पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • Neemrana News Rajasthan News Even After Spending Rs8 Lakh The Officers Are Putting The Dirt On Each Other In The Rico Area

Rs.8 लाख खर्च होने के बाद भी रीको क्षेत्र में गंदगी, अफसर एक-दूसरे पर डाल रहे जिम्मा

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
रीको औद्योगिक क्षेत्र फेस दाे में सफाई अव्यवस्था होने से नालों में गंदगी एवं सड़कों के किनारे बड़ी-बड़ी घास उग रही है। जिनमें गाजां के पाैधे हाेने से श्रमिक नशे के आदि हाे रहे है। क्षेत्र के नालों में गंदगी जमा होने से पानी की निकासी नहीं होने से गंदगी के कारण सड़ांध मारते हैं। नालों के गंदे पानी में मच्छर-मक्खी पनप रहे हैं। जिससे श्रमिकों एवं उद्यमियों में बीमारी फैलने का भय बना हुआ है। बहरोड़ औद्योगिक क्षेत्र फेस दाे में सालाना आठ लाख रुपए सफाई पर खर्च किए जा रहे है। इसके बावजूद बदहाल व्यवस्था से लाेग परेशान है। दरअसल फेस दो में दिनेश इंटर प्राइजेज के सामने सैकड़ों पेड़ गांजा के पाैधे के खड़े हुए है। जहां बिहार, यूपी, हरियाणा सहित दूसरे राज्यों के श्रमिकों में नशे की लत पड़ रही है। राष्ट्रीय हरित अधिकरण (एनजीटी) के सख्त आदेश की पालना नहीं हाे रही है। उद्यमी अपने उद्योगों के बाहर नाले पर कब्जा किया हुअा है। जहां कचरा डा़लकर अतिक्रमण हाे रहा है। एनजीटी के आदेशों की खुलेआम अवहेलना कर रहे हैं। उद्योगाें सामने मुख्य गेट के पास गंदगी के ढ़ेर लगे हुए हैं। यह कचरा उद्योगों से निकलने वाला होता है। लेकिन इन पर कार्रवाई करने के लिए प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड अलवर के अधिकारी ध्यान नहीं दे रहे। आर.आर इंटिरियर उद्योग संचालक के द्वारा रीको के नियमों की अवहेलना की जा रही है। पानी निकासी के नाले पर कब्जा कर अतिक्रमण किया हुआ है। करीब 15 दिन पहले इस उद्योग के सामने रीको अधिकारियों ने ठेकेदार को निर्देशित कर जेसीबी की मदद से नालों की सफाई करवाई। लेकिन ठेकेदार की मिली भगत से फिर से नाले पर अतिक्रमण कर लिया गया। उद्योग से निकलने वाला कैमिकल युक्त गंदा पानी उसमें नाले में भरा हुअा है। जिसकी दुर्गंध से राहगीर परेशान है।

रीको औद्योगिक क्षेत्र गंदगी का अालम: रीको औद्योगिक क्षेत्र फेस एक एवं दाे में चाराें अाेर गंदगी जमा है। अधिकांश उद्योगाें के गेट के पास कचरा डाला जा रहा है। उद्यमी कचरे का निस्तारण करने के बजाय बाहर डालकर प्रदूषण फैला रहे हैं। रीको के पास कचरा निस्तारण के लिए कोई ठोस योजना नहीं होने से सड़कों के किनारे पड़ा कचरा हवा से उड़कर नालियों में जाता है।

प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड बेपरवाह: बहरोड़, सोतानाला औद्योगिक क्षेत्र प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड अलवर के अधीन आता है। अलवर से अधिकारी उद्योगों में आते हैं। लेकिन खानापूर्ति कर चले जाते हैं। प्रदूषण फैला रहे उद्योगों के खिलाफ ठोस कार्रवाई नहीं की जाती। जिससे राहगीर, उद्यमी, श्रमिक बीमारी से भयभीत है।

उद्योगों से कचरा बाहर निकालने पर रीको के अधिकारियों को कार्रवाई का अधिकारी है। उन्हें कचरा डालने के लिए स्थान चिन्हित करना चाहिए। यहां एमआईए में बनाया हुआ है। हमारे पास ऐसी कोई शिकायत नहीं आई है। शिकायत आने पर कार्रवाई की जाएगी। - ओपी गुप्ता, प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड, अलवर

हमारे द्वारा उद्यमियों को एनजीटी के आदेश भेजे हुए हैं। जिनकी पालना करने के लिए पाबंद किया गया है। यदि उसके बावजूद भी कचरा बाहर फेंक रहे हैं तो निरीक्षण कर दोषी उद्यमियों पर कार्रवाई की जाएगी तथा पाटे हुए नाले को हटाकर अतिक्रमण मुक्त करवाया जाएगा। -एसआई हसन, क्षेत्रीय अधिकारी, रीको नीमराना

बहराेड़. औद्योगिक क्षेत्र में फैक्ट्री के बाहर लगे गांजा के पाैधे।

खबरें और भी हैं...