--Advertisement--

मेले व मोहर्रम पर रहेगी कैमराें से नजर

आगामी तेजा मेले और मोहर्रम पर कानून एवं शांति व्यवस्था बनाए रखने को लेकर पुलिस प्रबंधन ने कमर कस ली है। मेले के...

Danik Bhaskar | Sep 13, 2018, 03:40 AM IST
आगामी तेजा मेले और मोहर्रम पर कानून एवं शांति व्यवस्था बनाए रखने को लेकर पुलिस प्रबंधन ने कमर कस ली है। मेले के दौरान किसी भी प्रकार की गड़बड़ी करने वाले को छोडा नहीं जाएगा। इसी कारण पूरे मेले के दौरान पुलिस प्रबंधन द्वारा सीसीटीवी कैमरों के अलावा दो दर्जन से अधिक नॉर्मल हेंडी कैम और हिडन केम भी लगाए जाएंगे। सिटी थाना प्रभारी रविंद्र सिंह डारा ने बताया कि शहर की कानून और शांति व्यवस्था को बनाए रखने के लिए पुलिस द्वारा पुख्ता सुरक्षा प्रबंध किए जाएंगे। अजमेर पुलिस लाइन के साथ ही अन्य थानों से जाब्ता बुलवाया गया है साथ ही आरएसी की एक कंपनी तो मेले में तैनात रहेगी और एक कंपनी को आपातकाल के लिए तैयार रहने के निर्देश दिए गए हैं।

हर शख्स पर रहेगी नजर

गत वर्ष तेजा मेले और मोहर्रम के दौरान कुछ स्थानों पर मामूली विवाद हुए थे। इस कारण पुलिस इस बार कोई कसर नहीं छोड़ना चाहती। तेजा मेले में जहां मेले का सीधा प्रसारण करवाया जाएगा तो वहीं कई स्थानों पर पुलिस द्वारा खुद भी कैमरे लगाए जा रहे हैं। इसके साथ ही सादी वर्दी में पुलिस जवानों के साथ ही हाड़ा रानी बटालियन भी तैनात की जाएगी। मोहर्रम के दौरान भी मोहर्रम के पूरे मार्ग के साथ ही संवेदनशील स्थानों पर सीसीटीवी कैमरों के साथ ही हिडन कैमरे भी लगाने का काम शुरू कर दिया गया है।

किया जाएगा पाबंद : सिटी थाना प्रभारी रविंद्र प्रताप डारा ने बताया कि गत वर्ष मोहर्रम के दौरान हुए तनाव को देखते हुए लोगों की पहचान कर उन्हें पाबंद किया जाएगा। इसके साथ ही असमाजिक तत्वों की पहचान कर उनके खिलाफ कार्रवाई शुरू कर दी गई है।

तालाब की पाल पर भी लगेंगी दुकानें, पुरस्कार राशि भी बढ़ाई

ब्यावर | तीन दिवसीय ऐतिहासिक तेजा मेला की तैयारियों को लेकर बुधवार को नगर परिषद में सभापति शशिबाला सोलंकी कअध्यक्षता में बैठक हुई। इसमें तेजा मेला समिति सदस्यों तथा परिषद के विभागीय अधिकारियों ने भाग लिया। इस अवसर पर मेला संबंधी व्यवस्थाओं पर चर्चा हुई।

मेले के दौरान मेला ग्राउंड में चौबीसों घंटे साफ-सफाई व्यवस्था के लिए स्वास्थ्य निरीक्षक हीराराम लखन को निर्देशित किया कि वे अपने स्तर पर उक्त व्यवस्था को अंजाम देने के लिए कार्य करे। इसी प्रकार मेला स्थल पर रोशनी के लिए हाईमास्ट लाइटें तथा हैलोजीन लाइटें लगाने का भी निर्णय लिया गया। साथ ही आगामी दिनों में दुकानों के आवंटन के लिए निकाली जाने वाली लाॅटरी पर भी चर्चा की गई। दुकानों के आवंटन के दौरान कॉर्नर की दुकानों की लाॅटरी नहीं निकालने का निर्णय लिया गया। मेले में इस वर्ष तालाब की पाल के पास तथा पुराने क्वार्टर्स के स्थानों पर समतल की गई जगह पर भी दुकानें आवंटित करने का निर्णय लिया गया। मेले के प्रचार-प्रसार के लिए शहरी क्षेत्र में 10 स्थानों पर होर्डिग्स भी लगाए जाएंगे। बैठक में मेले के दौरान आयोजित होने वाली विभिन्न प्रतियोगिताओं के विजेताओं को दी जाने वाला पुरस्कार राशि में भी वृद्धि की गई।

तेजाजी के थान पर झंडे चढ़ाने वालों को दी जाने वाली राशि में भी वृद्धि की गई। सुचारू व्यवस्था के लिए राजस्व अधिकारी शमीम बानो को मेला अधिकारी तथा जाहिद हुसैन को सह मेला अधिकारी नियुक्त किया गया। मेला संयोजक नरेश कनोजिया, सह संयोजक अंगदराम अजमेरा, उपसभापति सुनील मंूदडा, आयुक्त सुखराम खोखर, मंगतसिंह मोनू, राधेश्याम प्रजापत, लेखराज कंवरिया, नरपतसिंह रावत, विनोद खाटवा, एईएन ओमप्रकाश चौधरी, कपिल गोरा, भगवानदास नागौरा, मनोज शर्मा, मोहिंदरराय्र फुलवारी, हरीराम लखन सहित अन्य कर्मचारी उपस्थित थे।

तेजा मेले की तैयारियों को लेकर नगर परिषद में बैठक संपन्न

ब्यावर. नगर परिषद में आयोजित मीटिंग में चर्चा करते अधिकारी।