Hindi News »Rajasthan »Beawar» हाइटेक होंगे दो सौ से ज्यादा प्रधान डाकघर, ब्यावर आई 217 डिवाइस

हाइटेक होंगे दो सौ से ज्यादा प्रधान डाकघर, ब्यावर आई 217 डिवाइस

प्रधान डाकघर ब्यावर के अधीन कार्यरत 200 से अधिक ग्रामीण डाकघर शीघ्र हाइटेक होने जा रहे हैं। इसके लिए ब्यावर प्रधान...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jun 06, 2018, 03:30 AM IST

हाइटेक होंगे दो सौ से ज्यादा प्रधान डाकघर, ब्यावर आई 217 डिवाइस
प्रधान डाकघर ब्यावर के अधीन कार्यरत 200 से अधिक ग्रामीण डाकघर शीघ्र हाइटेक होने जा रहे हैं। इसके लिए ब्यावर प्रधान डाकघर में 217 हैंड हेनडल्ड डिवाइस आ गई है। डाक सेवकों की हड़ताल समाप्त होते ही इस डिवाइस को ग्रामीण डाकघरों में भिजवाया जाएगा जहां से ग्रामीण डाकसेवकों को वितरित किया जाएगा और इन्हें चलाने का प्रशिक्षण दिया जाएगा। ये डाकसेवक विभिन्न गांवों में घर-घर ‘खत’ पहुंचाने के साथ पैसे भी लाएंगे और जमा भी कराएंगे। कोर बैंकिंग सर्विस से जुड़े ब्यावर प्रधान डाकघर के अधीन 217 ग्रामीण डाकघर इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक में बदल जाएंगे। इसी के साथ डाकिये का कार्य भी बदल जाएगा। मतलब वह चलता फिरता एटीएम होगा। इनके मूवमेंट से लेकर सारा काम बस एक क्लिक पर सामने होगा। संचार मंत्रालय के रूरल इन्फार्मेशन कम्युनिकेशन टेक्नोलॉजी (आरआइसीटी) योजना के तहत जल्द ही ब्यावर प्रधान डाकघर के अधीन सभी डाकसेवकों को आरआईसीटी से जोड़ा जाएगा। इससे सुदूर गांवों में भी स्पीड पोस्ट, रजिस्ट्री पत्र की डिलीवरी और बचत खातों में जमा की जाने वाली राशि का पूरा विवरण तुरंत संबंधित पोस्ट ऑफिस के कंप्यूटर स्क्रीन पर होगा। ब्यावर प्रधान डाकघर से जल्द ही इसकी शुरुआत होने वाली है।

ऑनलाइन होगी लोकेशन : आरआईसीटी में डाकसेवकों को खास तरह की हैंड डिवाइस से लैस किया जाएगा। करीब 1 लाख 40 हजार रुपए की ये डिवाइस मोबाइल सिम की तरह कार्य करेगी। मेन कंप्यूटिंग डिवाइस देखने में तो बस के कंडक्टर के हाथ में होने वाली डिवाइस जैसी ही है, लेकिन इसकी कई खूबियां हैं। जीपीएस लगा होने से दूर पोस्ट ऑफिस में बैठे अधिकारी को डाकसेवकों की लोकेशन मिलती रहेगी। डाक सेवकों द्वारा पोस्ट के डिलीवरी में बरती जाने वाली लापरवाही पर रोक लगेगी। खाताधारक जमा की गई राशि या फिर स्पीड पोस्ट डिलीवरी का समय हैंड डिवाइस में दर्ज करते ही इंट्री और डिलिवरी का समय तुरंत देश के किसी कोने में भी बैठे देख सकेगा।

हेंड हेडल्ड डिवाइस

मोबाइल एटीएम की तरह कार्य करेगा डिवाइस

डाकघर अधीक्षक ब्यावर आरएल बालोटिया ने बताया कि डाकियों के हाथों में रहने वाली मेन कंप्यूटिंग डिवाइस में सिम लगा होने तथा अलग पिन पैड से डाकघर के खाताधारक घर बैठे इसका प्रयोग एटीएम की तरह कर सकेंगे। खाताधारक को डिवाइस में कार्ड स्क्रैच करने के बाद पिनपैड पर पिन नंबर डायल करना होगा। प्रक्रिया पूरी होते ही डाकिया रकम अदा कर देगा।

डाक सेवकों की मनमानी पर लगेगी लगाम

गांवों के डाकियों द्वारा घर बैठ दूसरे से काम कराने या फिर जब मन आया तब डाक बांटने की शिकायतें आती रहती है। खाताधारकों द्वारा जमा की गई नगदी भी नहीं मिलने के मामले सामने आते रहे हैं। इस प्रोजेक्ट के शुरू होने पर डाक सेवकों की मनमर्जी पर नियंत्रण करने में विभाग को सहूलियत होगी। झूठ बोल कर फील्ड में रहने का बहाना बनाने वाल डाकियों पर पूरी तरह रोक लग जाएगी।

हैंड होल्ड डिवाइस से लैस होंगे डाकसेवक

कैश जमा करने में सुविधा डिवाइस से फील्ड में किसी भी स्थान पर पोस्ट ऑफिस से जुड़ी सेवा ली जा सकेगी। इसमें मनी आर्डर की बुकिंग, डिलिवरी, स्पीड पोस्ट, बचत जमा खाता, आवृत्ति जमा खाता की जानकारी लेकर जमा राशि आसानी से भेजी जा सकती है। इसके अलावा सब डिविजनल कार्यालयों में डाकपाल को रिपोर्ट देने की जरूरत नहीं होगी।

सोलर सिस्टम से होंगे चार्ज

ब्यावर प्रधान डाकघर के अधीन 205 ब्रांच डाकघर है। डाकघर उपाधीक्षक विजय सिंह जैन ने बताया कि 205 डाकघरों के लिए 217 हैंड हेनडल्ड डिवाइस आई है। उन्होंने बताया कि ये हैंड हेनडल्ड डिवाइस सोलर प्लेट से अटैच होंगे। इससे ये सौर ऊर्जा से चार्ज होगी। जैन ने बताया कि विभाग द्वारा 10 प्रतिशत मशीन एक्स्ट्रा आई है ताकि अगर कोई मशीन खराब हो जाए तो उसे तुरंत बदला जा सके।

ब्यावर प्रधान डाकघर में 217 हैंड हेनडल्ड डिवाइस आ चुकी है। जल्द ही इन्हें ब्रांच डाकघरों में डाक सेवकों को वितरित कर दिया जाएगा। इससे हर कार्य ऑनलाइन होगा और पारदर्शिता आएगी। आरएल बालोटिया, डाकघर अधीक्षक, ब्यावर

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Beawar

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×