नगर परिषद पार्षदाें ने 1 माह पहले साैंपी थी परिषद आयुक्त काे सूची, अब तक सभी अवैध निर्माणों पर कार्रवाई नहीं होने पर दिया धरना

Beawar News - शहर में अनधिकृत निर्माण पर अंकुश लगाने के लिए साैंपी गई सूची पर कार्रवाई नहीं हाेने पर सोमवार को पार्षदों ने...

Apr 16, 2019, 07:16 AM IST
शहर में अनधिकृत निर्माण पर अंकुश लगाने के लिए साैंपी गई सूची पर कार्रवाई नहीं हाेने पर सोमवार को पार्षदों ने आयुक्त कक्ष में सांकेतिक धरना दिया। उन्हाेंने परिषद प्रशासन पर सुस्त कार्यशैली का आरोप लगाते हुए चेतावनी दी कि यदि समय रहते अनधिकृत निर्माण पर कार्रवाई नहीं की गई ताे वे सांकेतिक धरने को आंदोलन में बदल देंगे।

जानकारी के अनुसार 15 मार्च को आयुक्त राजेंद्र सिंह चांदावत को कांग्रेस, भाजपा व निर्दलीय पार्षदों ने सूची सौंपी थी। जिसमें शहर में अनधिकृत निर्माण या परिषद की बिना अनुमति के निर्माण होने के आरोप लगाए गए। सूची में 21 स्थान चिह्नित किए गए थे। इससे पहले भी पार्षदों की ओर से 26 अप्रैल 2016 को उप सभापति सुनील कुमार मूंदड़ा के नेतृत्व में तत्कालीन आयुक्त मुरारीलाल वर्मा को भाजपा, कांग्रेस और निर्दलीय पार्षदों ने करीब 46 स्थान चिह्नित करते हुए उनकी सूची सौंपी।

पार्षदों द्वारा सौंपी गई 21 की सूची में ये थे शामिल : पार्षदों की ओर से आयुक्त राजेंद्र सिंह चांदावत को सौंपी गई उसमें यश सेन गुरु वाटिका भगत चौराहा, स्वर्ण गंगा सिटी सिनेमा के सामने, डॉ. सीएल भाटी सेंदड़ा रोड, रवि कम्प्यूटर सेंदड़ा रोड, मंसूरी सेंदड़ा रोड, विमल सर्राफ पीपलिया बाजार, दिलीप जाजू पीपलिया बाजार, महावीर मकाणा पाली बाजार, सुरेंद्र ओस्तवाल गोदावरी स्कूल मार्ग, सुशील जैथल्या गोदावरी स्कूल मार्ग, लोकेश कोठारी बजारी गली, हाकिम कुरैशी वार्ड 15, राजेंद्र चौपड़ा सनातन स्कूल मार्ग, कुबेर विहार मसूदा रोड, सुभाष ओस्तवाल कोर्ट के सामने, बद्री सामरिया वेस्ट पेटेंट प्रेस, दिनेश भाटी मसूदा रोड, कुमावत ब्रदर्स शाहपुरा मोहल्ला, उदयपुर रोड पर दो स्थानों पर, द्वारकाधीश गार्डन अजमेर रोड क्षेत्र में पार्षदों ने अनधिकृत निर्माण का आरोप लगाते हुए परिषद प्रशासन से कार्रवाई की मांग की।

सुस्त कार्रवाई पर नाराजगी...

पार्षदाें ने एक माह पहले सौंपी गई सूची पर कार्रवाई न होने पर नाराजगी जताई। उन्होंने सोमवार को परिषद आयुक्त राजेंद्र सिंह चांदावत के कक्ष में पहुंचकर सांकेतिक धरना दिया। उनका कहना था कि सूची सौंपने के बाद भी परिषद गंभीरता दिखाने के बजाय महज दो जगह कार्रवाई कर आगे की कार्रवाई टालमटोल करने का प्रयास कर रही है। पार्षदों ने आयुक्त को चेतावनी दी कि यदि परिषद प्रशासन ने सोमवार शाम तक कार्रवाई शुरू नहीं की तो वे विरोध स्वरूप आंदोलन पर उतर जाएंगे।

जिनको नोटिस जारी किए उनके यहां भी हो कार्रवाई

पार्षदों ने बताया कि परिषद ने कुछ अनधिकृत निर्माण के खिलाफ सीज की कार्रवाई की मगर इस दौरान जिन लोगों को नोटिस जारी किए। उनके यहां निर्धारित समय सीमा समाप्त होने के बाद भी कार्रवाई नहीं की। जिससे अनधिकृत निर्माण करने वालों के हौंसले बुलंद हो रहे हैं। पार्षदों ने आरोप लगाया कि अब भी शहर में अनधिकृत निर्माण धड़ल्ले से चल रहे हैं।

अाैर इधर आयुक्त ने दिया आचार संहिता का हवाला...

