• Home
  • Rajasthan News
  • Beawar News
  • जनसहयोग से शुरू हुआ छावनी नदी की सफाई का काम, बारिश से पहले होगा नदी का कायाकल्प
--Advertisement--

जनसहयोग से शुरू हुआ छावनी नदी की सफाई का काम, बारिश से पहले होगा नदी का कायाकल्प

नगर परिषद जनसहभागिता के तहत शहर की एकमात्र छावनी नदी की सुध लेगी। जिससे बिचड़ली तालाब की पाल से शुरू होकर 4...

Danik Bhaskar | May 25, 2018, 02:15 AM IST
नगर परिषद जनसहभागिता के तहत शहर की एकमात्र छावनी नदी की सुध लेगी। जिससे बिचड़ली तालाब की पाल से शुरू होकर 4 किलोमीटर का सफर कर मकरेड़ा तालाब तक पहुंचने वाली इस नदी के रास्ते को साफ किया जा सके। इस अभियान की खास बात यह है कि नगर परिषद प्रशासन ने भामाशाहों से सहयोग के रूप में आर्थिक सहायता उपलब्ध कराने के बजाय नदी की सफाई के लिए जरूरी संसाधन उपलब्ध कराने का आग्रह किया है।

सभापति चौहान ने बताया कि करीब 4 किलोमीटर इस नदी की सफाई के लिए पूर्व में परिषद ने विशेष योजना तैयार की थी। इसके लिए परिषद की ओर से पूर्व में ही अजमेर की एक फर्म से सर्वे कराया गया था। जिसने बिचड़ली तालाब की पाल से शुरू होकर चौहान कॉलोनी, छावनी, होते हुए करीब 4 किलोमीटर का सफर कर मकरेड़ा तक पहुंचती है। सर्वे में संबंधित कंपनी ने नदी के किनारों की चौड़ाई कहां कितनी है और किस जगह अतिक्रमण है इस संबंध में परिषद प्रशासन को अपनी रिपोर्ट सौंपी थी। इस आधार पर परिषद ने एक्शन प्लान तैयार किया।

आयुक्त के प्रस्ताव पर सहमति...

आयुक्त सुखराम खोखर ने सभापति को सुझाव दिया कि नदी की सफाई और किनारे हो रहे अतिक्रमण को हटाने के लिए परिषद कोष के बजाय जनसहभागिता के तहत भामााशाहों के सहयोग से शहर की एकमात्र इस नदी को साफ कराने में सहयोग लिया जाए। इस पर चर्चा के बाद सहमति बनी कि भामाशाहों से इस अभियान में आर्थिक सहयोग लेने के बजाय सीधे उनसे संसाधन उपलब्ध कराने के लिए कहा जाए। जिससे किसी को यह शंका न रहे कि उसके द्वारा जनसहभागिता के तहत उपलब्ध कराई गई राशि का कब, कहां और कैसे उपयोग हुआ।

पहले दिन ही भामाशाह ने तीन दिन के लिए 5 जेसीबी कराई उपलब्ध, लोगों ने किया श्रमदान

आयुक्त खोखर की प्रेरणा से भामाशाह घनश्याम भाई आलूवाले की ओर से 24 से 26 मई तक रोजाना अपनी ओर से नदी की सफाई के लिए 5 जेसीबी उपलब्ध कराई गई। इसी प्रकार अन्य लोगों ने भी जरूरत के मुताबिक संसाधन उपलब्ध कराने की घोषणा की। विधायक शंकरसिंह रावत की मौजूदगी में बिचड़ली तालाब चादर के यहां से जेसीबी मशीन की सहायता से साफ-सफाई की गई। इस दौरान विधायक व जनप्रतिनिधियों सहित आसपास के क्षेत्रवासियों ने भी श्रमदान किया।

नदी के रास्ते कीचड़ और अतिक्रमण से अवरुद्ध : सफाई के अभाव में छावनी नदी की आवक अवरूद्ध है। साथ ही अतिक्रमण की वजह से बरसात के दिनों में पानी ओवरफ्लो हो जाता है। जिससे आस-पास के लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ता है। नदी के बहाव क्षेत्र में उगी झाडिय़ों तथा अन्य प्रकार के अवरोधकों को दूर करने के लिए नगर परिषद ने यह अभियान शुरू किया। गुरुवार को सफाई अभियान के दौरान श्रमदान करने वालों में विधायक शंकरसिंह रावत, नगर परिषद सभापति बबीता चौहान, मंडल अध्यक्ष दिनेश कटारिया और जयकिशन बल्दुआ, महामंत्री रिखबचंद खटोड़, विष्णु शर्मा, नरेन्द्र चौहान, पार्षद नरेश कनोजिया, अंगदराम अजमेरा, राधेश्याम प्रजापति, दीपसिंह, भानू, स्वास्थ्य निरीक्षक हरिराम लखन सहित अन्य कर्मचारी मौजूद थे।