केंद्र की ‘उज्ज्वला’ योजना ने किया अजमेर जिले को केरोसिन मुक्त

Beawar News - केंद्र सरकार की उज्ज्वला योजना ने अजमेर जिले को केरोसिन मुक्त करने में महत्ती भूमिका निभाई है। इसकी वजह है योजना...

Bhaskar News Network

Jun 17, 2019, 07:00 AM IST
Beawer News - rajasthan news center39s 39ujjwala39 scheme has made kerosene free from ajmer district
केंद्र सरकार की उज्ज्वला योजना ने अजमेर जिले को केरोसिन मुक्त करने में महत्ती भूमिका निभाई है। इसकी वजह है योजना की शुरुआत से पहले खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग द्वारा अजमेर जिले को औसतन 12 लाख लीटर केरोसिन प्रतिमाह आवंटित करना, जो अब घटकर शून्य हो चुका है। फिलहाल जिले में चाहे शहरी हो या फिर ग्रामीण क्षेत्र, कहीं भी सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत मिलने वाला केरोसिन उपलब्ध नहीं है।

खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग की ओर से सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत विभाग की मांग के अनुरूप केरोसिन का आवंटन किया जाता था। मगर पिछले कुछ समय से इसमें तेजी से गिरावट आने के साथ ही अब आवंटन शून्य हो चुका है। इसकी वजह है प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत बीपीएल सहित अन्य पात्र परिवारों को एलपीजी कनेक्शन उपलब्ध कराना। ऐसे में केरोसिन की खपत में तेजी से गिरावट हो गई। केंद्र सरकार केरोसिन की कम खपत करने के लिए राज्य सरकारों को नकद प्रोत्साहन भी दे रही है।

पहले हर महीने अजमेर जिले को रसद विभाग से आवंटित होता था 12 लाख लीटर केरोसिन, घटते-घटते हो गया अब शून्य

जिले में अब तक 1.31 लाख कनेक्शन जारी

अब तक प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत अजमेर जिले में 1.31 लाख एलपीजी कनेक्शन जारी किए गए हैं। खाना पकाने के लिए एलपीजी रसोई गैस और दूर-दराज के गांवों में जहां पहले कभी प्रकाश के लिए केरोसिन का उपयोग होता था वहां भी विद्युतीकरण के चलते अब केरोसिन की खपत नहीं के बराबर है। योजना अप्रैल 2016 से जिले में लागू हुई थी।

रसद विभाग ने भी लिए महत्वपूर्ण निर्णय

उज्ज्वला योजना के साथ ही खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग द्वारा रसोई गैस उपभोक्ताओं को पूरी तरह केरोसिन का आवंटन बंद करने का निर्णय भी महत्वपूर्ण रहा। इससे पहले रसोई गैस उपभोक्ता पीडीएस के तहत राशन दुकानों से ईधन के उपयोग के लिए केरोसिन भी प्राप्त कर रहे थे। उपभोक्ताओं को दोहरे लाभ के चलते सरकार का भी बड़ा फंड सब्सिडी के रूप में बर्बाद हो रहा था। ऐसे में राशनकार्ड को आधार से लिंक करना और पोस मशीन के जरिये आवंटन से केरोसिन की खपत में तेजी से गिरावट आई।

दो साल में केरोसिन की दर में 14 रुपए की बढ़ोतरी

इधर विभाग की ओर से पिछले दो साल में केरोसिन की दर में प्रति लीटर 14 रुपए की बढ़ोतरी कर दी गई। 23 मार्च 2017 को केरोसीन की दर बढ़ाने संबंधी अधिसूचना जारी करते हुए 21 रुपए प्रति लीटर निर्धारित की थी। इसके बाद समय-समय पर विभाग ने केरोसीन की दर में बढ़ोतरी की। हाल ही में 03 जून को विभाग ने इसकी दर 34.60 रुपए प्रति लीटर तय की।

इनका कहना है


X
Beawer News - rajasthan news center39s 39ujjwala39 scheme has made kerosene free from ajmer district
COMMENT