Hindi News »Rajasthan »Beawar» भामाशाह योजना: प्रदेश में फिसला एकेएच 6 माह में आखिरी 11 स्थान पर आया

भामाशाह योजना: प्रदेश में फिसला एकेएच 6 माह में आखिरी 11 स्थान पर आया

आर्थिक रूप से कमजोर लोगों को उच्च स्तरीय स्वास्थ्य सुविधाएं मुहैया करवाने के मकसद से शुरू की गई भामाशाह...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 26, 2018, 03:30 AM IST

भामाशाह योजना: प्रदेश में फिसला एकेएच 6 माह में आखिरी 11 स्थान पर आया
आर्थिक रूप से कमजोर लोगों को उच्च स्तरीय स्वास्थ्य सुविधाएं मुहैया करवाने के मकसद से शुरू की गई भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत अमृतकौर अस्पताल पिछले 6 माह में काफी पिछड़ गया है। स्थिति ये है कि योजना के तहत कभी प्रदेश के पहले 12 स्थानों में शामिल रहा राजकीय अमृतकौर अस्पताल पिछले 6 माह में आखिरी 11 में आ गया है। जयपुर में हुई वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में प्रिंसीपल हैल्थ सेक्रेट्री ने ब्यावर और अलवर में कार्य कर रहे भामाशाह स्वास्थ्य मार्गदर्शकों की संख्या कम करने के निर्देश दिए हैं।

एकेएच प्रबंधन द्वारा भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत एकेएच में कार्यरत 7 भामाशाह स्वास्थ्य बीमा मार्गदर्शक में से 3 को हटाने की कवायद शुरू कर दी गई है। पीएमओ डॉ. एमके जैन ने बताया कि वर्तमान में निदेशालय से 5 मार्गदर्शक और 2 मार्गदर्शक एमआरएस के तहत लगाए गए हैं। जून में भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत ब्यावर एकेएच में रिस्ट्रेसिंग की जाएगी।

5 माह में महज 6 लाख के पास हुए बिल

दस्तावेजों में कमी और समय पर टीआईडी जनरेट नहीं करने के कारण कई मरीजों की इंश्योरेंस बीमा को कंपनी ने रिजेक्ट कर दिया। स्थिति ये रही कि पिछले पांच माह में मेडिकेयर रिलीफ सोसायटी को भामाशाह के तहत महज 6 लाख की आय हुई है। पीएचएस ने एकेएच प्रबंधन को निर्देश दिए है कि प्रदेश में कई स्थानों पर एकेएच से कम भामाशाह स्वास्थ्य मार्गदर्शक कार्य कर रहे हैं लेकिन वहां कार्य बेहतर हो रहा है और अस्पताल को अधिक आय हो रही है। इस कारण एकेएच में कार्यरत स्वास्थ्य बीमा मार्गदर्शकों की संख्या कम कर दी जाए। ऐसे स्वास्थ्य बीमा मार्गदर्शक को हटा दिया जाए जो कार्य नहीं कर रहे हैं।

इंडोर टिकट बनाने वाला ही जनरेट करेगा टीआईडी

पीएमओ डॉ. एमके जैन ने बताया कि वर्तमान में नाइट में एक भामाशाह स्वास्थ्य बीमा मार्गदर्शक ड्यूटी पर रहता है, लेकिन पूरी रात में महज 2 से 5 मरीजों की टीआईडी ही जनरेट हो रही है। ऐसे में रात में आउटडोर और इंडोर स्लिप काटने वाले कम्प्यूटर ऑपरेटर को ही टीआईडी जनरेट करने का प्रशिक्षण दिया जाएगा।

इनका कहना है

भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत एकेएच का पिछले 5 माह में सबसे खराब प्रदर्शन रहा है। दिसंबर से मई के पहले पखवाड़े तक महज 6 लाख रुपए के क्लेम पास हुए हैं। वर्तमान में भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत एकेएच नीचे से सबसे नीचे 11 नंबरों में से हैं। डॉ. एमके जैन, पीएमओ, एकेएच

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Beawar News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: भामाशाह योजना: प्रदेश में फिसला एकेएच 6 माह में आखिरी 11 स्थान पर आया
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Beawar

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×