--Advertisement--

ई टिकट बनाने के गोरखधंधे का भंडाफोड़

ब्यावर|गर्मी की छुटि्टयों के सीजन में रेल में पड़ने वाली भीड़ को देखते हुए अवैध दलाल सक्रिय हो गए हैं। आए दिन...

Danik Bhaskar | May 18, 2018, 02:35 AM IST
ब्यावर|गर्मी की छुटि्टयों के सीजन में रेल में पड़ने वाली भीड़ को देखते हुए अवैध दलाल सक्रिय हो गए हैं। आए दिन ट्रेनों में अवैध रूप से टिकट उपलब्ध करवाने की शिकायतों को देखते हुए क्राइम ब्रांच ने ब्यावर में कार्रवाई करते हुए एक आरोपी को धर अवैध रूप से अधिक राशि वसूल की ई टिकट उपलब्ध करवाने के गोरखधंधे का खुलासा किया है। आरोपी के कब्जे से पहले बनाया गया एक टिकट भी जब्त किया गया है। आरोपी को रेलवे एक्ट के तहत गिरफ्तार कर उसके कब्जे से कंप्यूटर जब्त कर लिया गया है।

आरपीएफ थाना प्रभारी विनोद कुमार शर्मा ने बताया कि शहर में ई-टिकिट के अवैध धंधे की सूचना मिली थी। जिस पर क्राइम ब्रांच के सब इंस्पेक्टर सुखराम चौधरी के नेतृत्व में गुरुवार की दोपहर चांग गेट क्षेत्र में बोगस ग्राहक के रूप में दबिश दी गई। जिस पर वहां एक इलेक्ट्रॉनिक दुकान पर मौजूद युवक भरत कुमार ने टिकिट बनाने की हामी भरी और निर्धारित राशि से अधिक राशि मांगी। टिकिट बनाने के बाद क्राइम ब्रांच ने उसे पकड़ लिया तथा आरपीएफ प्रभारी विनोद शर्मा को सूचना दी। जिसके बाद उसे पकड़कर मामला दर्ज किया गया। पुलिस ने उसके कब्जे से एक टिकिट तथा सीपीयू आदि को भी जब्त किया है। आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया गया। कार्रवाई के दौरान विनोद कुमार शर्मा, एसआई मदन लाल भाटी, कांस्टेबल एलआर मीणा, विशाल सिंह, क्राइम ब्रांच एसआई सुखराम समेत अन्य मौजूद थे।

पर्सनल आईडी का गलत इस्तेमाल : रेलवे आईआरसीटीसी द्वारा पर्सनल यूज की सुविधा उपलब्ध करवाई जाती है। जिसके तहत कोई भी व्यक्ति महीने में खुद के परिवार के 6 टिकट तत्काल सुविधा के लिए बुक करवा सकता है। लेकिन आरोपी द्वारा अपनी आईडी से ना सिर्फ टिकट बनाए जा रहे थे बल्कि वास्तविक कीमत से अधिक वसूले जा रहे थे।

ब्यावर. आरपीएफ की गिरफ्त में आरोपी।