• Hindi News
  • Rajasthan
  • Bassi
  • सावन में सजा भोले का दरबार, श्रद्धालुओं ने बाबा के दरबार में शीश झुकाकर मांगी मनौती
--Advertisement--

सावन में सजा भोले का दरबार, श्रद्धालुओं ने बाबा के दरबार में शीश झुकाकर मांगी मनौती

जयकारों से गूंज रहे शिव मंदिर, माहौल धार्मिक बांसखो/जटवाड़ा | अरावली पर्वत श्रृंखलाओं की तलहटी की गोद में बसे...

Dainik Bhaskar

Aug 11, 2018, 03:40 AM IST
सावन में सजा भोले का दरबार, श्रद्धालुओं ने बाबा के दरबार में शीश झुकाकर मांगी मनौती
जयकारों से गूंज रहे शिव मंदिर, माहौल धार्मिक

बांसखो/जटवाड़ा | अरावली पर्वत श्रृंखलाओं की तलहटी की गोद में बसे क्षेत्र के प्रसिद्ध धार्मिक स्थल नईनाथ धाम में शुक्रवार को सावन कृष्ण चतुर्दशी पर देवों के देव महादेव की भक्ति व आस्था के रंग में पग- पग पर हर- हर महादेव व बम- बम भोले के उद्घोष से क्षेत्र शिवमय हो गया। नईनाथ धाम शिव भक्ति के माहौल में डूबा नजर आया। मेले में भारी संख्या में श्रद्धालुओं ने शिवलिंग के दर्शन कर मनौतियां मांगी। भोले के दरबार मे सवेरे से ही श्रद्धालुओं के आने का सिलसिला शुरू हुआ जो देर शाम तक जारी रहा। दिनभर मंदिर परिसर ओम नम शिवाय व हर.हर महादेव के जयकारों के जप से गुंजायमान रहा।

सावन कृष्ण चतुर्दशी पर लगने वाले इस लक्खी मेले की शुरुआत गुरुवार को हुई। गुरुवार रात विभिन्न मंडलों के कलाकारों ने रात्रि जागरण किया जिसमें हजारों की संख्या में लोगों ने भाग लिया। सुबह से ही मंदिर में भगवान शिव का जलाभिषेक एवं पूजा अर्चना के लिए भक्त आने लगे। भक्तों ने शिव पर पुष्प, धतूरा, अकंफूल, बेलपत्र आदि अर्पित किया। मंदिर में दूर-दूर से भक्त कनक दण्डौत देते हुए भी मंदिर परिसर पहुंचे। सुबह 9 से अपराह्न 3 बजे तक श्रद्धालुओं ज्यादा पहुंचे। भोले से दर्शन के लिए आधा किलोमीटर लंबी कतारे नजर आई। इस कारण नईनाथ धाम से तीन किलोमीटर पाटन मोड़ व दूसरी तरफ बोड्या पर ही वाहनों को रोका गया। यहां से श्रद्धालु डीजे की धुन में नाचते.गाते पैदल ही भोले बाबा के दरबार में पहुंचे। नईनाथ धाम पर रामनिवास बाग के कर्मचारियों द्वारा शिवलिंग की मनोहारी झांकी सजाई गई जिससे भक्त देखकर भावनाओं मे बह गए। मंदिर परिसर को भी फूलमालाओं से सजाया गया।

नईनाथ सेवा ट्रस्ट व्यवस्थापक हरीनारायण शर्मा ने बताया की मेले में लाखों श्रद्धालुओं ने भोले के दरबार के दर्शन किये। मेले मे बजरंग दल बांसखो के 50 कार्यकर्तायों व स्कूल स्काउट गाइड के छात्रों ने मेले मे मौजूद रहकर सेवा दी। बांसखो बालाजी मित्र मंडल, श्री रामजानकी गोशाला सेवा समिति, श्याम सेवा समिति, नईनाथ नवयुवक मण्डल सेवा समिति के कार्यकर्ताओं ने निशुल्क जल, चाय, भोजन आदि की व्यवस्था की। मेले में लगी प्रसाद, मिठाई, खिलौने सहित अन्य दुकानों पर जमकर खरीदारी हुई। मेले में दौसा, जयपुर, करौली, सवाईमाधोपुर, अलवर, सीकर, टोंक, भरतपुर सहित दिल्ली, यूपी, बिहार व एमपी से भी श्रद्धालुओं ने आकर भोले के दरबार में शीश नवाया। तीन दिवसीय मेले का समापन बांसखो में गुदड़ी का मेले के साथ होगा।

प्रशासन रहा चाक चौबंद

मेले में किसी भी घटना से निपटने के लिए उपखण्ड प्रशासन पूरी तरह चाक चौबंद रहा। क्षेत्र में कानून व्यवस्था के लिए बस्सी, तूंगा व कानोता थाना सहित तीन थानों के जाब्ते के अलावा आरएएसी की एक कम्पनी सहित करीब 100 से अधिक पुलिसकर्मी मौजूद रहे। नईनाथ सेवा ट्रस्ट की और से सीसीटीवी कैमरे भी लगाए गए है। बस्सी एसीपी मनस्वी चौधरी ने मेले की कानून व्यवस्था की निगरानी की। मेले में बिजली, मेडिकल, दमकल, रौशनी, पेयजल, नियंत्रण कक्ष सहित अन्य व्यवस्थाए की गई।

दिनभर जुबान पर रहे ये शब्द

मेले के दौरान दिनभर भक्तों की जबान कुछ विशेष शब्द चढ़े रहे। आने जाने वाने हर श्रद्धालु एक दूसरे को ये कह कर उत्साह बढा रहे थे। मेले के दौरान विशेष रूप से बोल नई का नाथ की जय, बोल बम ताडक बम, हर हर महादेव, बढते रहिए, कनक दण्डौत, कांवडिए जैसे शब्द लोगों की जबान पर चढ़े रहे।

X
सावन में सजा भोले का दरबार, श्रद्धालुओं ने बाबा के दरबार में शीश झुकाकर मांगी मनौती
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..