--Advertisement--

श्रीकृष्ण-रुक्मिणी विवाह की सजी झांकी

ब्यावर| स्थानीय ज्ञानचंद सिंहल ने में आयोजित कराई जा रही श्रीमद भागवत कथा सप्ताह के छठे दिन कथा परीक्षित भागचंद...

Dainik Bhaskar

Jun 13, 2018, 03:30 AM IST
श्रीकृष्ण-रुक्मिणी विवाह की सजी झांकी
ब्यावर| स्थानीय ज्ञानचंद सिंहल ने में आयोजित कराई जा रही श्रीमद भागवत कथा सप्ताह के छठे दिन कथा परीक्षित भागचंद चौहान की ओर से व्यास पीठ पर विराजित आशुतोष शास्त्री महाराज का पूजन व माल्यार्पण किया गया। इस दौरान कथा में उपस्थित श्रद्धालुओं संबोधित करते हुए महाराज ने कहा कि समस्त इंद्रियों का मूल स्त्रोत परमात्मा है, फिर भी वह इंद्रियों से रहित है। वह प्रकृति के गुणों से परे है फिर भी वे भौतिक प्रकृति समस्त गुणों के स्वामी हैं। उन्होंने कहा कि परमात्मा समस्त जीवों के मध्य विभाजीत है लेकिन वह कभी भी विभाजित नहीं है। रासलीला में जितनी गोपियां होती हैं उतने ही श्रीकृष्ण भगवान के दर्शन होते हैं। इस दौरान रासलीला का सुंदर वर्णन किया व भगवान श्रीकृष्ण-रुक्मिणी विवाह के सुंदर दर्शन कर बारात निकाली गई। कथा के अंत में भागचंद चौहान परिवार की ओर से प्रसाद का वितरण किया गया। इस दौरान केसरीमल चौहान,काशीराम चौहान, भागचंद चौहान, गणपत सर्राफ, प्रकाश गुप्ता, मन्नामल, लता पाराशर, प्रकाश आर्य सहित अन्य मौजूद रहे।

X
श्रीकृष्ण-रुक्मिणी विवाह की सजी झांकी
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..