Hindi News »Rajasthan »Bayana» पैसेंजर ट्रेन में कोच किए कम, यात्रियों को खड़े होकर ही करना पड़ रहा है सफर

पैसेंजर ट्रेन में कोच किए कम, यात्रियों को खड़े होकर ही करना पड़ रहा है सफर

बयाना से जिला मुख्यालय तक के सफर में लाइफ के रुप में वर्षों से चल रही सवाई माधोपुर-मथुरा पैसेंजर ट्रेन में रेल...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 18, 2018, 03:20 AM IST

पैसेंजर ट्रेन में कोच किए कम, यात्रियों 
को खड़े होकर ही करना पड़ रहा है सफर
बयाना से जिला मुख्यालय तक के सफर में लाइफ के रुप में वर्षों से चल रही सवाई माधोपुर-मथुरा पैसेंजर ट्रेन में रेल प्रशासन की ओर से कोचों की संख्या आधी कर दी गई है। पिछले डेढ़ माह से कोचों की संख्या आधी रह जाने से यात्रियों को मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। इससे यात्रियों में रेल प्रशासन के खिलाफ रोष बना हुआ है। कोच कम होने से अधिकतर यात्रियों को भीड़भाड़ के बीच यात्रा करने को मजबूर होना पड़ रहा है। सबसे अधिक परेशानी बुजुर्गों, महिलाओं व बच्चों को उठानी पड़ रही है। समस्या को लेकर यात्रियों ने स्थानीय रेल प्रशासन से लेकर कोटा रेल प्रशासन, क्षेत्रीय सांसद व रेल मंत्री तक को ट्विटर पर सूचना दे दी। लेकिन अब तक कोई समाधान नहीं हो पाया है। जानकारी के अनुसार सवाई माधोपुर से मथुरा के बीच वर्षों से पैसेंजर ट्रेन (कट्टा) चल रही है। जो रोजाना सुबह सवाई माधोपुर से चलकर गंगापुर, महावीरजी, हिण्डौन होती हुई सुबह 8.20 बजे बयाना पहुंचती है। इसके बाद बयाना से भरतपुर व उसके आगे मथुरा तक जाती है। इसके बाद शाम को यही ट्रेन मथुरा से वापस सवाई माधोपुर के लिए आती है। इस ट्रेन में पहले 12 कोच थे लेकिन पिछले करीब डेढ़ माह से रेल प्रशासन ने कोचों की संख्या 6 कर दी। कोचों की संख्या आधी रह जाने से ट्रेन के यात्रियों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। बयाना से जिला मुख्यालय सहित बीच के गांवों मे जाने के लिए यह ट्रेन लोगों के लिए जीवन रेखा की तरह काम कर रही है। अपने कार्य-व्यापार के लिए जिला मुख्यालय तक जाने के लिए यह ट्रेन सबसे अधिक सुविधाजनक रहती है। जिला मुख्यालय जाने के लिए लोग सड़क मार्ग के बजाय इस ट्रेन को अधिक महत्व देते हैं। इसका कारण बस की अपेक्षा ट्रेन का सफर सुविधाजनक माना जाता है। वहीं किराया भी बसों की तुलना में चौथाई होता है। ट्रेन से जाने वाले दैनिक रेलयात्रियों की संख्या भी सौ के आसपास है। कोच घटाने से यात्रियों को हो रही समस्या को देखते हुए गत दिनों दैनिक रेलयात्री संघ के संरक्षक मोहन शर्मा एडवोकेट ने क्षेत्रीय सांसद बहादुर सिंह कोली को भी अवगत कराया है। वहीं दैनिक रेलयात्री केशव शर्मा ने रेलमंत्री के टविटर हैंडल पर समस्या को बताया है। इस बारे में दैनिक रेलयात्री संघ के अध्यक्ष कमल जैन का कहना है कि रेलवे प्रशासन ने डेढ़ माह पूर्व पैसेंजर ट्रेन में कोचों की संख्या घटाकर आधी कर दी है। इससे ट्रेन में सफर करने वाले यात्रियों को मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। हालत ये है कि अधिकतर यात्रियों को ट्रेन में खड़े-खड़े ही भीड़भाड में यात्रा करनी पड़ रही है। दैनिक रेलयात्री संघ की ओर से रेल प्रशासन से अवगत कराया गया है। जल्द कार्रवाई नहीं की गई तो कस्बे की आम जनता का सहयोग लेकर विरोध प्रदर्शन किया जाएगा।

बयाना. स्टेशन पर ट्रेन में चढ़ते यात्री।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Bayana

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×