• Hindi News
  • Rajasthan News
  • Beawar News
  • सिनेमाघरों में साल में कम से कम 56 शो होंगे राजस्थानी फिल्मों के
--Advertisement--

सिनेमाघरों में साल में कम से कम 56 शो होंगे राजस्थानी फिल्मों के

भास्कर न्यूज | ब्यावर राजस्थानीफिल्मों को प्रोत्साहित करने के लिए प्रदेश के हर सिनेमाघर में साल में कम से कम 65 शो...

Dainik Bhaskar

Sep 10, 2016, 02:35 AM IST
सिनेमाघरों में साल में कम से कम 56 शो होंगे राजस्थानी फिल्मों के
भास्कर न्यूज | ब्यावर

राजस्थानीफिल्मों को प्रोत्साहित करने के लिए प्रदेश के हर सिनेमाघर में साल में कम से कम 65 शो राजस्थानी फिल्मों के अनिवार्य रखने के प्रस्ताव पर विचार किया जा रहा है। राजस्थानी फिल्मों को दस लाख की सब्सिडी सरकारी जगहों पर शूटिंग पर मात्र 25 प्रतिशत चार्ज की सुविधा वर्तमान में दी जा रही है। यह जानकारी अगले माह सिनेमाघरों में आने वाली राजस्थानी फिल्म ‘पगड़ी’ के प्रमोशन के लिए मुख्य कलाकारों निर्देशक के साथ शुक्रवार को ब्यावर पहुंचे अभिनेता श्रवण सागर ने दी। मेवाडी गेट बाहर स्थित केडी जैन स्कूल में भारती कला संस्थान की ओर से आयोजित कार्यक्रम में फिल्म के हीरो श्रवण सागर और हीरोइन कीर्ति रैना, क्षितिज कुमार, प्रवीण राजपुरोहित, निदेशक निशांत भारद्धाज का स्वागत किया गया।उन्होंने कहा कि “आज राजस्थानी भाषा को सिनेमा के माध्यम से ही जिंदा रखा जा रहा है, वरना राजस्थानी भाषा को लेकर खुद राजस्थानी ही कुंठित होते हैं।

राजकरेलो राजस्थान : फिल्मके बारे में बताते हुए उन्होंने कहा कि फिल्म पिता और पुत्र के संबंधों पर आधारित है। उन्होंने बताया कि राजस्थानी परंपरा है कि पिता की “पगड़ी” पुत्र के सर बंधती है। इसी थ्योरी पर पूरी फिल्म अाधारित है।

कलाको जीवित रखने का प्रयास

श्रवणसागर ने दर्शकों से अपील की कि कम से कम एक राजस्थानी फिल्म को हिट करवाएं। जिससे सरकार के सामने राजस्थानी कला को जीवित रखा जा सके। उन्होंने बताया कि राजस्थानी फिल्मों को जीवित रखने के मकसद से बनाए गए राजस्थानी फिल्म संघ के प्रयासों से राज्य सरकार ने सब्सिडी को 5 से बढ़ा कर 10 लाख रुपए कर दिया गया। इसके साथ ही फिल्म की शुटिंग के लिए सरकारी स्थान के लिए महज 25 प्रतिशत चार्ज लिया जाता है। इसके साथ ही एक प्रस्ताव पर बात चल रही है जिसके तहत राजस्थान में हर सिनेमाघर में साल में कम से कम 56 शो राजस्थानी फिल्मों के दिखाने अनिवार्य होंगे। जिससे राजस्थानी फिल्मों के दिन फिरेंगे।

X
सिनेमाघरों में साल में कम से कम 56 शो होंगे राजस्थानी फिल्मों के
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..