Hindi News »Rajasthan »Bayana» बमनपुरा के नवनिर्मित मंदिर में वैदिक मंत्रों के साथ हुई मूर्तियों की प्राण प्रतिष्ठा

बमनपुरा के नवनिर्मित मंदिर में वैदिक मंत्रों के साथ हुई मूर्तियों की प्राण प्रतिष्ठा

कस्बे के बमनपुरा में जनसहयोग से नवनिर्मित श्री परशुराम शिव मंदिर में चल रहे तीन दिवसीय मूर्ति प्राण प्रतिष्ठा...

Bhaskar News Network | Last Modified - Mar 04, 2018, 07:35 AM IST

बमनपुरा के नवनिर्मित मंदिर में वैदिक मंत्रों के साथ हुई मूर्तियों की प्राण प्रतिष्ठा
कस्बे के बमनपुरा में जनसहयोग से नवनिर्मित श्री परशुराम शिव मंदिर में चल रहे तीन दिवसीय मूर्ति प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम का शनिवार को हवन व भंडारे के साथ समापन हुआ। आचार्य कुलदीप कृष्ण शास्त्री के सानिध्य में वेदपाठी पंडितों ने वैदिक मंत्रोच्चारों के साथ मंदिर में राम दरबार, शिव परिवार, राधा-कृष्णजी, दुर्गा माता, हनुमानजी सहित विभिन्न देवी-देवताओं की संगमरमर निर्मित मूर्तियों की प्राण प्रतिष्ठा कराई।

इससे पूर्व कस्बे में बैंडबाजों के साथ कलश यात्रा निकालने के साथ ही भगवान को नगर विहार कराया गया। इसके बाद पंचामृत अभिषेक किया गया। शनिवार को सुबह यज्ञ के साथ पूर्णाहुति की गई। सामूहिक महाआरती व पूजा-अर्चना के साथ भोग के बाद शुरू हुए भंडारे में कस्बा सहित आसपास के लोगों ने प्रसादी ग्रहण की। इस मौके पर देवकीनंदन शर्मा, गोपाल पाराशर, ग्यासीराम शर्मा, महेन्द्र सलेमपुरिया, भाजपा जिला महामंत्री भगवानदास शर्मा, ब्राह्मण समाज अध्यक्ष बलदेव तिवारी, भगवान स्वरूप पाराशर, देवेन्द्र शर्मा, पूर्व विधायक ग्यारसाराम कोली, राजेन्द्र शर्मा, चंद्रप्रकाश टीटू, पं. ग्यासीराम शर्मा, मोहनलाल शर्मा, केके शर्मा, भवानीशंकर शर्मा, खेमेश, योगेश, रौनक, संजय, गिरिजेश सहित कई श्रद्धालु मौजूद रहे।

बयाना. कस्बे में मूर्ति प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम के दौरान निकलती कलश यात्रा।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Bayana News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: बमनपुरा के नवनिर्मित मंदिर में वैदिक मंत्रों के साथ हुई मूर्तियों की प्राण प्रतिष्ठा
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Bayana

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×