• Hindi News
  • Rajasthan News
  • Baseri News
  • पोषाहार खाने विद्यालय आते हैं बच्चे और फिर लौट जाते हैं घर
--Advertisement--

पोषाहार खाने विद्यालय आते हैं बच्चे और फिर लौट जाते हैं घर

जैसे जैसे गर्मी दस्तक दे रही है वैसे वैसे इलाके में पेयजल की समस्या गहराती जा रही है। बसेड़ी इलाके के गांव जागीर...

Dainik Bhaskar

Mar 11, 2018, 03:30 AM IST
जैसे जैसे गर्मी दस्तक दे रही है वैसे वैसे इलाके में पेयजल की समस्या गहराती जा रही है। बसेड़ी इलाके के गांव जागीर बौरेली के प्राथमिक स्कूल में पेयजल के एकमात्र साधन सरकारी हैंडपंप के खराब हो जाने से नौनिहालों को पानी के लिए भारी परेशान होना पड़ रहा है।

वहीं स्कूल में पानी की कमी के कारण मिड-डे मील बनाने का कार्य भी प्रभावित हो रहा है। स्कूल के शिक्षक माखन सिंह परमार ने बताया कि दो माह से हैंडपंप खराब पड़ा हुआ है। जिसके खराब होने की सूचना देने के बाद भी अभी तक समस्या का निस्तारण नहीं किया गया है। स्कूल प्रशासन के द्वारा बसेड़ी ब्लॉक प्रारंभिक शिक्षाधिकारी और पीएचईडी के सहायक अभियंता कार्यालय में शिकायत करने के बाद भी समस्या का समाधान नहीं हो सका है। जिसके चलते बच्चों को मिड-डे मील खाने के बाद पानी पीने के लिए कक्षा छोड़कर घरों को जाना पड़ता है। जिसके चलते बच्चों की पढाई प्रभावित होने के साथ अनेक बच्चे वापस स्कूल नहीं पहुंच रहे है।

डेढ दर्जन अवैध कनेक्शन कराए बंद

सरमथुरा | शनिवार को जलदाय विभाग ने उपखंड के पांच गांवों में अवैध कनेक्शनधारियों के खिलाफ कार्यवाही करते हुए डेढ दर्जन पेयजल कनेक्शनों को बंद किया है। इस दौरान जलदाय विभाग ने आठ लोगों के खिलाफ पुलिस में रिपोर्ट दर्ज कराई है। जेईएन राधेश्याम मीणा ने बताया कि शनिवार को उपखंण्ड के खिदरपुर, विदरपुर, विरजा, कछपुरा व रामबक्सपुुुरा मे अवैध पेयजल कनेक्शनों के खिलाफ कार्यवाही करते हुए डेढ़ दर्जन अवैध कनेक्शनों को बंद कराया है। वहीं सुरेश गुर्जर, रामहेत जाटव, राजेश जाटव निवासी रामबक्सपुरा, नीरज शर्मा, तारा शर्मा, पप्पू शर्मा, महेश सैन, वकील सैन निवासी खिदरपुर के खिलाफ पुलिस में रिपोर्ट दर्ज कराई है। जेईएन ने बताया कि उक्त लोगों द्वारा कई वर्षों से पेयजल लाइन को प्रभावित कर अवैध कनेक्शन किए हुए थे जिन्हे पूर्व में कई बार हिदायत तक दी गई लेकिन उक्त लोगों ने अवैध कनेक्शनों को बंद नहीं किया। इसमौके पर एएसआई राजेश सिंह, जेईएन राधेश्याम मीणा सहित विभाग के कर्मचारी मौजूद थे।

X

Recommended

Click to listen..