उमर नजरबंदी से रिहा, महबूबा के भी जल्द छूटने के आसार

Barmer News - श्रीनगर: कैंप में जवानों के बीच झड़प के बाद गोलीबारी, दो की मौत श्रीनगर|जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर में डल झील के...

Mar 25, 2020, 08:41 AM IST

श्रीनगर: कैंप में जवानों के बीच झड़प के बाद गोलीबारी, दो की मौत

श्रीनगर|जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर में डल झील के पास स्थित सीआरपीएफ के कैम्प में मंगलवार काे दाे जवानाें में झड़प हाे गई। इसके बाद हुई गोलीबारी में दाेनाें जवानों की मौत हो गई। सीआरपीएफ के प्रवक्ता नीरज राठौर ने कहा कि डलगेट इलाके में तैनात सीअारपीएफ के जल शाखा के जवानाें में किसी बात को लेकर लड़ाई हो गई। इसके बाद उनके बीच गोलीबारी हाे गई। इसमें कांस्टेबल जाला विजय और कांस्टेबल सिजू की माैत हाे गई। दोनों जवान सीआरपीएफ की 114 बटालियन के थे।

अनुच्छेद 370 हटने के बाद 232 दिन से थे नजरबंद

श्रीनगर|जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला मंगलवार को 232 दिन नजरबंद रहने के बाद रिहा हो गए। उमर पर सार्वजनिक सुरक्षा कानून (पीएसए) के तहत लोगों को भड़काने का आरोप लगाया गया था। मंगलवार को पीएसए हटा लिया गया। जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा प्रदान करने संबंधी अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद 5 अगस्त को उमर को हिरासत में ले लिया गया था। उमर ने कहा कि सरकार को हिरासत में लिए अन्य नेताओं को भी रिहा करना चाहिए। फारूक अब्दुल्ला 13 मार्च को रिहा किए गए थे। महबूबा मुफ्ती अब भी नजरबंद हैं। इस सप्ताह के अंत तक उनकी भी रिहाई हो सकती है। उमर की बहन सारा पायलट ने पीएसए 1978 के तहत भाई की हिरासत को चुनौती दी थी। सुप्रीम कोर्ट ने जम्मू-कश्मीर प्रशासन से कहा था कि अगर उमर को रिहा करने की योजना है, तो जल्द करें। अगर आप उन्हें अगले हफ्ते तक रिहा नहीं करेंगे, तो हम उनकी बहन सारा पायलट की याचिका पर सुनवाई करेंगे।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना