--Advertisement--

ऑक्सीजन सक्शन प्लांट साल भर से खराब

राजकीय अमृतकौर अस्पताल की मुख्य बिल्डिंग में सेंट्रलाइज ऑक्सीजन प्लांट एक साल से खराब पड़ा है लेकिन प्लांट को ठीक...

Dainik Bhaskar

May 23, 2018, 03:30 AM IST
ऑक्सीजन सक्शन प्लांट साल भर से खराब
राजकीय अमृतकौर अस्पताल की मुख्य बिल्डिंग में सेंट्रलाइज ऑक्सीजन प्लांट एक साल से खराब पड़ा है लेकिन प्लांट को ठीक करवाने में अस्पताल के नियम ही बाधक बने हुए हैं। नियमों के अनुसार निविदा में कम से कम तीन निविदाएं आने और उसमें से कम दरों पर बेहतर काम करने वाली संस्था को ठेका दिया जा सकता है। लेकिन एक ही निविदा आने के कारण अब अस्पताल प्रबंधन उक्त कार्य को नहीं करवा सकता है।

अस्पताल प्रबंधन द्वारा निकाले गए टेंडर के बाद सिर्फ एक अहमदाबाद की फर्म कॉमपॉवर इक्यूमेंट एंड स्पेयर्स ने सर्वे करने के बाद 80 हजार रुपए का एस्टीमेट बना कर दिया। एमआरएस मीटिंग में भी इस प्रस्ताव पर सहमति बनती दिखी। लेकिन नियमाें के कारण सेंट्रलाइज ऑक्सीजन सक्शन प्लांट जल्द ठीक होता नहीं दिख रहा है। गौरतलब है कि अहमदाबाद की उक्त फर्म ने पूर्व में भी उक्त प्लांट की मरम्मत की थी। लेकिन उस समय कम बजट में कार्य हो गया था। ज्ञात रहे कि राजकीय अमृतकौर अस्पताल के सीसीयू और ट्रॉमा आईसीयू युनिट का ऑक्सीजन सक्शन प्लांट लंबे अर्से से बंद पड़ा है। ऐसे में मरीजों के साथ ही नर्सिंग कर्मियों को भी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। संक्रमण के खतरे के बीच मरीजों को उपचार लेना पड़ रहा है। सीसीयू युनिट में मरीजों को ऑक्सीजन सिलेंडर के सहारे है। इतना ही नहीं लाखों की लागत से लगे प्लांट में सक्शन प्लांट भी जाम हो रखा है। जिस कारण मरीज मैन्यूअल सक्शन के भरोसे हैं।

अधिकतर पार्टस होंगे चेंज

ट्रॉमा और सीसीयू वार्ड की पाइप लाइन कई साल पुरानी है। जिस कारण पहले पूरी लाइन की टेस्टिंग की जाएगी। पूरा टेस्टिंग फिर सक्शन और ऑक्सीजन की पाइन लाइन के अधिकतर पार्टस चैंज होंगे क्योंकि कंपनी बंद होने के कारण पार्ट्स मार्केट में उपलब्ध नहीं है। वहीं कुछ स्थानों पर एक्स्ट्रा प्वाइंट भी लगाए जाने है। एकेएच के ऊपर के वार्ड में ऑलरेडी नया प्लांट लगा हुआ है हालांकि वो वर्किंग कंडीशन में है लेकिन लंबे अर्से से उसे काम में नहीं लिए जाने के कारण उसकी जरनल सर्विस ऑयलिंग की जानी है।

खतरे में है मरीज : प्लांट के खराब हाेेने के कारण सीसीयू वार्ड में मरीजों को सिलेंडर के सहारे ऑक्सीजन दी जा रही है। हाल ही में सीसीयू वार्ड में मरीज को ऑक्सीजन के लिए सिलेंडर लगाया गया। लेकिन सिलेंडर के लीक होने से वार्ड में अफरातफरी मच गई। ये तो गनीमत रही कि काेई हादसा नहीं हुआ। एकेएच के ट्रॉमा, आईसीयू वार्ड में लगा ऑक्सीजन प्लांट कई स्थानों से लीक हो रखा है।

एकेएच

नियमों के अनुसार टेंडर में कम से कम तीन फर्म का आनी जरूरी, सिंगल के टेंडर भरने से बढ़ी परेशानी

ब्यावर. खराब पड़ा ऑक्सीजन प्लांट।

X
ऑक्सीजन सक्शन प्लांट साल भर से खराब
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..