन मित्र मण्डल के भूरचंद सियाणी व रमेश कानासर ने बताया कि ब्रह्मसर दादावाड़ी प्रांगण में गुरुदेव के चरण पादुकाओं के आगे पूर्णिमा को गुरु के नव अंगों की केशर से पूजा की गई व दोपहर में मनोज्ञसागर एवं मुनि नयज्ञ सागर व साध्वी तीर्थगुणा की निश्रा में गुरु के चरणों मे अष्ट प्रकारी महापूजन का आयोजन किया गया। दोपहर में बड़ी पूजा के दौरान उपाध्याय प्रवर मनोज्ञसागर ने प्रवचन दिए। कुशल युवा मण्डल जैसलमेर के सरूपचन्द रणधा नेे बताया कि प्रकाश पारख एण्ड पार्टी द्वारा भजनों की शानदार प्रस्तुतियां दी गई। महापूजन के बाद महाआरती का आयोजन किया गया। विमलनाथ भगवान की आरती बाबूलाल वगतारमल धारीवाल व मंगल दीपक का लाभ आसुलाल लक्ष्मणदास लूणिया व दादा गुरूदेव की आरती का लाभ मांगीलाल राणामल मालू अगडावा वाले, मंगल दीपक का लाभ आदमल भगवानदास छाजेड़ व भेरूजी की आरती का लाभ आसुलाल लक्ष्मणदास लूणिया ने लिया।

बाड़मेर. जैन दादावाड़ी में पूजन करते जैन समाज के लोग।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Barmer

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×