--Advertisement--

दिल्ली-नीमराना-बहरोड़-अलवर के बीच रैपिड ट्रेन को मिली मंजूरी

Behror News - नए साल से पहले अलवर को बड़ी सौगात मिली है। केंद्र सरकार ने अलवर को आरआरटीएस (रीजनल रैपिड ट्रांजिट सिस्टम) से जोड़ने...

Dainik Bhaskar

Dec 09, 2018, 05:01 AM IST
Shahjanpur News - delhi neemrana bahrod alwar get approval for rapid train
नए साल से पहले अलवर को बड़ी सौगात मिली है। केंद्र सरकार ने अलवर को आरआरटीएस (रीजनल रैपिड ट्रांजिट सिस्टम) से जोड़ने के लिए पहला कदम बढ़ा दिया है। एनसीआरटीसी (राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र परिवहन निगम) की बोर्ड की बैठक में दिल्ली-गुरुग्राम-एसएनबी (शाहजहांपुर, नीमराना, बहरोड़ अर्बन कॉम्प्लेक्स) प्रोजेक्ट की डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट (डीपीआर) को मंजूरी दे दी गई। इस प्रोजेक्ट का काम 3 चरणों में पूरा होना है। पहले चरण में 106 किलोमीटर हिस्से का निर्माण होगा। इसमें सराय कालेखां से गुरुग्राम, शाहजहांपुर, नीमराना व बहरोड़ तक रेलवे ट्रैक का निर्माण होगा। इस पर कुल 16 स्टेशन होंगे। इसमें 71 किलोमीटर का ट्रैक एलिवेटेड होगा और 11 स्टेशन होंगे। ट्रैक का 35 किलोमीटर का हिस्सा अंडरग्राउंड होगा और 5 स्टेशन होंगे। इनमें दिल्ली मेट्रो नेटवर्क के 8 स्टेशनों के इंटरचेंज की सुविधा भी मिलेगी। पहले चरण को वर्ष 2025 तक पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है। एनसीआरटीसी के अनुसार दिल्ली से अलवर तक यह मार्ग 165 किलोमीटर तक का है। पहले चरण में बहरोड़ तक तथा दूसरे चरण में सोतानाला तक की सब लाइन तैयार होगी। दूसरे चरण में यह लाइन शाहजहांपुर, बहरोड़ के शेष हिस्से को कवर करेगी। इसके बाद अलवर की दिशा में तीसरे चरण का काम शुरू होगा और खैरथल होते हुए अलवर तक रेल मार्ग पहुंचेगा।

पहले चरण में 2025 तक बहरोड़ तक चलेगी ट्रेन, 24 हजार 975 करोड़ रुपए होंगे खर्च

3 चरण में होगा काम, आखिरी चरण में अलवर पहुंचेगी

रैपिड ट्रेन का फाइल फोटो

70 मिनट में दिल्ली से बहरोड़ पहुंच सकेंगे

हाई स्पीड ट्रेन के जरिए दिल्ली से बहरोड़ तक 106 किलोमीटर का सफर महज 70 मिनट में पूरा होगा। इस ट्रैक पर 180 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार से ट्रेन दौड़ेगी। ट्रेन में 9 कोच होंगे। ट्रेन में हवाई जहाज की तरह बैठने की सीटें होंगी। इस रूट पर 5 से 10 मिनट में ट्रेन मिलेगी।

प्रोजेक्ट पर 24 हजार 975 करोड़ रुपए होंगे खर्च : दिल्ली, गुरुग्राम-शाहजहांपुर, नीमराना, बहरोड़ अर्बन कॉम्प्लेक्स प्रोजेक्ट पर 24 हजार 975 करोड़ रुपए का खर्च आएगा। इसमें 20 प्रतिशत हिस्सा केंद्र सरकार तथा 20 प्रतिशत का हिस्सा राज्य सरकार देगी। 60 प्रतिशत का हिस्सा विभिन्न वित्तीय मदद से उपलब्ध कराया जाएगा।

106 किलोमीटर के रूट पर होंगे 16 स्टेशन

सराय काले खां, जोरबाग, मुनरिका, एयरो-सिटी, उद्योग विहार, सेक्टर 17, राजीव चौक, खेड़की धौला, मानेसर, पंचगांव, बिलासपुर चौक, धारूहेडा, एमबीआईआर, रेवाड़ी, बाबल, एसएनबी। इनमें मेट्रो के साथ 8 एक्सचेंज स्टेशन बनाए जाएंगे। इनमें सराय काले खां, जोरबाग, मुनिरका, एयरो-सिटी, उद्योग विहार, खेड़की धौला, पंचगांव व बावल शामिल हैं।

यूपीए सरकार में बना था प्रोजेक्ट

अलवर को हाई स्पीड ट्रेन से जोड़ने के लिए यूपीए सरकार में प्रोजेक्ट तैयार किया गया था। उस समय दिल्ली से अलवर तक 180 किलोमीटर तक का ट्रैक बनाया जाना था। इसके लिए 37 हजार करोड़ रुपए का प्रोजेक्ट तैयार किया गया था। सरकार बदलने के बाद कई साल तक यह प्रोजेक्ट फाइलों में बंद रहा। अब डीपीआर को मंजूरी मिलने के बाद इस प्रोजेक्ट पर काम शुरू होने से एक कदम और बढ़ा है।

106 किलोमीटर के रूट पर होंगे 16 स्टेशन

सराय काले खां, जोरबाग, मुनरिका, एयरो-सिटी, उद्योग विहार, सेक्टर 17, राजीव चौक, खेड़की धौला, मानेसर, पंचगांव, बिलासपुर चौक, धारूहेडा, एमबीआईआर, रेवाड़ी, बाबल, एसएनबी। इनमें मेट्रो के साथ 8 एक्सचेंज स्टेशन बनाए जाएंगे। इनमें सराय काले खां, जोरबाग, मुनिरका, एयरो-सिटी, उद्योग विहार, खेड़की धौला, पंचगांव व बावल शामिल हैं।

यूपीए सरकार में बना था प्रोजेक्ट

अलवर को हाई स्पीड ट्रेन से जोड़ने के लिए यूपीए सरकार में प्रोजेक्ट तैयार किया गया था। उस समय दिल्ली से अलवर तक 180 किलोमीटर तक का ट्रैक बनाया जाना था। इसके लिए 37 हजार करोड़ रुपए का प्रोजेक्ट तैयार किया गया था। सरकार बदलने के बाद कई साल तक यह प्रोजेक्ट फाइलों में बंद रहा। अब डीपीआर को मंजूरी मिलने के बाद इस प्रोजेक्ट पर काम शुरू होने से एक कदम और बढ़ा है।

X
Shahjanpur News - delhi neemrana bahrod alwar get approval for rapid train
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..