--Advertisement--

एक दिन में दो अच्छे बदलाव महिलाओं के नाम

जाट बहरोड़. आम रास्ते की सफाई करती महिलाएं। जाट बहरोड़| गांव में बाबा भैंया के पास वाले मौहल्ले के आम रास्ते पर...

Dainik Bhaskar

Feb 17, 2018, 04:30 AM IST
एक दिन में दो अच्छे बदलाव महिलाओं के नाम
जाट बहरोड़. आम रास्ते की सफाई करती महिलाएं।

जाट बहरोड़| गांव में बाबा भैंया के पास वाले मौहल्ले के आम रास्ते पर जहां कीचड़ के कारण आमजन परेशान था वहीं शुक्रवार को महिलाओं ने सफाई अभियान चलाकर इलाके के पूरी तरफ साफ सुथरा बना दिया। अब ग्रामीणों के श्रमदान से यहां गंदगी का नामोनिशान नहीं रहा। मौहल्ले में सड़क किनारे बनी नालियों की नियमित सफाई नहीं हो रही थी। ऐसे में यहां कीचड़ हो जाने के कारण दुर्गन्ध से हालात खराब थे। आम रास्ता अवरुद्ध हो गया था और बीमारियां फैलने की आशंका हो गई थी। गांव के पुरुषों ने जहां इस पर ध्यान नहीं दिया वहीं महिलाओं ने एकजुट होकर फावड़े उठाए और देखते ही देखते कीचड़ हटा रास्ता साफ कर दिखाया।

जाटबहरोड़ में पुरुष ध्यान नहीं देते थे, इसलिए महिलाओं ने किया श्रमदान, आम रास्ते से हटाया कीचड़

बेटी को घोड़ी पर बैठाकर निकाला बिंदोरा

महिलाओं ने एक दिन में साफ कर डाला रास्ता

रैणी| कस्बे में गुरुवार को घोड़ी पर बैठाकर धूमधाम से एक युवती का बिंदोरा निकाला गया। जानकारी के अनुसार कस्बा निवासी बाबूलाल जागा के तीन संतान हैं । जिसमें एक लड़की व दो लड़के हैं। उसकी बडी़ बेटी ज्योति की शादी 17 फरवरी को हरियाणा के पानीपत के मोहित के साथ तय है। गुरुवार रात्रि को ज्योति का तेल बिंदोरा निकाला गया। बंदौरे को लेकर गांव के लोगों में उत्सुकता रही। ज्योति टोंक रोड, जयपुर स्थित विपुल मोटर्स में मैनेजर के पद पर कार्यरत है। ज्योति ने बताया कि 17 फरवरी को उसकी शादी है। समाज में लड़कों को घोड़ी पर बैठाकर बिंदोरा निकाला जाता है।

रैणी. तेल बिंदोरा के दौरान घोड़ी पर बैठी युवती।

X
एक दिन में दो अच्छे बदलाव महिलाओं के नाम
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..