--Advertisement--

ब्यावर खंड के 36 मार्गों की जल्द सुधरेगी दशा

सार्वजनिक निर्माण विभाग की ओर से लंबे समय से क्षतिग्रस्त हो रखे ब्यावर व मसूदा उपखंड के नॉन-पेचेबल मार्गों के...

Danik Bhaskar | May 19, 2018, 02:10 AM IST
सार्वजनिक निर्माण विभाग की ओर से लंबे समय से क्षतिग्रस्त हो रखे ब्यावर व मसूदा उपखंड के नॉन-पेचेबल मार्गों के नवीनीकरण का कार्य जल्द शुरु होगा। राज्य सरकार की ओर से ब्यावर की 11 व मसूदा की 25 नॉनपेचेबल सड़कों के नवीनीकरण के लिए वित्तिय स्वीकृति प्राप्त होने के बाद सार्वजनिक निर्माण विभाग की ओर से नवीनीकरण कार्य के लिए टेंडर प्रक्रिया पूर्ण कर ली गई है।

विभाग के अधिकारियों की ओर से जल्द ही सड़कों के नवीनीकरण का कार्य शुरू कर दिया जाएगा। विभाग ब्यावर खंड की ओर से अपने क्षेत्र नॉनपेचेबल सड़कों के नवीनीकरण के लिए भेजे गए प्रस्ताव पर राज्य सरकार की ओर से हाल ही में वित्तिय स्वीकृति प्राप्त हुई थी। जिनमें अजमेर जिले की लगभग 122 नॉन-पेचेबल मार्गों के कायाकल्प के लिए लगभग 64 करोड़ की वित्तीय स्वीकृति प्रदान की गई थी। अजमेर जिले के इन 122 मार्गों में ब्यावर खंड के लगभग 36 मार्ग भी शामिल थे। मुख्यालय की ओर से जारी की गई सूची में अजमेर जिले के 122 मार्गों की कुल लंबाई लगभग 429 किलोमीटर है। मुख्यालय की ओर से जारी की सूची में अजमेर जिले के ब्यावर, पुष्कर, नसीराबाद, मसूदा व किशनगढ़ उपखंड के मार्गों को शामिल किया है। सार्वजनिक निर्माण विभाग की ओर से मुख्यालय से वित्तिय स्वीकृत मिलने के बाद टेंडर प्रक्रिया पूर्ण होने के बाद जल्दी ही सड़कों के नवीनीकरण का कार्य शुरु हो सकेगा। गौरतलब है कि पिछले लंबे से समय से रखरखाव नहीं होने के चलते अजमेर जिले के नॉन पेचेबल मार्गों की स्थिति काफी खराब हो चुकी थी। वहीं, अब इन मार्गों के दुरुस्तीकरण की स्वीकृति मिलने के बाद जिलेभर के लाखों लोगों को आने वाले समय में मार्गों के दुरुस्तीकरण होने से काफी राहत मिलेगी।

मिटेगी सालों पुरानी समस्या

जिले भर में सार्वजनिक निर्माण विभाग के अंतर्गत आने वाले ऐसे कई नॉन पेचेबल कैटेगरी के मार्ग थे जिनका पिछले कई सालों से रखरखाव नहीं किया गया था। वहीं, अब इन मार्गों के दुरुस्तीकरण के लिए मुख्यालय से वित्तिय स्वीकृति मिलने के बाद सालों से बद्दत्तर हालत में पड़े इन मार्गों का भी कायापलट हो सकेगा। मुख्यालय की ओर से जारी की गई सूची में ज्यादातर मार्ग ग्रामीण क्षेत्रों के हैं। ग्रामीण क्षेत्रों के इन मार्गों के हालात सुधरने के बाद ग्रामीणों की सालों पुरानी समस्या दूर हो सकेगी।

मुख्यालय की ओर से मांगी गई थी सूची

सार्वजनिक निर्माण विभाग की ओर से कुछ दिनों पूर्व नॉन पेेचेबल मार्गों की सूची मांग गई थी। जिसके बाद जिल के प्रत्येक सानिवि कार्यालय की ओर से उनके खंड में आने वाली नॉन पेचेबल मार्ग की व उनके नवीनीकरण के लिए प्रस्ताव भिजवाए जाने के निर्देश दिए थे। जिसके बाद जिलेभर से नॉन पेचेबल मार्गों की सूची उपलब्ध कराई गई थी।

इनका कहना है


ब्यावर खंड के ये मार्ग हैं शामिल

मुख्यालय की ओर से जारी की गई अजमेर जिले के 122 मार्गों में सूची में सार्वजनिक निर्माण विभाग ब्यावर खंड के अंतर्गत आने वाले 36 मार्ग शामिल हैं। इनमें 25 मार्ग मसूदा व 11 मार्ग ब्यावर उपखंड के शामिल हैं। सूची में ब्यावर उपखंड की बिजयनगर रोड से मांडेडा, नाईकंला, पीपलिया चौराहे से सांधों का बाड़िया, अरनाली से बालाचराट, एनएस 8 से अतीतमंड मार्ग, अनाकर से देवाता, चांग ग्राम, कॉलेज रोड से जोधपुर रोड, चौड़ा निमड़ी , काबरा से कोटड़ा, दुर्गावास से काबरा मार्ग शामिल हैं। वहीं, सूची में मसूदा उपखंड के चापानेरी नंदसी मार्ग, भिनाय देवलिया मार्ग, बिजयनगर-केकड़ी मार्ग, धौलाधांता से देवमाली, मोयाना से रामपुरा सहित अन्य मार्ग शामिल हैं।

सूची में निम्न स्थानों के मार्ग भी हैं शामिल

मुख्यालय की ओर से जारी की गई अजमेर जिले के नॉन पेचेबल मार्गों के नवीनीकरण की सूची में पुष्कर के 37 मार्ग, नसीराबाद के 9 मार्ग, केकड़ी के 5 मार्ग व किशनगढ़ के 35 मार्ग शामिल किए गए हैं। सार्वजनिक निर्माण विभाग की ओर से जल्द ही अब मार्ग के नवीनीकरण के लिए टेंडर प्रक्रिया शुरु की जाएगी।