--Advertisement--

‘ट्रांसफॉर्मेशन इन ए लाइफ स्टाइल’ परोपकार का महत्व बताता है

भीलवाड़ा। सेवा हमेशा प्रार्थना से ऊंची होती है। सेवा में बहुत शक्ति है। अंधेरे में उजाले का प्रवेशद्वार दान है।...

Dainik Bhaskar

Apr 21, 2018, 03:25 AM IST
‘ट्रांसफॉर्मेशन इन ए लाइफ स्टाइल’ परोपकार का महत्व बताता है
भीलवाड़ा। सेवा हमेशा प्रार्थना से ऊंची होती है। सेवा में बहुत शक्ति है। अंधेरे में उजाले का प्रवेशद्वार दान है। शरीर में सेवा कार्य से आक्सीटोसिन हार्मोन रिलीज होता है, जो आत्मसंतुष्टि का स्तर बढ़ाता है। यह आपसी संबंधों में विश्वास एवं प्रेम में वृद्धि का द्योतक है। यह विचार डॉ. विजयकुमार वैद्य ने अपनी नई पुस्तक ‘ट्रांसफॉर्मेशन इन लाइफ स्टाइल’ में व्यक्त किए हैं। डॉ. वैद्य की किताब लैम्बर्ट पब्लिकेशन प्रकाशित कर रहा है। यह ऑनलाइन उपलब्ध है और ऑफलाइन जल्द ही जारी होगी। एमएलवी कॉलेज के पूर्व प्राचार्य डॉ. वैद्य ने श्री गोविंदम चैरिटेबल ट्रस्ट की स्थापना जाॅय आॅफ गिविंग के उद्देश्य से 2010 में की थी। अभी तक विभिन्न सरकारी स्कूलों में 2500 से ज्यादा छात्रों को यूनिफॉर्म, ग्रामीणों को कंबलें, शाॅल, विकलांगों को भोजन, नेत्र परीक्षण, दवाइयां आदि उपलब्ध करा चुके हैं। रसायन शास्त्र के व्याख्याता डॉ. वैद्य की सहायता से सरन (बेगूं) के ओंकारलाल गुर्जर सीए एवं बरुंदनी (भीलवाड़ा) के शिवप्रकाश प्रजापत एमबीबीएस की पढ़ाई कर रहे हैं।

एमएलवी के पूर्व प्राचार्य डॉ. वीके वैद्य की लिखी पुस्तक का विमोचन

X
‘ट्रांसफॉर्मेशन इन ए लाइफ स्टाइल’ परोपकार का महत्व बताता है
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..