• Home
  • Rajasthan News
  • Barmer News
  • Barmer - पेट्रोल-डीजल व गैस की बढ़ती कीमतों के विरोध में बाड़मेर बंद सफल, व्यापारियों ने प्रतिष्ठान बंद रखे
--Advertisement--

पेट्रोल-डीजल व गैस की बढ़ती कीमतों के विरोध में बाड़मेर बंद सफल, व्यापारियों ने प्रतिष्ठान बंद रखे

देश में बढ़ रही पेट्रोल-डीजल व गैस की कीमतें और महंगाई को रोकने के लिए कांग्रेस ने देशव्यापी भारत बंद का आह्वान किया...

Danik Bhaskar | Sep 11, 2018, 03:41 AM IST
देश में बढ़ रही पेट्रोल-डीजल व गैस की कीमतें और महंगाई को रोकने के लिए कांग्रेस ने देशव्यापी भारत बंद का आह्वान किया था। इसके बाद सोमवार को बाड़मेर शहर सहित जिले के तहसील मुख्यालय भी बंद सफल रहे। व्यापारियों ने स्वेच्छा से प्रतिष्ठान बंद रखे। इससे सोमवार को दोपहर 1 बजे तक शहर में आमजन को खरीदारी के लिए भारी परेशानी झेलनी पड़ी। पुलिस के लिए सोमवार का दिन काफी परेशानी भरा रहा। रामदेवरा मेला, भारत बंद और छात्रसंघ चुनावों के कारण पर्याप्त पुलिस जाब्ता नहीं होने से पुलिस के लिए काफी परेशानी रही। हालांकि जिले में शांतिपूर्ण बंद रहने से पुलिस को ज्यादा मशक्कत नहीं करनी पड़ी।

जिला कांग्रेस कमेटी ने सुबह 11 बजे सुभाष चौक में धरना दिया, जहां बाड़मेर विधायक मेवाराम जैन व कांग्रेस जिलाध्यक्ष फतेह खां के नेतृत्व में कांग्रेसियों ने केंद्र की मोदी व राज्य सरकार पर वादा खिलाफ व झूठ बोलने का आरोप लगाया। विधायक जैन ने कहा कि मोदी सरकार ने चार सालों में महंगाई इतनी बढ़ा दी है कि आमजन का जीना मुश्किल हो चुका है। क्रूड की कीमतें 50 प्रतिशत तक गिर जाने के बावजूद भी पेट्रोल-डीजल के भाव लगातार बढ़ते रहे। जनता के साथ लूट मचाई हुई है। रसोई गैस के दाम भी लगातार बढ़ रहे है। इससे देश में महंगाई 7वें आसमान पर है। गरीब के लिए दो व्यक्त की रोजी-रोटी का जुगाड़ करना भी मुश्किल हो गया है। धरने को कई कांग्रेसी नेताओं ने संबोधित करते हुए केंद्र व राज्य सरकार को घेरा।

बाड़मेर . कांग्रेस के आह्वान पर सोमवार को बंद के दौरान सूनी पड़ी स्टेशन रोड और बंद दुकानें।

व्यापारियों ने दिया सहयोगा, चार दिनों में दूसरी बार बाड़मेर बंद सफल,

गत 6 सितंबर को एसी-एसटी एक्ट के विधेयक के खिलाफ सर्व समाज की ओर से बाड़मेर बंद किया गया। इस दौरान भी व्यापारियों ने सहयोग किया और प्रतिष्ठान बंद रखे। इसके बाद सोमवार को कांग्रेस के आह्वान पर देशव्यापी बंद के तहत व्यापारियों ने फिर अपने प्रतिष्ठान बंद रखे। आमजन को बंद के दौरान भारी परेशानियों का सामना करना। जरूरत की खरीदारी के लिए बाजार आए लोग दुकानें बंद देख बैरंग लौटे। पहली बार बंद करवाने के लिए न तो रैली निकाली गई और न ही जुलूस। व्यापारियों के सहयोग से बाड़मेर पूर्णतया बंद सफल रहा। धरने पर जिला प्रमुख प्रियंका मेघवाल, उप प्रमुख सोहनलाल चौधरी, नगरपरिषद सभापति लूणकरण बोथरा, उपसभापति प्रीतमदास जीनगर, प्रधान पुष्पा चौधरी, महिला कांग्रेस पूर्व जिलाध्यक्ष मृदुरेखा चौधरी, एडवोकेट सुनीता चौधरी, प्रदेश युवा कांग्रेस महासचिव भानू प्रतापसिंह, युवा कांग्रेस जिलाध्यक्ष ठाकराराम माली, लक्ष्मणसिंह गोदारा, ब्लाक अध्यक्ष तनसिंह महाबार, मूलाराम मेघवाल, जिला उपाध्यक्ष यज्ञदत्त जोशी, जिला प्रवक्ता मुकेश जैन, मेवाराम सोनी, महामंत्री जगजीवनराम सिंधी, चैनसिंह भाटी, नगर अध्यक्ष दमाराम माली सहित कई कांग्रेसी मौजूद रहे।

भास्कर संवाददाता | बाड़मेर

देश में बढ़ रही पेट्रोल-डीजल व गैस की कीमतें और महंगाई को रोकने के लिए कांग्रेस ने देशव्यापी भारत बंद का आह्वान किया था। इसके बाद सोमवार को बाड़मेर शहर सहित जिले के तहसील मुख्यालय भी बंद सफल रहे। व्यापारियों ने स्वेच्छा से प्रतिष्ठान बंद रखे। इससे सोमवार को दोपहर 1 बजे तक शहर में आमजन को खरीदारी के लिए भारी परेशानी झेलनी पड़ी। पुलिस के लिए सोमवार का दिन काफी परेशानी भरा रहा। रामदेवरा मेला, भारत बंद और छात्रसंघ चुनावों के कारण पर्याप्त पुलिस जाब्ता नहीं होने से पुलिस के लिए काफी परेशानी रही। हालांकि जिले में शांतिपूर्ण बंद रहने से पुलिस को ज्यादा मशक्कत नहीं करनी पड़ी।

जिला कांग्रेस कमेटी ने सुबह 11 बजे सुभाष चौक में धरना दिया, जहां बाड़मेर विधायक मेवाराम जैन व कांग्रेस जिलाध्यक्ष फतेह खां के नेतृत्व में कांग्रेसियों ने केंद्र की मोदी व राज्य सरकार पर वादा खिलाफ व झूठ बोलने का आरोप लगाया। विधायक जैन ने कहा कि मोदी सरकार ने चार सालों में महंगाई इतनी बढ़ा दी है कि आमजन का जीना मुश्किल हो चुका है। क्रूड की कीमतें 50 प्रतिशत तक गिर जाने के बावजूद भी पेट्रोल-डीजल के भाव लगातार बढ़ते रहे। जनता के साथ लूट मचाई हुई है। रसोई गैस के दाम भी लगातार बढ़ रहे है। इससे देश में महंगाई 7वें आसमान पर है। गरीब के लिए दो व्यक्त की रोजी-रोटी का जुगाड़ करना भी मुश्किल हो गया है। धरने को कई कांग्रेसी नेताओं ने संबोधित करते हुए केंद्र व राज्य सरकार को घेरा।