Hindi News »Rajasthan »Beawar» विद्यार्थियों को मिलना था यात्रा भत्ता, संस्था प्रधानों ने शाला दर्पण पर नहीं किया अपडेट, अब मिले नाेटिस

विद्यार्थियों को मिलना था यात्रा भत्ता, संस्था प्रधानों ने शाला दर्पण पर नहीं किया अपडेट, अब मिले नाेटिस

सरकारी स्कूलों में कक्षा पहली से आठवीं तक के बच्चों को ट्रांसपोर्ट वाउचर योजना का लाभ नहीं मिल रहा है। महकमे ने...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 26, 2018, 03:25 AM IST

सरकारी स्कूलों में कक्षा पहली से आठवीं तक के बच्चों को ट्रांसपोर्ट वाउचर योजना का लाभ नहीं मिल रहा है। महकमे ने ऐसे संस्था प्रधान को कारण बताओ नोटिस जारी किए हैं। जिन्होंने अब तक ट्रांसपोर्ट वाउचर के लाभ प्राप्त करने वाले बच्चों के नाम अंकित नहीं किया है।

विभाग के अधिकारियों ने बताया कि राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा अभियान अजमेर के अतिरिक्त जिला परियोजना समन्वयक ने आदेश जारी कर कक्षा 1 से 8वीं के छात्र छात्राओं की विद्यालय से दूरी मॉड्यूल में दूरी का कारण अंकित कर सेव करने के निर्देश दिए थे। लेकिन अब तक शाला दर्पण पर अपडेट कर इस कार्य को समय पर पूरा नहीं किया गया है। जिसकों प्रमुख शासन सचिव ने गंभीरता जताते हुए ऐसे संस्था प्रधानों की उदासीनता मानी है। संस्था प्रधानों की ओर से देरी किए जाने के कारण राज्य स्तर से आगामी वित्तीय वर्ष 2018-19 की वार्षिक कार्य योजनाएं व बजट प्रस्ताव एम.एच.आर.डी. नई दिल्ली भिजवाए जाने में देरी हुई है। ऐसे में तय तक तक शाला दर्पण पर जानकारी अपडेट करने के आदेश दिए हैं। समय पर कार्य नहीं होने पर संस्था प्रधान के खिलाफ कार्रवाई किए जाने की बात कही है।

एक हजार से अधिक विद्यार्थियों की जानकारी करनी है अपडेट...

विभाग की ओर से जारी आदेश के तहत पूरे जिले में 1 हजार 865 छात्र छात्राएं ऐसे हैं, जिनको इस योजना का लाभ प्राप्त होना शेष है। अब तक विद्यार्थियों की जानकारी ऑनलाइन अपडेट नहीं होने के कारण योजना से वंचित हो रहे हैं। इसमें कक्षा 1 से 5वीं तक के वह विद्यार्थी जो स्कूल से एक किलोमीटर की अधिक दूरी से आ रहे है, उनकी संख्या 408 बची है। इसी प्रकार दो किलोमीटर से अधिक दूरी से आने वाले कक्षा 6 से 8वीं तक विद्यार्थियों की संख्या 1458 है।

ब्लॉकवार शेष विद्यार्थियों की संख्या पर एक नजर...

अजमेर जिले के सभी ब्लॉक में ट्रांसपोर्ट वाउचर योजना का लाभ प्राप्त करने वाले विद्यार्थियों की सूचना अपडेट नहीं की है। इसमें कक्षा 1 से 8वीं तक के अजमेर शहर के 123, अरांई ब्लॉक के 154, भिनाय के 59, जवाजा के 184, केकड़ी के 55, किशनगढ़ के 23, मसूदा के 400, पीसांगन के 316, सरवाड़ के 24 व श्रीनगर ब्लॉक से 120 बच्चों के नाम अपडेट होना शेष है।

जवाजा ब्लॉक के इन स्कूलों को थमाए नोटिस...

राजकीय बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय छावनी, राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय राजियावास, राजकीय माध्यमिक विद्यालय गाफा, राजकीय आदर्श उच्च माध्यमिक विद्यालय बराखन, राजकीय माध्यमिक विद्यालय फतेहपुरिया दोयम, राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय जैन गुरुकुल, राजकीय माध्यमिक विद्यालय सोनियाना, राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय लसाडिया, राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय दौलतपुरा द्वितीय व राजकीय माध्यमिक विद्यालय खोडमाल शामिल है।

योजना पर एक नजर| विभाग के अधिकारियों ने बताया कि शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए शुरू हुई ट्रांसपोर्ट वाउचर योजना अब प्राथमिक शिक्षा के स्कूलाें में लागू की गई है। इससे सीधे तौर पर दूरदराज से नहीं आने वाले बच्चों को स्कूल पहुंचने में परिजनों को खर्चा नहीं वहन करना पड़ेगा। इसके तहत जिले के 6 हजार से अधिक बच्चों को इस योजना का लाभ प्राप्त होना है। हालांकि रमसा की ओर से कक्षा 9वीं से 12वीं की छात्राओं को यात्रा भत्ते का लाभ दिया जा रहा है। यात्रा भत्ते का लाभ सरकारी स्कूलों में एक से पांचवी तक के विद्यार्थियाें को एक किलोमीटर की न्यूनतम दूरी तथा कक्षा 6 से आठवीं तक के विद्यार्थियों के दो किलोमीटर की न्यूनतम दूरी से आने पर विद्यार्थियों को दिया जाएगा। एक से पांच के छात्र को दस तथा छठी से आठवीं तक को 15 रुपए उपस्थिति के अनुसार तथा अधिकतम तीन हजार सालाना दिए जाएंगे। इसके लिए सर्व शिक्षा अभियान के मद में स्वीकृत राशि 6 लाख 36 हजार रुपए का उपयोग किया जाएगा।

यह है प्रक्रिया| ट्रांसपोर्ट वाउचर योजना में छात्र का चयन पंचायत प्रारंभिक शिक्षा अधिकारी(पीईईओ)के निर्देशन में राजकीय प्राथमिक व उच्च प्राथमिक विद्यालय के संस्था प्रधानों की ओर से किया जाएगा। संस्था प्रधान छात्रों के अभिभावकों से आवेदन लेकर एसडीएमसी एसएमसी की बैठक में अनुमाेदन करवाएंगे। इसके बाद प्राथमिक, उच्च प्राथमिक विद्यालयों में स्वीकृति पीईईओ व माध्यमिक एवं उच्च माध्यमिक स्कूलों के विद्यार्थियों की स्वीकृति संबंधित संस्था प्रधान देंगे।

समय पर अपडेट की जाएगी जानकारी

विद्यार्थियों को दी जाने वाली ट्रांसपोर्ट वाउचर की सुविधा के तहत शेष रहे बच्चों की जानकारी जल्द अपडेट कर दी जाएगी। अपडेट नहीं करने के कारण विभाग की ओर से कारण बताओ नोटिस प्राप्त हुआ है। प्रदीप शर्मा,संस्था प्रधान, राजकीय बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय छावनी,ब्यावर

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Beawar News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: विद्यार्थियों को मिलना था यात्रा भत्ता, संस्था प्रधानों ने शाला दर्पण पर नहीं किया अपडेट, अब मिले नाेटिस
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Beawar

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×