--Advertisement--

नफरतों की आग में गुलशन हमारा जल रहा है

ब्यावर| राजपूताना मोहम्मद अली मैमोरियल ट्रस्ट सोसायटी की ओर से एक शाम कौमी एकता के पर मोहम्मद अली मेमोरियल सीनियर...

Dainik Bhaskar

May 12, 2018, 03:25 AM IST
ब्यावर| राजपूताना मोहम्मद अली मैमोरियल ट्रस्ट सोसायटी की ओर से एक शाम कौमी एकता के पर मोहम्मद अली मेमोरियल सीनियर सेकंडरी स्कूल के सभागार में आल इंडिया मुशायरे व कवि सम्मेलन का आयोजन किया गया। इस मुशायरे एवं कवि सम्मेलन में देश भर के ख्याति प्राप्त शोरा व कवियों ने अपने कलाम व रचनाएं पेश की। शायर अजीम देवासी ने हमने इस मुल्क में ऐसे भी करिश्में देखे, फूल मंदिर के भी मस्जिद में महकते देखे...इसी प्रकार शायर चांद देवबंदी ने मोहब्बत की स्याही में मुकद्दस दिल के कागज पर तुम्हारा भी नाम लिखने की इजाजत चाहता हूं, गुनहगार को सजा मिले ऐसी अदाल चाहता हूं। शायर अब्दुल सलाम खोखर ने इज्जतों अखलाक का अपना सहारा जल रहा है, नफरतों की आग में गुलशन हमारा जल रहा है, भाई तो जिन्दा है भाईचारा जल रहा है। शायर शब्बीर हाशमी ने न हिन्दू बुरा है न मुसलमान बुरा है, बुराई पर आ जाए तो हर इंसान बुरा है आदि शायरी पेश कर सभी श्रोताओं को भाव विभोर कर दिया। कार्यक्रम में गुजरात के सागर बुरहान पुरी, शकील अहमद, इलियास अब्बासी, अजीम देवासी, चन्द्रभान वर्मा, हारून कासिफ, विजय नारायण शर्मा,कवयित्री सुमित्रा गोयल आदि ने भी अपनी रचनाएं व कविताएं पेश की। स्कूल के सचिव मोहम्मद रमजान दाउदी, ट्रस्ट के अध्यक्ष जलालुद्दीन काठात, जगमाल सिंह, गणपत सिंह मुग्धेश, नारायण सिंह पंवार, हीरा लाल जनागल, कल्पना भटनागर, शंकर बुलंद, मोहम्मद बक्श, हाजी अब्दुल जब्बार खिलजी, मोहम्मद शफी सिद्दकी, इरशाद अमरोही, अब्दुल रउफ, मोहम्मद इस्माइल दाउदी आदि उपस्थित थे।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..