• Home
  • Rajasthan News
  • Beawar News
  • 50 से अधिक आदर्श स्कूलों में स्थापित होंगी आईसीटी लैब
--Advertisement--

50 से अधिक आदर्श स्कूलों में स्थापित होंगी आईसीटी लैब

राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा अभियान की ओर से बजट उपलब्ध नहीं कराए जाने से आदर्श विद्यालयों के बच्चे नवीनतम तकनीकी...

Danik Bhaskar | Jun 04, 2018, 02:25 AM IST
राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा अभियान की ओर से बजट उपलब्ध नहीं कराए जाने से आदर्श विद्यालयों के बच्चे नवीनतम तकनीकी ज्ञान से वंचित है। इसको ध्यान में रखते हुए अब द्वितीय व तृतीय चरण की आईसीटी लैब दानदाताओं के सहयोग से तैयार करवाई जाएगी। जिसका फायदा विद्यार्थियों को मिलेगा। इसके लिए रमसा ने स्कूलों को निर्देशित कर दिया है।

विभाग के अधिकारियों ने बताया कि राजकीय विद्यालयों में बच्चों को कम्प्यूटर का ज्ञान देने, गुणवत्तयुक्त शिक्षा प्रदान करने के लिए आईसीटी लैब स्थापित की जाएगी। कुछ समय से रमसा की ओर से बजट आवंटित नहीं किए जाने से जिले की कई आदर्श स्कूलें अभी तक इससे वंचित है। ऐसे में जिले के होनहार विद्यार्थियों को कम्प्यूटर ज्ञान प्राप्त नहीं हो पा रहा है। नया शिक्षा सत्र शुरू हो गया है, लेकिन लैब स्थापित करने का काम अधरझूल में है। रमसा ने इन लैबों को दानदाताओं व मुख्यमंत्री जनसहभागिता विकास योजना के तहत विकसित का निर्णय किया है। जिले की बात करे तो वर्तमान में कुल 241 आदर्श व अन्य विद्यालयों में आईसीटी लैब स्थापित है।


80 आदर्श स्कूलों में सुविधा नहीं

विभाग के अधिकारियों ने बताया कि जिले में कुल 479 माध्यमिक व उच्च माध्यमिक विद्यालय संचालित हो रहे है। जहां अब तक जिले के 241 स्कूलों में लैब स्थापित हो चुकी है। वहीं जिले की 282आदर्श स्कूलों में से अब भी 80आदर्श स्कूल ऐसे हंै, जहां आईसीटी लैब की सुविधा नहीं है। अब इन स्कूलों विकसित करने के लिए जनभागीदारी का सहारा लिया जाएगा। यह द्वितीय व तृतीय चरण की स्वीकृत लैब है। इन स्कूलों में आईसीटी लैब को स्थापित करने के लिए संस्था प्रधानों को अपने क्षेत्र के भामाशाहों व दानदाताओं की मदद से आईसीटी लैब की स्थापना करवानी होगी।