• Hindi News
  • Rajasthan
  • Beawar
  • दो साल बाद 14 जीएसएस की कमान फिर डिस्कॉम के हाथ में
--Advertisement--

दो साल बाद 14 जीएसएस की कमान फिर डिस्कॉम के हाथ में

Dainik Bhaskar

May 26, 2018, 03:30 AM IST

Beawar News - अजमेर डिस्कॉम की ओर से ब्यावर विद्य‌ुत वितरण निगम के अंतर्गत लंबे समय से पेश आ रही तकनीकी कर्मचारियों के चलते वर्ष...

दो साल बाद 14 जीएसएस की कमान फिर डिस्कॉम के हाथ में
अजमेर डिस्कॉम की ओर से ब्यावर विद्य‌ुत वितरण निगम के अंतर्गत लंबे समय से पेश आ रही तकनीकी कर्मचारियों के चलते वर्ष 2016 में ब्यावर डिवीजन के लगभग 14 जीएसएस की कमान निजी हाथों में सौंप दी गई थी। इसके बाद निजी कंपनी की ओर से ग्रामीण क्षेत्रों के इन 14 जीएसएस का रखरखाव किया जा रहा था। अब निजी कंपनी का ठेका समाप्त होने के बाद एक बार फिर से निजी हाथों में गए सभी जीएसएस निगम के अधिकार में आ गए हैं। जिसके बाद अब फिर से निगम स्तर पर ही जीएसएस के रखरखाव का कार्य किया जाएगा। परंतु अभी तक डिस्कॉम की ओर से ब्यावर डिवीजन में जरूरत के मुताबिक तकनीकी कर्मचारियों की भर्ती नहीं किए जाने से निगम के सामने समस्या जस की तस बनी हुई है। ब्यावर विद्युत वितरण निगम के अंतर्गत पिछले कुछ सालों में उपभोक्ताओं की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। बढ़ते शहर के साथ उपभोक्ताओं की संख्या में हो रही बढ़ोतरी के चलते निगम में कार्यरत कर्मचारियों व अधिकारियों पर कार्य का दबाव बढ़ता जा रहा है। वहीं, डिस्कॉम की ओर से ब्यावर विद्युत वितरण निगम में पिछले लंबे समय से रिक्त पदों पर कर्मचारियों को नियुक्त नहीं करने के चलते कार्यरत तकनीकी व मंत्रालयिक कर्मचारियों पर कार्य का दबाव बढ़ रहा है। शहर के गोविंदपुरा, गढ़ी थोरियान, जवाजा व मसूदा सहित कई ग्रामीण इलाकों में निगम की तरफ से जीएसएस स्थापित कर दिए गए लेकिन कर्मचारियों व सुरक्षा गार्डों के अभाव के चलते जीएसएस पर सुरक्षा को लेकर कोई उचित व्यवस्था नहीं की गई है। अधिकारियों के जीएसएस पर नहीं बैठने के चलते क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले विद्युत उपभोक्ताओं को कई किलोमीटर दूर शहर में आना पड़ता है जिससे असुविधा होती है।

2016 में निजी हाथों में सौंपे थे जीएसएस : डिस्कॉम की ओर से 2016 में तकनीकी कर्मचारियों की कमी के चलते ब्यावर विद्य‌ुत वितरण निगम के लगभग 14 जीएसएस को निजी हाथों में सौंप दिया गया था। अब निजी कंपनी का ठेका समाप्त होने के कारण निजी हाथों में सौंपे गए जीएसएस के रख-रखाव की जिम्मेदारी निगम के हाथों में सौंप दी गई है।

X
दो साल बाद 14 जीएसएस की कमान फिर डिस्कॉम के हाथ में
Astrology

Recommended

Click to listen..