• Hindi News
  • Rajasthan
  • Beawar
  • डिवीजन के 237 ट्रांसफार्मर के चारों ओर प्रोटेक्शन दीवार बनाने के लिए निगम को नहीं मिल रहे भामाशाह
--Advertisement--

डिवीजन के 237 ट्रांसफार्मर के चारों ओर प्रोटेक्शन दीवार बनाने के लिए निगम को नहीं मिल रहे भामाशाह

प्रदेश में कई स्थानों पर ट्रांसफार्मर से प्रवाहित होने वाले करंट की चपेट में आने से आए दिन जान-माल के नुकसान की...

Dainik Bhaskar

May 14, 2018, 03:40 AM IST
डिवीजन के 237 ट्रांसफार्मर के चारों ओर प्रोटेक्शन दीवार बनाने के लिए निगम को नहीं मिल रहे भामाशाह
प्रदेश में कई स्थानों पर ट्रांसफार्मर से प्रवाहित होने वाले करंट की चपेट में आने से आए दिन जान-माल के नुकसान की घटनाओं को दूर करने के लिए अजमेर विद्य‌ुत वितरण निगम की ओर से खतरा संभावित ट्रांसफार्मर के चारों तरफ भामाशाहों की मदद से प्रोटेक्शन दिवार बनाए जाने की योजना बनाई गई थी। परंतु अब तक किसी भी भामाशाह की ओर से योजना के तहत बाउंडरी बनाए जाने के लिए आगे नहीं आने के चलते ब्यावर डिवीजन में योजना शुरु होने के काफी समय बाद भी अब तक सीएसडी सैकंड के गिने-चुने ट्रांसफार्मर के चारों ओर ही प्रोटेक्शन दीवार बन पाई है। इसके अलावा शहर के किसी भी भामाशाह व सामाजिक संगठन ने अब तक ट्रांसफार्मर के चारों ओर प्रोटेक्शन दिवार बनाए जाने के लिए निगम से संपर्क नहीं किया है जिसके कारण निगम की योजना मूर्तरुप नहीं ले पा रही है।

ब्यावर डिवीजन के अधिकारियों की ओर से अब भी ऐसे भामाशाहों व सामाजिक संगठनों की तलाश की जा रही है जो ट्रांसफार्मर के चारों और बाउंडरी करा सके। जिससे ट्रांसफार्मर से प्रवाहित होने वाले करंट की चपेट आने से होने वाली दुर्घटनाओं की संभावनाओं को दूर किया जा सके।

अजमेर डिस्कॉम ने शुरू की थी कवायद

सर्वे में चिह्नित किए कुल 237 ट्रांसफार्मर

ब्यावर विद्य‌ुत वितरण निगम की ओर से अपने पांचो सब-डिवीजन में किए गए सर्वे में दुर्घटना संभावित लगभग 237 ट्रांसफार्मर को चिंहित किया गया था । इनमें सीएसडी फर्स्ट में 80, सीएसडी द्वितीय में 78, रिको सब-डिवीजन में 34, जवाजा सब-डिवीजन में 15 व मसूदा सब-डिवीजन में लगभग 30 ट्रांसफार्मर चिंहित किए गए हैं जहां पर हर वक्त दुर्घटना की संभावना बनी रहती है।

भामाशाहों से किया जा रहा संपर्क

डिस्कॉम के निर्देशों के बाद निगम की ओर से चिंहित किए गए ट्रांसफार्मर के चारों तरफ बाउंडरी करवाए जाने के लिए लगातार भामाशाहों से संपर्क किया जा रहा है। इसके अलावा अगर कोई भामाशाह या सामाजिक संगठन निगम के इस कार्य में सहयोग करना चाहता है तो वह खुद भी सहायक अभियंता कार्यालय में संपर्क कर ट्रांसफार्मर के चारों तरफ बाउंडरी बनवाए जाने में सहयोग कर सकेगा।

बाउंड्री होने पर मिलेगी अतिक्रमण से निजात

शहर में कई स्थानों पर स्थापित ट्रांसफार्मर के नीचे लोगों ने अवैध तरीके से व्यापार करना शुरु कर दिया गया है। निगम की ओर से समय-समय पर कार्रवाई कर ऐसे लोगों को ट्रांसफार्मर के नीचे से हटाया जाता है। निगम की ओर से हटाने के कुछ दिनों बाद लोग फिर से ट्रांसफार्मर के नीचे व्यापार करना शुरु कर देते हैं। ट्रांसफार्मर पर बाउंडरी करने के बाद होने वाले अतिक्रमण से निजात मिलेगी।

सीएसडी सेकंड में आगे आए भामाशाह

ब्यावर डिवीजन के सीएसडी सैकंड में भामाशाह ने आगे आकर निगम की ओर से चिंहित किए गए ट्रांसफार्मर पर प्रोटेक्शन दिवार बनाने में मदद की बात रखी। जिसके बाद शहर के सेदरिया क्षेत्र में भामाशाह की मदद से कुछ ट्रांसफार्मर के चारों तरफ प्रोटेक्शन दिवार बनाने में निगम को आर्थिक मदद उपलब्ध कराई। इसके अलावा शहर में किसी भी व्यक्ति या सामाजिक संगठन की ओर से शहर के खतरे वाले स्थानों के ट्रांसफार्मर बनाने में आर्थिक मदद उपलब्ध कराए जाने में पहल नहीं की।

X
डिवीजन के 237 ट्रांसफार्मर के चारों ओर प्रोटेक्शन दीवार बनाने के लिए निगम को नहीं मिल रहे भामाशाह
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..