• Home
  • Rajasthan News
  • Beawar News
  • बारिश सिर पर और शहर में खुदी हैं 20 किलोमीटर सड़कें
--Advertisement--

बारिश सिर पर और शहर में खुदी हैं 20 किलोमीटर सड़कें

शहर में जलनिकासी व्यवस्था सुचारू करने के लिए शुरू हुआ सीवरेज प्रोजेक्ट मानसून की शुरुआत में शहरवासियों के लिए...

Danik Bhaskar | Jun 07, 2018, 03:25 AM IST
शहर में जलनिकासी व्यवस्था सुचारू करने के लिए शुरू हुआ सीवरेज प्रोजेक्ट मानसून की शुरुआत में शहरवासियों के लिए समस्या न खड़ी कर दे। इसकी वजह है सीवरेज प्रोजेक्ट को लेने वाली संबंधित कंपनी की ओर से काम पूरा होने के बाद भी खोदी गई सड़कों की मरम्मत नहीं करना। करीब एक से डेढ़ फीट गहराई तक खोदी गई इन सड़कों में यदि बारिश का पानी जमा हो गया तो नागरिक इनमें गिरकर चोटिल हो सकते हैं। इसे गंभीरता से लेते हुए रूडसिको ने कंपनी को नोटिस जारी कर पाबंद किया जब तक बैकलॉग पूरा नहीं करती तब तक नई जगह पर खुदाई कार्य शुरू न करें। रूडसिको की इस कार्यवाही के बाद अब परिषद प्रशासन ने भी कंपनी को नोटिस जारी कर बारिश से पहले जो सड़कें खोदी गई उन्हें दुरुस्त करने के लिए पाबंद करने का निर्णय लिया।

पहले चरण के लिए 110 करोड़ मंजूर

टेंडर की शर्तों के मुताबिक दो साल में 140 किलोमीटर लाइन बिछाने की जगह अब तक कंपनी ने 48 किलोमीटर लाइन बिछाई है। प्रोजेक्ट को देख रहे संजय वासु के काम को छोड़ने के बाद उनकी जगह आए विजय मौर्य ने बताया कि 48 किलोमीटर लाइन के दौरान अब तक कंपनी की ओर से 19 किलोमीटर सीमेंट सड़कों की खुदाई की गई है। जबकि शेष सड़कें कच्ची है। आगामी मानसून को ध्यान में रखते हुए कंपनी ने भी बैकलॉग को पूरा करने के लिए अतिरिक्त टीमें तैनात की है। जिससे नई लाइन बिछाने के काम के साथ बैकलॉग भी समय पर पूरा हो सके। मौर्य ने बताया कि कंपनी की ओर से नियत अंतराल में बैकलॉग पूरा कर लिया जाएगा। बारिश पहले ही कंपनी की ओर से ऐसी सीसी सड़कों को दुरुस्त कर दिया जाएगा। जिससे नागरिकों को कोई परेशानी न हो। इसके अलावा कच्ची सड़कों को दुरुस्त करने के लिए कंपनी महज रोलर चलाकर उन्हें समतल कराएगी। मालूम हो कि प्रोजेक्ट के पहले चरण के लिए 110 करोड़ रुपए मंजूर हुए हैं।

सभापति बबीता चौहान से बातचीत...

 सीवरेज प्रोजेक्ट के तहत शहर में जो सीसी सड़कें खुदी हुई है उन्हें बारिश से पहले दुरुस्त कैसे किया जाएगा ?

 यह कंपनी की जिम्मेदारी है। जहां भी सीसी सड़क की खुदाई हुई है तो उसे दुरुस्त भी वही करेगी।

 मगर कंपनी खोदी गई सड़कों को दुरुस्त करने में कोई रुचि नहीं दिखा रही। नियमानुसार बैकलॉग समय पर पूरा होना चाहिए।

 रूडसिको ने कंपनी को नोटिस जारी कर इसके लिए पाबंद किया है।

 क्या परिषद की जिम्मेदारी नहीं बनती कि वह बारिश पहले सड़कें दुरुस्त हो इसके लिए कंपनी को पाबंद करें।

 परिषद ने मौखिक तौर पर पहले कंपनी को पाबंद किया हुआ है। अब इस संबंध में परिषद भी नोटिस जारी करेगी। जिससे बारिश के दौरान सड़कों पर पानी जमा न हो।