• Hindi News
  • Rajasthan
  • Beawar
  • इस वर्ष भी विद्यार्थियों को छात्रावास में प्रवेश नहीं
--Advertisement--

इस वर्ष भी विद्यार्थियों को छात्रावास में प्रवेश नहीं

सनातन धर्म राजकीय महाविद्यालय के दो वर्ष से जर्जर अवस्था में पड़े छात्रावास की स्थिति में सुधार नहीं होने के कारण...

Dainik Bhaskar

May 24, 2018, 03:35 AM IST
इस वर्ष भी विद्यार्थियों को छात्रावास में प्रवेश नहीं
सनातन धर्म राजकीय महाविद्यालय के दो वर्ष से जर्जर अवस्था में पड़े छात्रावास की स्थिति में सुधार नहीं होने के कारण इस वर्ष भी विद्यार्थियों को इसमें प्रवेश नहीं दिया जाएगा। ऐसे में नए सत्र में दूर दराज के क्षेत्रों से प्रवेश लेने वाले विद्यार्थियों को इस बार भी शहर में अधिक दामों पर किराये पर कमरा लेकर रहना होगा।

जबकि छह माह पहले ही निदेशालय ने छात्रावास को दुरस्त करवाने या पुन: निर्माण करवाने के लिए कॉलेज प्रशासन से छात्रावास की फोटो सहित रिपोर्ट मांगी थी। लेकिन अब तक बजट नहीं आने के कारण छात्रावास बंद पड़ा है। जबकि एक जून से प्रवेश प्रक्रिया शुरू होने वाली है। कॉलेज के अधिकारियों ने बताया कि पूर्व में निदेशालय से विडियों कॉन्फ्रेसिंग के माध्यम से हुई बैठक में प्राचार्य ने छात्रावास की स्थिति बताने के साथ ही पीडब्ल्यूडी की ओर ओर छात्रावास को रहने लायक नहीं मानने की रिपोर्ट बताने के साथ छात्रावास की जर्जर अवस्था को सुधारने के लिए बजट आवंटन किए जाने की भी बात कही थी। जिसके बाद निदेशालय ने इस संबध में कॉलेज छात्रावास की स्थिति रिपोर्ट मय फोटो सहित भेजने के आदेश दिए थे। जहां कॉलेज प्रशासन ने छात्रावास के प्रत्येक कमरों, छात्रावास के बाहर की स्थिति,छत की पटि्टयों आदि की करीब 40 फोटों व पीडब्ल्यूडी की रिपोर्ट भेजी थी। जहां छात्रावास की स्थिति को देखने के बाद ही निदेशालय ने छात्रावास को रहने लायक नहीं मानते हुए छात्रावास को खाली कराने के साथ ही छात्रावास में कार्य करवाने के बाद ही विद्यार्थियों को प्रवेश दिए जाने के आदेश दिए थे। जिसके लिए महाविद्यालय प्रशासन ने निदेशालय को बजट आवंटन किए जाने के लिए पत्र भी भेजा हुआ है। ऐसे में बजट आने के बाद ही छात्रावास की स्थिति को सुधारने के लिए कार्य शुरू हो सकेगा।

पीडब्ल्यूडी ने पहले ही सौंप दी थी रिपोर्ट

सनातन धर्म राजकीय महाविद्यालय के छात्रावास में कॉलेज प्रशासन ने छात्रावास में रहने वाले विद्यार्थियों की सुरक्षा को लेकर हॉस्टल का रिनोवेशन कार्य करवाने के लिए सार्वजनिक निर्माण विभाग कार्यालय को कहा था। जहां सार्वजनिक निर्माण के अधिकारियों ने हॉस्टल का निरीक्षण करने के बाद हॉस्टल को असुरक्षित मानते हुए इसे रहने लायक नहीं माना था। जिसके बाद निदेशालय के आदेश पर हॉस्टल को पूर्ण रूप से खाली करवा दिया गया था।

कॉलेज प्रशासन के अधिकारियों ने बताया कि हॉस्टल को दुरस्त करवाने के लिए निदेशालय को करीब 25 लाख रुपए के बजट की मांग की गई है। जहां बजट मिलने के बाद ही हॉस्टल में कार्य करवाने के बाद ही विद्यार्थियों को प्रवेश दिया जाएगा। ऐसे में जब तक हॉस्टल दुरस्त नहीं होता तब तक विद्यार्थियों को स्वंय के स्तर पर ही रहने की व्यवस्था करनी होगी।

इनका कहना है...


X
इस वर्ष भी विद्यार्थियों को छात्रावास में प्रवेश नहीं
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..