Hindi News »Rajasthan »Beawar» रानीखेत एक्सप्रेस के ठहराव से 44 दिन में 8 लाख की आय

रानीखेत एक्सप्रेस के ठहराव से 44 दिन में 8 लाख की आय

शहर की सालों पुरानी और महत्वपूर्ण मांग रानीखेत एक्सप्रेस के ब्यावर में ठहराव शुरू किए जाने को लेकर दो माह पूरे...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jun 10, 2018, 02:25 AM IST

रानीखेत एक्सप्रेस के ठहराव से 44 दिन में 8 लाख की आय
शहर की सालों पुरानी और महत्वपूर्ण मांग रानीखेत एक्सप्रेस के ब्यावर में ठहराव शुरू किए जाने को लेकर दो माह पूरे होने को है। ब्यावर में रानीखेत के प्रायोगिक ठहराव को 54 दिन पूरे हो चुके हैं। 54 दिन में ये ट्रेन 44 दिन चली और इस ट्रेन से रेलवे को 8 लाख रुपए से अधिक की आय हो चुकी है। ऐसे में इस ट्रेन के ब्यावर में ठहराव को स्थाई करने की संभावना को बल मिला है।

इन 54 दिनाें में से 10 दिन दोहरीकरण अौर डीएफसीसी के साथ ही अन्य कारणों से रानीखेत एक्सप्रेस का संचालन नहीं हो सका एवं आगामी 17 जून तक रानीखेत को मार्ग बदले जाने के कारण ब्यावर से इसको कोई आय नहीं होगी। हालांकि इस ट्रेन से काठगोदाम की ओर यात्रा करने वाले यात्रियों की संख्या अधिक है लेकिन रामदेवरा मेले के दौरान इस ट्रेन को और अधिक राजस्व मिलने की उम्मीद है।

गौरतलब है कि ब्यावर में लंबे अर्से से रानीखेत एक्सप्रेस के ठहराव की मांग उठाई जा रही है। भास्कर द्वारा रेल मंत्री को 5 हजार से अधिक पोस्टकार्ड लिखवा कर भिजवाए गए। इसके साथ ही जनजागरण मंच और भारतीय ग्रामीण खेतीहर व काम मजदूर संघ द्वारा भी धरना प्रदर्शन किया गया। वहीं विधायक शंकर सिंह रावत और क्षेत्रीय सांसद हरिओम सिंह राठौड़ ने भी शहर की इस मांग को लेकर रेल मंत्री को कई बार पत्र लिखकर मांग उठाई। शहर में किए जा रहे प्रदर्शन और जनप्रतिनिधियों की मांग के बाद आखिर रेलवे द्वारा गत 16 अप्रैल से ब्यावर में रानीखेत एक्सप्रेस के ठहराव को हरी झंडी मिल गई। हालांकि रेलवे द्वारा ये 6 माह का प्रायोगिक ठहराव है। अगर रेलवे को रानीखेत से ब्यावर में यात्री भार और राजस्व मिला तो इस ठहराव को स्थायी किया जाएगा।

फैक्ट फाइल

16 अप्रैल से 3 मई तक ट्रेन ने 44 दिनों में 88 फेरे किए।

ब्यावर से जैसलमेर मार्ग पर 44 दिनों में 4 हजार 62 यात्रियों से यात्रा की।

ब्यावर-जैसलमेर मार्ग पर 44 दिनों में 3 लाख 86 हजार 805 रुपए की आय।

ब्यावर से काठगोदाम मार्ग पर 5 हजार 186 यात्रियों ने की यात्रा।

ब्यावर काठगोदाम मार्ग पर 44 दिनों में 4 लाख 29 हजार 278 रुपए की आय।

कुल 9 हजार 248 यात्रियों से 8 लाख 16 हजार 83 रुपए की आय।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Beawar

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×