पुश्तैनी जमीन पर भूमाफिया की नजर, दहशत में जी रहे हंै दंपती और परिजन

Beawar News - मांगलियावास थााना क्षेत्र में ग्राम तितरड़ी का एक दंपती व उसका परिवार दहशत में जी रहा है। पीड़ित दंपती के अनुसार...

Dec 04, 2019, 08:16 AM IST
मांगलियावास थााना क्षेत्र में ग्राम तितरड़ी का एक दंपती व उसका परिवार दहशत में जी रहा है। पीड़ित दंपती के अनुसार उसकी पुश्तैनी जमीन पर भूमाफिया की नजर है। वे दाे बार उसके परिवार पर जानलेवा हमला कर चुके हैं। गर्भवती महिला से मारपीट के कारण उसके शिशु ने काेख में ही दम ताेड़ दिया।

पुलिस ने शिकायत के बावजूद शांति भंग के अाराेप मंे आरोपियों काे गिरफ्तार कर कर्तव्य की इंतिश्री कर ली। नतीजन अाराेपियाें के हाैसले बुलंद हैं। पीड़ित ने जान माल की सुरक्षा को लेकर नसीराबाद अदालत में फौजदारी परिवाद के जरिए 9 जनों के खिलाफ मामला दर्ज करवा कर न्याय की गुहार की है।

मामले में गोला के तितरडी निवासी पीड़ित जगदीश पुत्र किसना गुर्जर तथा उसकी प|ी सीता देवी ने आरोपी ब्रिकचियावास निवासी हुजा पुत्र हाथी गुर्जर, उसका भाई भंवर गुर्जर, बीरम गुर्जर, तितरड़ी निवासी शिवराज पुत्र सरदार गुर्जर, उसका लड़का ओमप्रकाश, कालू पुत्र नारायण गुर्जर, सीता प|ी शिवराज गुर्जर, नारायण पुत्र गंगाराम गुर्जर, रामचंद्र पुत्र नारायण गुर्जर के खिलाफ दर्ज कराया गया है। जिसमें परिवादी ने बताया कि तितरड़ी में उसकी पुश्तैनी खातेदारी जमीन है। जिस पर कुछ लाेग छल कपट तथा डरा धमका कर उससे उक्त जमीन को हड़पने के प्रयास में लगे हुए हैं। इसी क्रम में 14 मार्च को उसके द्वारा ट्रैक्टर से खेतों की जुताई कराए जाने के दौरान रात के समय आरोपियों ने उसके परिवार पर प्राणघातक हमला बोल दिया। जिससे परिवादी के पैर, पीठ, कमर में चोट आई। आरोपियों ने उसकी गर्भवती प|ी को लातों तथा लकड़ियों से पीटकर पेट, कमर में चोटें पहुंचाई। उसकी 80 साल की वृद्धा मां को चाकू के नोंक पर धमकाकर 100 रुपए के खाली स्टाम्प पेपर पर जबरदस्ती अंगूठा लगवा लिया।

घटना के समय परिवादी और उसका परिवार चीखता-चिल्लाता रहा। लेकिन आरोपियों के भय से किसी ने बीच-बचाव नहीं किया। घटना के बाद उसने मांगलियावास थाने में घटना की गुहार लगाई। लेकिन उसे न्याय नहीं मिला। जिससे आरोपियों के हौसले और बुलंद हो गए। इसके बाद आरोपियों ने 26 जून को दूसरी बार परिवादी के परिवार पर हमला बोलकर परिवादी का हाथ तोड़ दिया।

परिवादी की गर्भवती प|ी सीता के पेट पर लात मारकर बाल पकड़कर खींचे।

उसकी मां के साथ भी बुरी तरह मारपीट कर उसे घसीटा। उसके भाई रामचंद्र के साथ भी मारपीट कर डराया धमकाया। जिससे उसका भाई रामचंद्र टेंशन में आ जाने से मानसिक संतुलन खो बैठा। दोनों घटनाओं के बाद से परिवादी का परिवार भय के साए में जीवन यापन करने को मजबूर हैं।

जिला व पुलिस प्रशासन से मांगा इंसाफ

पीड़ित ने अजमेर कलेक्टर, संभागीय आयुक्त, पुलिस महानिदेशक, पीसांगन एसडीएम से शिकायत कर न्याय की गुहार लगाई। मामला बढ़ने पर पुलिस ने मारपीट के आरोपी रामचंद्र, शिवराज, ओमप्रकाश, भंवरलाल को शांतिभंग में गिरफ्तार कर एसडीएम के समक्ष पेश किया। जहां उन्हें परिवादी की जमीन में दखलअंदाजी नहीं करने के निर्देश दिए। लेकिन इस घटना के बाद भी आरोपियों द्वारा परिवादी की प|ी से मारपीट करने से बच्चे की कोख में ही मृत्यु हो गई। जिस पर उसने स्वयं के स्तर पर ब्यावर अस्पताल पहुंचकर इलाज कराया। घटना के बाद से उसकी प|ी सदमे में है। आरोपियों से उसके परिवार को जान माल का खतरा बना हुआ है। पीड़ित के परिवाद पर अब मांगलियावास पुलिस ने घटना का मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना