• Home
  • Rajasthan News
  • Beawar News
  • पीडब्लूडी-परिषद की खींचतान में परेशान हो रहे शहरवासी, सालों से मार्ग की स्थिति दयनीय
--Advertisement--

पीडब्लूडी-परिषद की खींचतान में परेशान हो रहे शहरवासी, सालों से मार्ग की स्थिति दयनीय

शहर का बिजयनगर रोड पीडब्लूडी, नगर परिषद व क्षेत्रवासियों के लिए परेशानी की वजह बना हुआ है। सालों से खराब पड़ी सड़क का...

Danik Bhaskar | May 30, 2018, 02:25 AM IST
शहर का बिजयनगर रोड पीडब्लूडी, नगर परिषद व क्षेत्रवासियों के लिए परेशानी की वजह बना हुआ है। सालों से खराब पड़ी सड़क का खामियाजा सबसे ज्यादा क्षेत्रवासियों व मार्ग पर से गुजरने वाले लोगों को भुगतना पड़ता है। सानिवि के अधिकारियों की मानें तो मार्ग के दोनो तरफ स्थित कॉलोनियों में घरों से निकलने वाले गंदे पानी के निकासी की समुचित व्यवस्था नहीं होने के चलते मार्ग पर बहकर आने वाले गंदे पानी से मार्ग बार-बार क्षतिग्रस्त हो जाता है। नगर परिषद को कई बार मुख्य मार्ग के किनारे नाली निर्माण के लिए कई पत्र लिखे। परंतु तक नगर परिषद की ओर से मुख्य मार्ग के किनारे अब नाली निर्माण करने की जहमत नहीं उठाई गई।

नगर परिषद की ओर से पूरे मामले पर कोई समुचित कार्रवाई नहीं करने पर लगभग एक साल पूर्व सानिवि की ओर से जिला कलक्टर को पत्र लिखकर स्थानीय नगर परिषद को बिजयनगर रोड के किनारे नालियों का निर्माण करवाए जाने को लेकर पाबंद करने की गुहार लगाई थी। परंतु आज तक ना तो जिला प्रशासन और ना ही नगर परिषद की ओर से इस पूरे मामले को सुलझाने व लोगों की परेशानियों को दूर करने के लिए कोई उचित कदम उठाया गया है। सानिवि की ओर से जिला कलेक्टर को जो पत्र लिखा गया उसमें बताया गया कि सडक के दोनो तरफ आबादी बसी होने के कारण आवासीय कॉलोनियों की गन्दे पानी की समस्त नालियों का पानी सडक पर एकत्रित होता रहता है जिससे सडक हमेशा क्षतिग्रस्त होती रहती है। इस सडक के दोनो ओर गन्दे पानी की निकासी हेतु नगर परिषद ब्यावर को कई बार नालो का निर्माण कराने के लिए पत्र लिखा गया परन्तु आज तक गन्दे पानी की निकासी हेतु नालों का निर्माण नही कराया गया जिसकी वजह से सडक पर सार्वजनिक निर्माण विभाग की ओर से हर वर्ष मरम्मत व आवश्यक कार्य करवाया जाता है परन्तु गन्दा पानी आने से मार्ग फिर से क्षतिग्रस्त हो जाता है। पीडब्लूडी ने जिला कलक्टर को लिखे पत्र में बताया गया कि मार्ग के दोनो तरफ नालियां बनाने के बाद ही समस्या का स्थाई समाधान होगा। सानिवि और नगर परिषद की आपस की खींचतान के चलते बिजयनगर रोड की समस्या और भी ज्यादा उलझ गई है। दोनों विभागों की खींचतान का खामियाजा आखिर में शहरवासियों को उठाना पड़ता है। क्षेत्रवासियों की ओर से कई बार मार्ग को दुरुस्त करने के लिए स्थानीय प्रशासन को गुहार लगाई जा चुकी है। परंतु अब तक महज क्षेत्रवासियों को आश्वसन का झुंनझुना ही पकड़ाया गया है।

लगी रहती वाहनों की रेलमपेल : बिजयनगर रोड स्टेट हाइवे की श्रेणी में शामिल है। इस मार्ग का इस्तेमाल शहरवासियों के अलावा बड़ी संख्या बिजयनगर रोड पर स्थित कई गावों के ग्रामीण करते हैं। इसी कारण मार्ग पर दिनभर दुपहिया व चौपहिया वाहनों के अलावा काफी संख्या भारी वाहन गुजरते हैं। क्षतिग्रस्त मार्ग के चलते वाहन चालकों को काफी असुविधा होती है।

क्षेत्रवासी जाम लगाकर जता चुके हैं नाराजगी : क्षतिग्रस्त मार्ग के चलते नाराजगी जताते हुए क्षेत्रवासियों ने गत वर्ष पर मार्ग पर जाम भी लगाया था इसके साथ ही क्षेत्रवासियों ने उपखंड अधिकारी को मार्ग को दुरुस्त कराए जाने को लेकर ज्ञापन भी सौंपा था। उस वक्त क्षेत्रवासियों को प्रशासन की ओर से मार्ग को पूरी तरह से दुरुस्त कराए जाने का आश्वासन भी दिया गया था। परंतु नालियों के अभाव में मार्ग पर हालात आज भी जस के तस हैं। क्षतिग्रस्त मार्ग के चलते आएदिन वाहन चालक गड्‌ढों में गिरकर दुर्घटना का शिकार भी होते हैँ।

बरसात में हालात होते विकट : बिजयनगर रोड पर बारिश के समय हालात और भी विकट हो जाते हैं। मार्ग की हो रखी दुर्दशा के चलते बारिश के वक्त मार्ग पर गड्ढों में पानी एकत्रित हो जाता है। जिसके कारण दुपहिया वाहन चालकों व पैदल राहगीरों का मार्ग पर से निकलना तक दुभर हो जाता है। बारिश के दौरान मार्ग पर हुए गड्‌ढों में पानी भरने के चलते बड़ी संख्या में दुपहिया वाहन चालक गिरकर चोटिल होते रहते हैं।

क्षतिग्रस्त बिजयनगर रोड पीडब्लूडी, नगर परिषद व क्षेत्रवासियों के लिए परेशानी की वजह बना हुआ है।