Hindi News »Rajasthan »Beawar» बिजली के कनेक्शन के लिए अब नहीं देना हाेगा एल फार्म

बिजली के कनेक्शन के लिए अब नहीं देना हाेगा एल फार्म

विद्य‌ुत वितरण निगम ने हाल ही में आदेश जारी कर विद्य‌ुत कनेक्शन के लिए आवेदन करते वक्त लगने वाले एल फॉर्म (लाइट...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 22, 2018, 03:35 AM IST

बिजली के कनेक्शन के लिए अब नहीं देना हाेगा एल फार्म
विद्य‌ुत वितरण निगम ने हाल ही में आदेश जारी कर विद्य‌ुत कनेक्शन के लिए आवेदन करते वक्त लगने वाले एल फॉर्म (लाइट फिटिंग सर्टिफिकेट) की अनिवार्यता को पूरी तरह से समाप्त कर दिया गया है। अब आवेदक को एल फॉर्म के स्थान पर स्वयं के हस्ताक्षरयुक्त स्व-घोषित प्रमाण पत्र आवेदन के साथ जमा कराना होगा। निगम की ओर से जारी आदेशों के बाद ग्रामीण क्षेत्र के उपभोक्ताओं को काफी राहत मिलेगी इसके साथ ही एल फार्म के लिए ठेकेदार की ओर से की जाने वाली मनमानी अब नहीं चल पाएगी। निगम में विद्य‌ुत कनेक्शन के लिए आवेदन करते वक्त उपभोक्ता को आवेदन फार्म के साथ ‘एल फार्म‘ अनिवार्य रूप से लगाना पड़ता था। जिसमें निगम के अधिकृत ‘अ‘ श्रेणी के ठेकेदार की ओर से आवेदक की ओर से उपयोग में लिए जाने वाले कुल वोल्टेज, सप्लाई सिस्टम सहित उपभोक्ता की ओर से लगाए गए लाइट पॉइंट, प्लग पॉइंट, मोटर्स, अर्थिंग, लाइनों के तकनीकी तौर पर दुरुस्त होने की घोषणा करनी होती थी। आवेदनकर्ता की ओर से बगैर एल फॉर्म दिए विद्य‌ुत कनेक्शन के लिए आवेदन करने पर आवेदन कर्ता को कनेक्शन नहीं दिया जाता था।

एल फार्म की अनिवार्यता समाप्त

विद्य‌ुत वितरण निगम की ओर से जारी आदेशों के मुताबिक विद्य‌ुत कनेक्शन के आवेदन के साथ लगाए जाने वाले एल फार्म की अनिवार्यता को पूरी तरह समाप्त कर दिया गया है। उपभोक्ता को अब एल फार्म के स्थान स्वंय के हस्ताक्षरयुक्त स्व-घोषित प्रमाण पत्र उपलब्ध कराना होगा। -दिनेश सिंह, अधिशाषी अभियंता,विद्य‌ुत वितरण निगम,ब्यावर

मनमानी राशि वसूलता था विद्य‌ुत ठेकेदार

आवेदक को एल फॉर्म निगम के ‘अ‘ श्रेणी के ठेकेदार से प्राप्त करना होता था। निगम अपने स्तर पर यह फार्म उपभोक्ता काे उपलब्ध नहीं करता था। इसी कारण संबंधित ठेकेदार आवेदनकर्ता से एल फॉर्म के नाम पर मनमानी राशि वसूल करता था। आवेदक पर बेवजह का आर्थिक भार बढ़ जाता था। विद्य‌ुत वितरण निगम के अधिकारियों को पिछले लंबे समय से एल फार्म (लाइट फीटिंग सर्टिफिकेट) के नाम पर निगम की ओर से अधिकृत ‘अ‘ श्रेणी का ठेकेदार की ओर से आ‌वेदन कर्ताओं से मोटी राशि वसूले जाने की शिकायतें मिल रही थीं।

दो हजार से कम आबादी में बदला था नियम

विद्य‌ुत वितरण निगम की ओर से कुछ दिनों पूर्व आदेशों जारी कर घरेलू विद्य‌ुत कनेक्शन के लिए आवेदन करने के वक्त एल फॉर्म (लाइट फिटिंग सर्टिफिकेट) की अनिवार्यता दो हजार से कम आबादी वाले ग्रामीण क्षेत्रों में ही खत्म की गई थी। जिसके बाद अब निगम ने शहरी व ग्रामीण किसी भी क्षेत्र में विद्य‌ुत कनेक्शन के लिए आवेदन करते वक्त एल फार्म की अनिवार्यता को समाप्त कर दिया है।

एल फार्म मांगे जाने पर होगी कार्यवाही

विद्युत वितरण निगम के अधिकारियों ने बताया कि अगर उपभोक्ता से निगम का कोई भी कर्मचारी व अधिकारी आवेदन के साथ एल फार्म मांगता है तो ऐसे मामले संबंधित अधिकारी पर नियमानुसार कार्यवाही की जाएगी। गौरतलब है कि कनेक्शन के लिए आवेदन करने पर एल फार्म उपलब्ध कराने के लिए निगम के ठेकेदारों की ओर से उपभोक्ता के साथ मनमानी राशि वसूली जाती थी।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Beawar

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×