Hindi News »Rajasthan »Beawar» व्याख्याता की नौकरी छोड़ शुरू किया हाईटेक कृषि का कार्य

व्याख्याता की नौकरी छोड़ शुरू किया हाईटेक कृषि का कार्य

शहर के पास ग्राम दौलतपुरा बलायन में एक युवा ने ग्रीन हाउस/ पॉली हाउस का कार्य शुरु कर नौजवानों के लिए एक मिसाल कायम...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 02, 2018, 03:50 AM IST

व्याख्याता की नौकरी छोड़ शुरू किया हाईटेक कृषि का कार्य
शहर के पास ग्राम दौलतपुरा बलायन में एक युवा ने ग्रीन हाउस/ पॉली हाउस का कार्य शुरु कर नौजवानों के लिए एक मिसाल कायम की है। शहर के सांखला कॉलोनी निवासी महेंद्र सिंह दाहिमा ने साल 2015 में ग्रीन हाउस/ पॉली हाउस का कार्य शुरु किया।

गत तीन सालों से सफलता पूर्वक हाई-टेक कृषि का कार्य कर रहे महेंद्र आज युवाओं के लिए एक प्रेरणा बन चुके हैं। गत तीन सालों से दौलतपुरा बलायन में हाई टेक कृषि कर रहे ब्यावर निवासी महेंद्र सिंह दाहिमा ने बताया कि उन्होंने साल 2015 में एक निजी महाविद्यालय में व्याख्याता की नौकरी छोड़ हाई टेक कृषि का कार्य शुरु किया था। महेंद्र ने शहर के निकट दौलतपुरा बलायन में लगभग 10 बीघा जमीन पर गत तीन साल पूर्व हाई टेक कृषि का कार्य शुरु किया था।

हाई-टेक कृषि का कार्य शुरु करने के बाद आज महेंद्र सालाना से 7 से 8 लाख रुपए मुनाफा कमा लेते हैं। महेंद्र भविष्य में अपने इस कार्य को और आगे बढ़ाने के साथ ही युवाओं को ज्यादा से ज्यादा इस क्षेत्र में आने के लिए प्रेरित करना है। जिससे युवा वर्ग कृषि से जुड़कर अपना भविष्य बना सके।

पिता के सपने को पूरा करने के लिए छोड़ी नौकरी

उन्होंने बताया कि उनके पिता राजस्थान प्रशासनिक सेवा में कार्यरत थे इस दौरान उन्होंने ग्रीन हाउस/ पॉली हाउस का कार्य देखा। तभी से उन्होंने सोच लिया था कि वह सेवानिवृत होने के बाद कृषि क्षेत्र में ही कार्य करेंगे। महेंद्र सिंह दाहिमा ने अपने पिता से प्रेरित होकर ही निजी कॉलेज में व्याख्याता पद से त्यागपत्र देने के बाद साल 2015 में पॉली हाउस का कार्य शुरु किया। जिसे आज वह अपने बलबूते सफलता पूर्वक संचालित कर रहे हैं। इसी के साथ ही साल दर साल वह अपने कार्य को लगातार बढ़ा भी रहे हैं।

2 पॉली हाउस व 1 शेड नेट में उगा रहे सीजनल सब्जी

महेंद्र सिंह दाहिमा 2 पॉली हाउस व 1 शेड नेट में विभिन्न प्रकार की सीजनल सब्जियां उगा रहे हैं। महेंद्र ने बताया कि खीरा, टमाटर व कलर कैप्सीकम सहित अन्य सीजनल सब्जी उगा रहे हैं। इसके साथ ही महेंद्र ने कुछ महीनों पूर्व मशरूम की खेती भी शुरु की है। महेंद्र अपने ग्रीन हाउस/ पॉली हाउस में उगाई गई सब्जियों को शहरे सहित आसपास के इलाके के बाजारों में बेचते हैं। इसी के साथ ही उनके फॉर्म पर उगाई गई मशरूम को जयपुर व जोधपुर की पांच सितारा होटल में बेचते हैं।

कृषि की ओर हो युवाओं को रुझान इसलिए निशुल्क दे रहे प्रशिक्षण : ग्रीन हाउस/ पॉली हाउस के कार्य में दक्षता हासिल करने के बाद अब महेंद्र का लक्ष्य है कि ज्यादाा से ज्याद युवा नौकरी की तलाश में भटकने से बेहतर अपना खुद का व्यवसाय शुरु करें। इसी कारण अब महेंद्र ऐसे युवाओं को निशुल्क अपने ग्रीन हाउस/ पॉली हाउस में हाई-टेक कृषि का प्रशिक्षण दे रहें हैं जो इस क्षेत्र में अपना भविष्य बनाना चाहते हैं।

आसपास के काश्तकार भी लेते हैं प्रशिक्षण : ब्यावर सहित नागौर, मेड़ता, अजमेर सहित अन्य क्षेत्र में खेती का कार्य कर रहे काश्तकार भी महेंद्र सिंह दाहिमा के पॉली हाउस में आकर उनकी तकनीक को जानते हैं। महेंद्र भी अपने पास आने वाले काश्तकारों को ग्रीन हाउस/ पॉली हाउस में हाई टेक कृषि के बारे में विस्तार पूर्वक पूरी जानकारी देते हैं।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Beawar

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×