--Advertisement--

मानसून से पहले किसानों ने खेतों में शुरू की तैयारी

1 लाख 22 हजार 500 हेक्टेयर का मिला लक्ष्य ब्यावर|किसानों की निगाहें अब मानसून पर टिकी है। इसे देखते हुए कृषि विभाग खरीफ...

Dainik Bhaskar

Jun 03, 2018, 02:00 AM IST
1 लाख 22 हजार 500 हेक्टेयर का मिला लक्ष्य ब्यावर|किसानों की निगाहें अब मानसून पर टिकी है। इसे देखते हुए कृषि विभाग खरीफ बुवाई की तैयारी में जुट गया है।

गत वर्ष के मुकाबले विभाग ने इस वर्ष बुवाई का रकबा बढ़ाया है। विभागीय अधिकारियों ने बताया कि मानसून को देखते हुए लक्ष्य में फेरबदल सम्भव है। विभाग का गर्त वर्ष 1 लाख 22 हजार 338 हेक्टेयर में बुवाई का लक्ष्य था। जो अब बढ़कर इस वर्ष 1 लाख 22 हजार 500 हेक्टेयर का हो गया है।

इसमें ज्वार, बाजरा, मक्का, ग्वार, मूंग, उड़द, मोठ, चंवला,तिलहन, मूंगफली, कपास,सब्जी, हरा चारा आदि फसलें शामिल है। उल्लेखनीय है कि रबी फसलों के बम्पर उत्पादन से उत्साहित कृषि महकमा खरीफ की बुवाई की कवायद में जुटा है। इसके तहत किसानों को मिनी किट का वितरण किया जा रहा है। तैयारी में जुटे किसान: प्रदेश में मानसून की तिथि नजदीक आने के साथ ही किसानों ने खेत को तैयार करना शुरू कर दिया है। मौसम विभाग ने 20 जून के बाद प्रदेश में मानसून आने की संभावना जताई है। इससे खाली पड़े खेतों की किसान ट्रैक्टरों से हकाई करने की तैयारी कर रहे है। विभाग के अधिकारियों ने बताया कि अच्छे मानसून पर ही तय लक्ष्य की पूर्ति निर्भर है। वैसे तो विभाग का फोकस सभी जींस पर रहेगा। लेकिन ज्वार-बाजरा की बुवाई पर अधिक फोकस रहेगा।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..