भाईचारे की मिसाल पेश, शहर में रहा अमन व सद््भाव का माहौल

Beawar News - सुप्रीम कोर्ट द्वारा अयोध्या मामले को लेकर शनिवार को सुनवाई कर अपना फैसला सुनाया। शनिवार को फैसले को लेकर जहां...

Nov 10, 2019, 07:20 AM IST
सुप्रीम कोर्ट द्वारा अयोध्या मामले को लेकर शनिवार को सुनवाई कर अपना फैसला सुनाया। शनिवार को फैसले को लेकर जहां प्रशासन पूरी तरह सतर्क रहा तो वहीं फैसले के बाद हर तबके और समाज ने फैसले का स्वागत किया। सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद शहर में एहतियातन धारा 144 लगा दी गई। शहर में कानून और शांति व्यवस्था को कायम रखने को लेकर एसडीएम जसमीत सिंह संधू, पुलिस उपाधीक्षक हीरालाल सैनी तथा थाना प्रभारी रमेंद्र सिंह हाड़ा के सानिध्य में शांति समिति की बैठक का आयोजन किया गया। जिसमे बडी संख्या मे शांति समिति के सदस्यों ने भाग लिया। इस दौरान बैठक मे उपस्थित सदस्यों से चर्चा करते हुए डिप्टी सैनी ने कहा की सीएलजी सदस्यों का कर्तव्य है की सुप्रीम कोर्ट के फैसले से शहर में किसी भी प्रकार से शांति और कानून व्यवस्था नहीं बिगडे। जिसके लिए किसी भी प्रकार से सोशल मीडिया पर कोई भडकाऊ मैसेज नहीं डाले जिसके कारण शहर मे किसी तरह की शांति भंग हो। इस दौरान उन्होंने फैसले को लेकर आतिशबाजी करने पर भी पाबंदी लगाई है। प्रशासन ने सीएलजी सदस्यों की प्रशंसा करते हुए कहा कि समिति के सदस्यों ने शहर के सभी तीज त्यौहारों को सौहार्दपूर्ण तरीके से मनाने मे शांति समिति के सदस्यों की भूमिका रही है जिससे सभी त्यौहार शांतिपूर्ण तरीके से मनाये जाते है। वही थाना प्रभारी रमेंद्र सिंह हाड़ा ने कहा सोशल मीडिया पर मिले मैसेज को यदि आपको सही नहीं लगता है तो उसे आगे फारवर्ड नहीं करे जिससे किसी तरह का विवाद पैदा ना हो। इसी प्रकार एसडीएम जसमीत सिंह संधू ने कहा की शहर मे किसी भी प्रकार की अवांछित गतिविधि पाई जाती है तो तुरंत पुलिस को सूचित करे ताकि समय पर मामले को सुलझाया जा सके और शहर की शांति व्यवस्था कायम रह सके। इस दौरान उपस्थित सीएलजी सदस्यों ने भी अपने सुझाव रखे जिनको प्रशासन ने सराहा तथा इसी प्रकार से शहर मे शांति व्यवस्था बनाए रखने की बात कही। इस दौरान डिप्टी सैनी ने कहा की शहर मे कानून व्यवस्था को बिगाड़ने वाले असामाजिक तत्वों को किसी भी सूरत में बर्दाश्त नही किया जाएगा। बैठक के दौरान सुरेश चैहान, राजेश्वरी यादव, शशि यादव, पारसमल, कमल मारोठिया, संपत राज परिहार, सुधीर तोमर, राजेंद्र अग्रवाल, पप्पू पहलवान, अमित अरोडा, महेंद्र सिंह सिसोदिया, नजीन मोहम्मद काठात, गुरूशरण गोयल, सतवीर सिंह संतू, तरूण दाधीच, पारस जैन, ध्यानचंद भारती, नरपत सिंह रावत, टीकम सिंह चौैहान सहित बडी संख्या मे सीएलजी सदस्य मौजूद थे।

टीवी और मोबाइल पर लेते रहे अपडेट

शनिवार को सुप्रीम कोर्ट के फैसले को लेकर लोगों में उत्साह रहा। सुबह होते ही शहर में विभिन्न स्थानों पर लोग ना सिर्फ टीवी बल्कि मोबाइल पर भी अपडेट लेते रहे। शहर में कानून और शांति व्यवस्था के मद्देनजर जहां शहर के चप्पे चप्पे पर पुलिस बल तैनात रहा तो वहीं लोगों ने आगे बढ़कर शहर में शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए पहल की और एक दूसरे की भावनाओं का सम्मान किया तथा किसी भी प्रकार के भड़कावे की कोई कार्रवाई नहीं की गई। प्रशासन द्वारा एहतियातन पूरे क्षेत्र में इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी गई।

पटाखों की दुकान को करवाया बंद

सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद किसी प्रकार की उकसावे की कोई कार्रवाई नहीं हो इसको लेकर प्रशासन ने विशेष प्रबंध किए। समाज के प्रबुद्धजनों से निजी स्तर पर बात कर उन्हें समझाईश की गई तो वहीं किसी भी प्रकार की अवांछित गतिविधि पर रोक लगाने के मकसद से शहर में संचालित होलसेल पटाखा व्यवसायियों को पटाखे नहीं बेचने के लिए पाबंद कर दिया गया।

ब्यावर. थाने में आयोजित सीएलजी और शांति समिति की बैठक।

ब्यावर. शहर के लौहारान चौपड़ पर तैनात एहतियातन पुलिस बल।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना