जानलेवा हमला करने वाली महिला काे उम्र कैद, तीन को 10-10 साल की सजा

Bhaskar News Network

Jun 11, 2019, 07:15 AM IST

Beawar News - अपर जिला एवं सेशन न्यायाधीश क्रम संख्या दो ने करीब 6 साल पूर्व मसूदा थाना क्षेत्र में एक व्यक्ति का रास्ता रोककर...

Beawer News - rajasthan news sentenced to life imprisonment for murdering woman 10 10 years sentence for three
अपर जिला एवं सेशन न्यायाधीश क्रम संख्या दो ने करीब 6 साल पूर्व मसूदा थाना क्षेत्र में एक व्यक्ति का रास्ता रोककर जानलेवा हमला करने के मामले में महिला को दोषी मानते हुए आजीवन कारावास की सजा सुनाई है। काेर्ट ने मामले के तीन अन्य लाेगाें काे दोषी मानते हुए उन्हें 10-10 साल कैद की सजा सुनाई है।

जानकारी के अनुसार मसूदा क्षेत्र के केसरपुरा निवासी पूना चीता पर सोहनी, बाबू, घीसा और जयसिंह ने रास्ता रोककर जानलेवा हमला कर दिया। उक्त प्रकरण में न्यायालय ने आरोपियों को दोषी मानते हुए सोहनी देवी को आजीवन कारावास और 25 हजार रुपए के जुर्माने से दंडित किया तो वहीं अन्य पुरूष आरोपियों बाबू मेहरात, घीसा और जयसिंह को 10- 10 साल की सजा सुनाई। इसके साथ ही पुरूष आरोपियों को क्रमण 1 हजार और 500 रुपए के जुर्माने से भी दंडित किया। आरोपी जमानत पर चल रहे थे।

यह है मामला : एडवोकेट मुकेश जैन ने बताया कि मसूदा थाना के केसरपुरा निवासी पूना पुत्र नसीबा चीता 12 जुलाई 2013 को घर से कुछ सामान लेने के लिए दुकान की तरफ जा रहा था कि इसी दौरान वहीं सोहनी, बाबू , घीसा रावत तथा जयसिंह ने रास्ता रोककर पूना से पैसे मांगे। पैसे देने से मना करने पर सोहनी ने लाठी से पूना के गले पर वार कर दिया तथा तीनों ने उसके साथ मारपीट की। जिसमें पूना बुरी तरह से घायल हो गया। न्यायालय में बयान देने के बाद में पूना की मौत हो गई थी। मामले को लेकर मसूदा थाना पुलिस में प्रकरण दर्ज किया गया। मसूदा पुलिस ने जांच के बाद आरोप पत्र पेश किया गया। प्रकरण में अभियोजन पक्ष की और से 17 गवाह पेश किए लेकिन अधिकांश चश्मदीद गवाह पक्षद्रोही हो गए। मामले में खुद पूना की गवाही सबसे महत्वपूर्ण रही। घायल अवस्था में पूना की अाेर से दिए गए बयानों को अदालत ने ठोस मानते हुए न्यायाधीश सुमन गुप्ता ने चारों आरोपियों को दोषी माना और सजा सुनाई। प्रकरण में अभियोजन पक्ष की और से पैरवी अपर लोक अभियोजक चंद्रविजय सिंह तथा परिवादी पीड़ित पक्ष की और से पैरवी एडवोकेट मुकेश जैन, रवि सुखाडिया, विजय फुलवारी तथा सुनील फुलवारी ने की।

ब्यावर. सजा सुनाए जाने के बाद आरोपियों को ले जाती पुलिस।

गबन करने वाले सरपंच काे एक साल की सजा, 5 हजार रुपए का जुर्माना

ब्यावर| एडीजे प्रथम डॉ. चेतना ने सोमवार को गबन प्रकरण का निस्तारण करते हुए आरोपी सरपंच को दोषी मानते हुए एक साल की सजा तथा 5 हजार रुपए के अर्थदंड की सजा से दंडित किया है। न्यायाधीश ने उक्त सजा 1995-96 के दौरान तात्कालीन सरपंच के खिलाफ दर्ज किए गए प्रकरण में दिया है।

जानकारी के अनुसार तत्कालीन बड़ाखेड़ा सरपंच मोटसिंह के खिलाफ सरकारी राशि के गबन का एक प्रकरण न्यायालय में विचाराधीन चल रहा था। उस समय से सरपंच मोटसिंह जमानत पर चल रहा था। उक्त प्रकरण में सरपंच को पूर्व में सजा मिल चुकी थी लेकिन मोटसिंह ने सजा के खिलाफ न्यायालय में अपील की थी। अपील के दौरान न्यायाधीश डॉ. चेतना ने एक साल के साधारण कारावास तथा 5 हजार रुपए के जुर्माने की सजा से दंडित किया है।

X
Beawer News - rajasthan news sentenced to life imprisonment for murdering woman 10 10 years sentence for three
COMMENT