Hindi News »Rajasthan »Bassi» करनानी फैक्ट्री का गंदा पानी घरों में घुसा, ग्रामीणों ने किया प्रदर्शन

करनानी फैक्ट्री का गंदा पानी घरों में घुसा, ग्रामीणों ने किया प्रदर्शन

जटवाड़ा। गोठड़ा स्थित करनानी फैक्ट्री से निकल रहे दूषित पानी के कॉलोनियों में जमा होने से गुस्साए ग्रामीणों ने...

Bhaskar News Network | Last Modified - Mar 04, 2018, 02:25 AM IST

करनानी फैक्ट्री का गंदा पानी घरों में घुसा, ग्रामीणों ने किया प्रदर्शन
जटवाड़ा। गोठड़ा स्थित करनानी फैक्ट्री से निकल रहे दूषित पानी के कॉलोनियों में जमा होने से गुस्साए ग्रामीणों ने गुरुवार को फैक्ट्री पर जमकर प्रदर्शन किया। बताया जा रहा है कि दूषित पानी की वजह से कुछ मवेशियों की मौत भी हो गई। ग्रामीणों की प्रदर्शन की सूचना मिलने पर पुलिस एवं स्थानीय सरपंच ने मौके पर पहुंच कर मामला सुलझाया।

स्थानीय निवासी देवकीनंदन सोनी ने बताया कि करनानी फैक्ट्री का केमिकल युक्त गंदा पानी लम्बे समय से फिल्म नगर कॉलोनी में गिर रहा है। जिसके कारण ग्रामीणों का जीना दुश्वार हो गया है। इसी के चलते ग्रामीणों ने गुरुवार को प्रदर्शन किया। प्रदर्शन की सूचना पाकर मौके पर पहुंचे जटवाड़ा चौकी प्रभारी किशोर कुमार और हंसमहल सरपंच रामकरण मीणा ने फैक्ट्री की शिकायत उच्चाधिकारियों को करने वह जल्द ही कार्रवाई करवाने का आश्वासन दिया बाद में ग्रामीणों की समझा इसके बाद प्रदर्शन को समाप्त किया।

साक्ष्य छुपाकर ली एनओसी

ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि फैक्ट्री मालिक ने एनओसी लेते समय फैक्टªी को नेशनल हाइवे से 3 किलोमीटर दूर बताया जबकि वास्तविकता में ये हाइवे से महज 50 मीटर दूरी पर ही है। इस बारे में कई बार उच्च अधिकारियों को अवगत करवाया लेकिन आज तक फैक्ट्री पर कोई भी कार्यवाही नहीं हुई।

फैक्ट्री के कारण बढ़ रहे हैं मरीज

ग्रामीणों ने बताया कि इस फैक्टरी के कारण 1 किलोमीटर के आसपास क्षेत्र दूषित हो गया है जिसके कारण श्वास लेने में भी परेशानी हो रही है जिसके कारण आए दिन लोग बुखार, दमा, पीलिया, खांसी जैसी बीमारी से पीड़ित हो रहे हैं दूषित पानी पीने से मर चुके हैं कई जानवर करनाली फैक्ट्री से निकलने वाले दोषी एवं गंदे पानी को पीने से कई जानवरों की मौत हो चुकी है लेकिन इसके बावजूद प्रशासन के कान पर जूं तक नहीं रेंगी।

दो बार हो चुकी पहले भी फैक्ट्री की तालाबंदी

ग्रामीणों ने बताया कि इस फैक्ट्री की पहले भी दो बार तालाबंदी हो चुकी लेकिन फैक्ट्री मालिक की ऊंचे पदों तक पहुंच होने के कारण आज तक फैक्ट्री पर कोई भी कार्यवाही नहीं हुई ।

फैक्ट्री के मालिक ने हाइवे से 3 किमी दूर बता कर ली थी फैक्ट्री का गंदा पानी घरों में घुस गया जिसके कारण बीमारियां बढ़ रही है जल्दी ही उच्च अधिकारियों को शिकायत दी जाएगी। - रामकरण मीणा, सरपंच, हंसमहल

फैक्टरी के पहले भी शिकायत आई है सोमवार को विधानसभा में मुद्दा उठाऊंगी - अंजू धानका, विधायक, बस्सी

जटवाडा. खेतों में भरा फैक्ट्री का दूषित पानी।

जटवाड़ा। गोठड़ा स्थित करनानी फैक्ट्री से निकल रहे दूषित पानी के कॉलोनियों में जमा होने से गुस्साए ग्रामीणों ने गुरुवार को फैक्ट्री पर जमकर प्रदर्शन किया। बताया जा रहा है कि दूषित पानी की वजह से कुछ मवेशियों की मौत भी हो गई। ग्रामीणों की प्रदर्शन की सूचना मिलने पर पुलिस एवं स्थानीय सरपंच ने मौके पर पहुंच कर मामला सुलझाया।

स्थानीय निवासी देवकीनंदन सोनी ने बताया कि करनानी फैक्ट्री का केमिकल युक्त गंदा पानी लम्बे समय से फिल्म नगर कॉलोनी में गिर रहा है। जिसके कारण ग्रामीणों का जीना दुश्वार हो गया है। इसी के चलते ग्रामीणों ने गुरुवार को प्रदर्शन किया। प्रदर्शन की सूचना पाकर मौके पर पहुंचे जटवाड़ा चौकी प्रभारी किशोर कुमार और हंसमहल सरपंच रामकरण मीणा ने फैक्ट्री की शिकायत उच्चाधिकारियों को करने वह जल्द ही कार्रवाई करवाने का आश्वासन दिया बाद में ग्रामीणों की समझा इसके बाद प्रदर्शन को समाप्त किया।

साक्ष्य छुपाकर ली एनओसी

ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि फैक्ट्री मालिक ने एनओसी लेते समय फैक्टªी को नेशनल हाइवे से 3 किलोमीटर दूर बताया जबकि वास्तविकता में ये हाइवे से महज 50 मीटर दूरी पर ही है। इस बारे में कई बार उच्च अधिकारियों को अवगत करवाया लेकिन आज तक फैक्ट्री पर कोई भी कार्यवाही नहीं हुई।

फैक्ट्री के कारण बढ़ रहे हैं मरीज

ग्रामीणों ने बताया कि इस फैक्टरी के कारण 1 किलोमीटर के आसपास क्षेत्र दूषित हो गया है जिसके कारण श्वास लेने में भी परेशानी हो रही है जिसके कारण आए दिन लोग बुखार, दमा, पीलिया, खांसी जैसी बीमारी से पीड़ित हो रहे हैं दूषित पानी पीने से मर चुके हैं कई जानवर करनाली फैक्ट्री से निकलने वाले दोषी एवं गंदे पानी को पीने से कई जानवरों की मौत हो चुकी है लेकिन इसके बावजूद प्रशासन के कान पर जूं तक नहीं रेंगी।

दो बार हो चुकी पहले भी फैक्ट्री की तालाबंदी

ग्रामीणों ने बताया कि इस फैक्ट्री की पहले भी दो बार तालाबंदी हो चुकी लेकिन फैक्ट्री मालिक की ऊंचे पदों तक पहुंच होने के कारण आज तक फैक्ट्री पर कोई भी कार्यवाही नहीं हुई ।

फैक्ट्री के मालिक ने हाइवे से 3 किमी दूर बता कर ली थी फैक्ट्री का गंदा पानी घरों में घुस गया जिसके कारण बीमारियां बढ़ रही है जल्दी ही उच्च अधिकारियों को शिकायत दी जाएगी। - रामकरण मीणा, सरपंच, हंसमहल

फैक्टरी के पहले भी शिकायत आई है सोमवार को विधानसभा में मुद्दा उठाऊंगी - अंजू धानका, विधायक, बस्सी

पावटा.राशन की दुकान के ताला जड़कर विरोध करते ग्रामीण।

गेहूं का मूल्य से अधिक दाम वसूलने से आक्रोश, ग्रामीणों का प्रदर्शन

भाबरु|बागावास अहिरान में डीलर द्वारा गेहूं के उचित मूल्य से अधिक रुपए वसूलने का आरोप लगाते हुए शनिवार को ग्रामीणों का गुस्सा फूट पड़ा। गुस्साए ग्रामीणों ने राशन की दुकान पर ताला जड़ते हुए विरोध प्रदर्शन किया। मामले की सूचना पर सरपंच महेन्द्र यादव मौके पर पहुंचे। उन्होंने मामले के बारे में रसद विभाग के निरीक्षक को अवगत करवाया, जिस पर उन्होंने मामले की जांच करवाने का आश्वासन दिया। विक्रम, राकेश, जयराम, दिनेश सहित अनेक ग्रामीणों ने बताया कि शनिवार को राशन डीलर मानसिंह शेखावत ने राशन वितरण के लिए अन्य व्यक्ति को दुकान पर भेजा था। ग्रामीणों ने बताया कि वितरक 50 किलों के कट्टे के 115 रुपए वसूल रहा था, जबकि उचित मूल्य 100 रुपए है। ग्रामीणों ने बताया कि जब मामले के बारे में डीलर को शिकायत की तो उन्होंने अभ्रद्र भाषा का प्रयोग किया। पीड़ितों ने समस्या के बारे में अन्य ग्रामीणों को अवगत करवाया, जिस पर मौके पर बड़ी संख्या में ग्रामीणों ने एकत्रित होकर विरोध प्रदर्शन करते हुए राशन वितरण बंद करवाकर दुकान के ताला जड़ दिया। सूचना पर सरपंच महेन्द्र यादव, पूर्व सरपंच रमेश यादव मौके पर पहुंचे और समस्या के बारे में रसद विभाग के निरीक्षक राजेश टांक को मामले से अवगत करवाया, जिस पर उन्होंने मामले की जांच करवाकर डीलर के खिलाफ उचित कार्रवाई करने की बात कही।

राशन डीलर मानसिंह का कहना है कि बागावास अहिरान का ही व्यक्ति राशन वितरण कर रहा था। दो माह के राशन का एक साथ वितरण किया जा रहा है। दो-तीन लोग अपने साथ गेहूं ले जाने के लिए थैला लेकर नहीं अाए थे, जिनसे व्यक्ति ने थैले के पैसे लिए है। राजनीतिक षड्यंत्र के चलते कुछ लोग अवैध वसूली का गलत आरोप लगा रहे है।

रसद विभाग के प्रवर्तन निरीक्षक राजेश टांक का कहना है कि मामले की जानकारी ली है। कुछ लोग अपने साथ गेहूं ले जाने के लिए थैला लेकर नहीं आए थे। वितरक ने खाली थैले के अतिरिक्त पैसे लिए है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Bassi News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: करनानी फैक्ट्री का गंदा पानी घरों में घुसा, ग्रामीणों ने किया प्रदर्शन
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Bassi

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×