• Home
  • Rajasthan News
  • Beawar News
  • 14 साल बाद बदले ब्लॉक अध्यक्ष का 15 दिन में विरोध शुरू
--Advertisement--

14 साल बाद बदले ब्लॉक अध्यक्ष का 15 दिन में विरोध शुरू

शहर में 14 साल बाद बदले कांग्रेस के ब्लॉक अध्यक्ष का महज 15 दिन बाद ही कार्यकर्ताओं ने विरोध शुरू कर दिया। उन्होंने...

Danik Bhaskar | May 23, 2018, 03:30 AM IST
शहर में 14 साल बाद बदले कांग्रेस के ब्लॉक अध्यक्ष का महज 15 दिन बाद ही कार्यकर्ताओं ने विरोध शुरू कर दिया। उन्होंने प्रदेश अध्यक्ष को उन्हें पद से नहीं हटाने पर धरना प्रदर्शन करने की चेतावनी भी दे दी। इधर एक नाराज खेमा ब्लॉक अध्यक्ष के समानांतर पार्टी के कार्यक्रम चलाने की तैयारी कर चुका है। ऐसे में केंद्र या राज्य सरकार की नीतियों के खिलाफ धरना-प्रदर्शन कर विरोध करने की तैयारी करने वाले ब्लॉक अध्यक्ष को पहले अपने खिलाफ होने वाले ऐसे तथाकथित धरना प्रदर्शन या विरोध को रोकना होगा। यदि वह कार्यकर्ताओं को एकजुट कर पार्टी की एक जाजम पर बैठाने में सफल नहीं हुए तो उन्हें परेशानी का सामना करना पड़ सकता है।

मालूम हो कि 6 मई को ही पीसीसी की ओर से प्रदेश के सभी 400 ब्लॉक अध्यक्षों की सूची जारी की गई थी। इसमें ब्यावर में अजय शर्मा और जवाजा में विरेंद्र सिंह पंवार को ब्लॉक अध्यक्ष पद पर निर्वाचित किया गया। इससे पहले ब्यावर में 14 साल तक ब्लॉक अध्यक्ष के रूप में डॉ. एससी जैन ही यह जिम्मेदारी संभाल रहे थे। पीसीसी सदस्य पारस पंच ने बताया कि एआईसीसी ने ब्लॉक अध्यक्षों की सूची पर पीसीसी के सभी बड़े नेताओं की रजामंदी के बाद मुहर लगाई थी। इस सूची में खास बात यह रही कि चुनाव आयोग के निर्देशानुसार पार्टी ने पूर्व में ही ब्लॉक और जिलाध्यक्षों के लिए चुनाव प्रक्रिया आयोजित की थी मगर अजमेर, अलवर और भीलवाड़ा में उपचुनाव के चलते इन जिलों में चुनाव प्रक्रिया आयोजित नहीं हो सकी। इस वजह से सीधे तौर पर इन क्षेत्रों में ब्लॉक अध्यक्ष निर्वाचित घोषित किए गए।

प्रदेशाध्यक्ष से कार्रवाई करने की मांग...

शहर जिला कांग्रेस सेवादल के पूर्व जिला मुख्य संगठक बालूराम सेन ने पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष सचिन पायलट को पत्र लिखकर ब्लॉक अध्यक्ष अजय शर्मा को हटाने और उनके खिलाफ अनुशासनात्मक कार्यवाही करने की मांग की। पत्र में सेन ने बताया कि सोमवार को पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की पुण्यतिथि थी। जिसे कांग्रेस पार्टी के कलेंडर अनुसार प्रत्येक ब्लॉक पर मनाया जाना जरूरी था, लेकिन ब्यावर विधानसभा क्षेत्र में किसी भी संगठन ने राजीव गांधी की पुण्यतिथि नहीं मनाई। इससे कई वरिष्ठ कांग्रेसियों को गहरा आघात पहुंचा। सेन सहित अन्य पदाधिकारियों ने प्रदेशाध्यक्ष पायलट से मांग की है कि ब्लॉक अध्यक्ष को तुरंत प्रभाव से पदमुक्त कर उनके खिलाफ अनुशासनात्मक कार्यवाही की जाए, ताकि भविष्य में दोबारा ऐसी गलती न हो। साथ ही उन्होंने पत्र में चेतावनी भी दी कि यदि प्रदेशाध्यक्ष ने ऐसी कोई कार्यवाही नहीं की तो धरना प्रदर्शन किया जाएगा। पार्षद कमला दगदी और राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी कच्ची बस्ती प्रकोष्ठ के प्रदेशाध्यक्ष पूनमसिंह रावत ने भी प्रदेश अध्यक्ष को पत्र लिखकर ब्यावर ब्लॉक अध्यक्ष अजय शर्मा पर अनुशासनात्मक कार्यवाही करने की मांग की। वार्ड नंबर 32 के पार्षद मोहनसिंह चौहान ने भी अयज शर्मा के खिलाफ कार्यवाही करने की मांग की।

जवाजा में भी जताया विरोध

जवाजा ब्लॉक कांग्रेस कमेटी के पूर्व अध्यक्ष सहदेव सिंह रावत ने भी जवाजा ब्लॉक पर पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की पुण्यतिथि नहीं मनाने पर नाराजगी जताई। उन्होंने भी प्रदेशाध्यक्ष पायलट को पत्र लिखकर ब्लॉक अध्यक्ष विरेंद्र सिंह पंवार को हटाने की मांग की।

इधर समानांतर कार्यक्रम की तैयारी : ब्यावर में अजय शर्मा के ब्लॉक अध्यक्ष की ताजपोशी को लेकर भी एक खेमा अब तक नाराज है। यही वजह है कि वह अब पीसीसी के इस निर्णय के विरोध में कांग्रेस की ओर से आयोजित होने वाले कार्यक्रम को समानांतर चलाकर अपनी नाराजगी प्रकट करने की मंशा रखता है। इन परिस्थितियों में यदि नवनिर्वाचित ब्लॉक अध्यक्ष अजय शर्मा ऐसे सभी रूठे कार्यकर्ताओं को एक जाजम पर बैठाने में कामयाब नहीं होते हैं तो उन्हें विरोध और समानांतर कार्यक्रम का सामना करना पड़ सकता है। जो अजय शर्मा के साथ विधानसभा चुनाव में टिकट की दावेदारी जताने वालों या फिर टिकट पाने वाले के लिए भी परेशानी का कारण बन सकते हैं।