रोडवेज में स्टाफ की कमी के चलते तीन बुकिंग काउंटर किए बंद, परिचालकों को भेजा बसों में

Beawar News - राजस्थान राज्य पथ परिवहन निगम की ओर से यात्रियों की बेहतर सुविधा देने के दावे खोखले नजर आने लगे है, इसका मुख्य कारण...

Nov 10, 2019, 07:16 AM IST
राजस्थान राज्य पथ परिवहन निगम की ओर से यात्रियों की बेहतर सुविधा देने के दावे खोखले नजर आने लगे है, इसका मुख्य कारण ब्यावर आगार में लम्बे समय से चल रही परिचालकों की कमी के कारण आगार ने बसों के संचालन के लिए तीन बुकिंग काउंटरों को बंद कर वहां के कर्मचारियों को बसों में भेजना शुरू कर दिया है। ऐसे में बुकिंग काउंटर बंद होने से यात्रियों को बसों में टिकिट लेने पड़ रहे है। परिचालकों ने बताया कि टिकिट काउंटर बंद होने से आगार से रवाना होने वाली बसों में पूरे यात्रियों को टिकिट देने पड़ते है, ऐसे में यदि बीच में निरीक्षण दल बस की जांच करता है तो वह इस बात को नहीं सून कर परिचालकों के मार्क लगा देता है। टिकिट काउंटर बंद से अब तक करीब पांच परिचालकों के इसी कारण रिमार्क लग चुका है। ऐसे में परिचालक अब बस को रोक कर यात्रियों को टिकिट जारी करने का कार्य कर रहे है। वहीं आगार के अधिकारियों ने बताया कि परिचालकों की कमी के कारण बसों का समय पर संचालन नहीं हो पा रहा था। वहीं अब शादियों का सीजन शुरू होने के साथ ही रोडवेज बसों में यात्रीभार भी बढ़ने लग गया है। इसी कारण बसों के सफल संचालन को लेकर ब्यावर-जीसीए-नसीराबाद, जैतारण व रायपुर पर संचालित होने वाली टिकिट बुकिंग काउंटर बंद कर कार्यरत परिचालकों को बसों में भेज दिया गया है। ज्ञात हो कि कुछ दिन पूर्व ही चालकों की कमी को पूरा करने के लिए सहारा एजेन्सी से किया गया करार समाप्त होने के बाद उन्हें हटा दिया गया था, इसके साथ ही आगार के चालकों को अन्य रोडवेज डीपो में स्थानातंरण करने से आगार प्रबंधन के कोढ़ में खाज करने का काम कर दिया था। उक्त आदेश के बाद आगार से 26 चालक हट जाने से प्रबंधन को अब बसों का तय रूटों पर संचालित करना अब तक मुश्किल हो रखा है, आलम यह हो गया है कि मुख्यालय की ओर से तय लक्ष्य के किलोमीटर पर आगार प्रबंधन बसों का संचालन नहीं कर पा रहा है। चालकों की कमी के कारण ब्यावर डिपो से 5 रूटों पर बसों का संचालन नहीं किया जा रहा है।


ब्यावर आगार में परिचालकों की कमी के कारण प्रबंधन की ओर से टिकिट बुकिंग काउण्टर किए गए बंद।

स्टाफ पर एक नजर

ब्यावर आगार में कुल 82 बसे है, इसमें 45 अनुबंधित, 14 मिनी व 23 रोडवेज बसे है। लेकिन आगार में 131 परिचालक के स्वीकृत पदों पर महज रोडवेज के 55 परिचालक ही बसों में कार्य कर रहे है। इसके अलावा बसों में 6 परिचालक डेलीवेजिज पर, 9 बस सारथी व 27 चालक जो परिचालक का कार्य कर रहे है। ऐसे में अब भी आगार में 34 परिचालक के पद रिक्त चल रहे है। इसी कमी को पूरा करने के चक्कर पर टिकिट बुकिंग काउंटर पर कार्यरत परिचालकों को अब रोडवेज बसों लगा दिया है। इसी तरह आगार में 133 चालकों की आवश्यकता है, जिसमें 86 अनुबंधित बसों के चालक शामिल है, 05 अनफिट चालक व शेष 42 चालक रोडवेज बसों में ड्यूटी दे रहे है। ऐसे में चालक व परिचालक की कमी के कारण तय किलोमीटर पर रोडवेज बसों का संचालन तक नहीं हो रहा है।

16 बसें लगेंगी पुष्कर मेले में : आगार की ओर से पुष्कर मेले के लिए सोमवार व मंगलवार तक पुष्कर मेले के लिए रोडवेज बसों का संचालन का विशेष काउंटर लगा कर किया जाएगा। इसके लिए 10 बसे ब्यावर आगार की तथा 2 भीलवाड़ा, जोधपुर व पाली आगार से बसें मंगवा कर संचालन किया जाएगा।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना