बयाना

--Advertisement--

जगत में बेटी का क्यूं मान नहीं...

नगर | नगर पालिका की ओर से श्रीराम रथयात्रा एवं मेला समापन पर गत रात मेला मैदान पर कलाकारों द्वारा शंकरगढ़ का...

Dainik Bhaskar

Apr 01, 2018, 02:25 AM IST
जगत में बेटी का क्यूं मान नहीं...
नगर | नगर पालिका की ओर से श्रीराम रथयात्रा एवं मेला समापन पर गत रात मेला मैदान पर कलाकारों द्वारा शंकरगढ़ का संग्राम नौटंकी का जीवंत मंचन किया गया। इस मौके पर श्री बृज लोक कला मंडल मथुरा के कलाकारों द्वारा सामूहिक रूप से हे गिरधारी रख लाज हमारी गिरिधारी कृष्ण मुरारी, हे बनवारी श्याम व गुरू चरणों में शीश नवाउ ईश वंदना की गई। साथ ही चलो सिपाही चलो बढो जवानों बढो अपनी सरहद बुला रही, देशभक्ति गीत प्रस्तुत किया।

जबकि प्रकाश सिसोदिया ने अरी लिवउआ आ गए गौने के व लेखराज बेनीवाल ने बेटों का सम्मान जगत में बेटी का क्यू मान नहीं, दुनिया वालों तुम्ही बताओ बेटी क्या संतान नही गीत प्रस्तुत कर बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान पर प्रकाश डाला। इसमें बेटियों को सम्मान दिलाने का आह्वान किया। इसके अलावा बाल कलाकार कन्हैया लाल ने तू ही राम तू ही श्याम तू ही कुरुम परिवार... व कलाकार रूस्तम ने ओ मेरी मां रो रोकर आंसू ना बहा द्वापर युग में तेरा चक्रधारी बनूंगा, वृंदावन में जा के बांके बिहारी बनूंगा...., बृज भजन पेश किए। जबकि हास्य कलाकार किशन स्वरूप आवारा ने कर बायले रसिया नसबंदी तेराे कुनबा मोपे पारो नही जाए गीत से परिवार नियोजन का संदेश दिया। कार्यक्रम के दौरान महिला कलाकार सपना ने नीली मेरी चोटी चुभे नस नस में..., हेमा ने छज्जे ऊपर पड़े रे बाजरो खिल गयो फूल चमेली को..., व साेनम ने तेरी आखों का ये काजल..., आदि फिल्मी गीतों पर डांस किया। कलाकारों ने शंकरगढ़ का संग्राम नौटंकी का जीवंत मंचन किया। जिसमें शंकर सिंह की भूमिका प्रकाश सिंह, भयंकर सिंह रूस्तम, उदल कन्हैया लाल सिसोदिया, नवले लेखराज बेनीवाल, ताला खां करमपाल, मामा माहिल किशन स्वरूप आवारा, जागन अशोक ठाकुर, जमुना कृष्णा, कमला सोनम व पुष्पावती की भूमिका हेमा द्वारा निभाई गई। हारमोनियम पर हीरालाल, नक्कारा छिददामल राजस्थानी व ढोलक पर बबलू ने संगति दी। संचालन मोहन जोशी ने किया। इस अवसर पर बृजमोहन भारद्वाज, जगदीश पण्डा, बशीर खां, नूर मोहम्मद, ईओ नरसीलाल मीणा, मेला प्रभारी निरंजन प्रधान, आदि मौजूद थे।

नौटंकी का मंचन करते कलाकार

X
जगत में बेटी का क्यूं मान नहीं...
Click to listen..