--Advertisement--

भागवत गीता में हुई है सत्य की स्तुति

ब्यावर| स्थानीय ज्ञानचंद सिंहल में आयोजित कराई जा रही श्रीमद् भागवत कथा सप्ताह के दूसरे दिन कथा परीक्षित भागचंद...

Dainik Bhaskar

Jun 09, 2018, 02:35 AM IST
भागवत गीता में हुई है सत्य की स्तुति
ब्यावर| स्थानीय ज्ञानचंद सिंहल में आयोजित कराई जा रही श्रीमद् भागवत कथा सप्ताह के दूसरे दिन कथा परीक्षित भागचंद चौहान की ओर से व्यास पीठ पर विराजित आशुतोष शास्त्री महाराज का पूजन व माल्यापर्ण किया गया। कथा क्रम में महाराज ने शुक्रदेव, परीक्षित जन्म की कथा व शिव पार्वती संवाद को विस्तार से बताया। उन्होने बताया कि श्रीमद् भागवत में सत्य की स्तुती की गई है। कथा के आरंभ में सत्य, मध्य में सत्य व अंत में भी सत्य ही रहेगा। उन्होने कहा कि पाप से घृणा करो पर पापी से नहीं, क्योंकी प्रत्येक प्रा‌णी के ह्रदय में परमात्मा का वास होता है, इसलिए हमें पाप से घृणा करनी चाहिए पापी से नहीं। उन्होने कहा कि कोई भी प्राणी जन्म से पापी नहीं होता, बल्कि संसार की मोहमाया के वश में होकर अज्ञानवश यह प्राणी पाप कर लेता है। इस दौरान कथा पांडाल में मौजूद भक्तगणों ने भजनों का आनंद लिया। कथा के अंत में परीक्षित भागचंद चौहान की ओर से आरती व प्रसाद वितरण किया गया। इस दौरान केसरीमल, काशीराम, नैनजी साहू, दिनेश शर्मा, बबीता चौहान, नरेंद्र चौहान, महेंद्र , अजय, विनोद, मनीष, करण, ललित, गोपाल सोलंकी व राकेश सहित अन्य मौजूद रहे।

कथा वाचन करते महाराज।

ब्यावर. श्रीमद् भागवत कथा के दौरान पांडाल में मौजूद श्रद्धालु।

भागवत गीता में हुई है सत्य की स्तुति
X
भागवत गीता में हुई है सत्य की स्तुति
भागवत गीता में हुई है सत्य की स्तुति
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..