आयुक्त चांदावत ने पार्षदों को बताया कि लोकसभा चुनाव के तहत आदर्श आचार संहिता लागू होने व चुनाव कार्यों में व्यस्त होने के कारण इस कार्रवाई में थोड़ी देरी हुई है लेकिन अनधिकृत निर्माण करने वालों को किसी भी सूरत में बख्शा नहीं जाएगा। जल्द ही ऐसे निर्माण के खिलाफ कार्रवाई शुरू की जाएगी। सांकेतिक धरने के दौरान पूर्व सभापति कमला दगदी, विजेंद्र प्रजापति, दलपतराज मेवाड़ा, हनुमान सिंह चौधरी, बाबूलाल पंवार, संपति बोहरा, भरत बाघमार, कैलाश गहलोत, ज्ञानदेव झंवर, नौरत प्रजापति, मोहम्मद हारून, लियाकत अली, मुकेश तोशिक सहित अन्य लोग मौजूद थे।

ब्यावर. नगर परिषद आयुक्त कक्ष में जमीन पर बैठे पार्षद व अन्य।

अवैध निर्माणों काे राेकने में नगर परिषद की सुस्ती, पार्षदों ने आयुक्त कक्ष में दिया धरना

... और शाम काे 25 दुकानें सीज

ब्यावर. मसूदा रोड पर सोमवार शाम को सीज करने में जुटे कर्मचारी।

शहर में अनाधिकृत निर्माण राेकने के मामले में नगर परिषद की सुस्त कार्रवाई के विराेध में पार्षदाें ने साेमवार सुबह धरना दिया। इसके बाद नगर परिषद प्रशासन ने शाम को 25 दुकानों को सीज किया।

आयुक्त राजेंद्र सिंह चांदावत के निर्देश पर राजस्व अधिकारी विकास कुमावत और अतिक्रमण शाखा प्रभारी मोहिंदर राय फुलवारी के नेतृत्व में टीम ने सोमवार शाम को मसूदा रोड प्रभु की बगिया के पास कुबेर विहार कॉलोनी में 24 दुकानों को 30 दिन के लिए सीज किया। अधिकारियों ने बताया कि मौके पर परिषद की बिना स्वीकृति के निर्माण कार्य चल रहा था। इसके लिए पूर्व में सुरेंद्र पाल व अन्य को चार बार नोटिस जारी कर पाबंद भी किया गया, मगर निर्माणकर्ता की ओर से परिषद नोटिस को नजरंदाज कर निर्माण कार्य चालू रखा गया। इस पर सोमवार को यहां स्थित 24 दुकानों को सीज करने का निर्णय लिया गया। इससे पहले टीम ने चांगगेट क्षेत्र में भी परिषद की बिना अनुमति के निर्माण कार्य शुरू करने पर सीज कार्रवाई की। आरोप है कि मौके पर पोर्च और पैसेज पर निर्माण कार्य हो रहा था। यहां भी परिषद प्रशासन की ओर से दुकानदार को दो बार नोटिस जारी किया गया था मगर उसने भी परिषद नोटिस को नजरअंदाज कर निर्माण कार्य जारी रखा। इसके अलावा टीम ने पाली बाजार में निर्माण कार्य रुकवाकर संबंधित व्यक्ति को पाबंद भी किया।

इधर, आबादी क्षेत्र में व्यावसायिक गतिविधियाें का विरोध

श्री रेगरान पंचायत आदर्श धड़ा ने सोमवार को नगर परिषद आयुक्त को ज्ञापन सौंपकर आबादी क्षेत्र में व्यावसायिक गतिविधि संचालित होने पर विरोध जताया। आयुक्त राजेंद्र सिंह चांदावत को सौंपे ज्ञापन में क्षेत्रवासियों ने बताया कि वार्ड नंबर 10 में स्थित नारायण सदन में गणेश मिष्ठान भंडार की ओर से रसोईघर बना रखा है। जहां मिठाई तैयार होती है। क्षेत्रवासियों ने आरोप लगाया कि यहां घरेलू गैस का व्यावसायिक उपयोग भी धड़ल्ले से हो रहा है। साथ ही यहां से निकलने वाले गंदे पानी की कारण आसपास के क्षेत्रवासी परेशान है। आबादी क्षेत्र की तंग गलियों में इस प्रकार की व्यावसायिक गतिविधि कभी भी हादसे का सबब बन सकती है।

उन्होंने परिषद प्रशासन से उचित कार्रवाई कर राहत दिलाने की मांग की। ज्ञापन देने वालों में पार्षद बाबूलाल पंवार, ईश्वर तंवर, मेघराज बोहरा, जगदीश प्रसाद, जयकिशन चौहान, महेंद्र कुमार तंवर, हरीश कुमार भट्ट, अशोक भट्ट सहित अन्य क्षेत्रवासी शामिल थे।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना