Hindi News »Rajasthan »Bharatpur» सांसद और विधायकों ने नहीं सुनी मोदी के ‘मन की बात’

सांसद और विधायकों ने नहीं सुनी मोदी के ‘मन की बात’

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मन की बात भले ही सारा देश सुन रहा है। लेकिन भरतपुर जिले के सांसद और 4 विधायकों ने गत...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 01, 2018, 03:40 AM IST

  • सांसद और विधायकों ने नहीं सुनी मोदी के ‘मन की बात’
    +1और स्लाइड देखें
    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मन की बात भले ही सारा देश सुन रहा है। लेकिन भरतपुर जिले के सांसद और 4 विधायकों ने गत रविवार को इससे किनारा कर लिया। जबकि तीन दिवसीय ग्राम स्वराज अभियान के तहत इन्हें गांवों में जाकर रात्रि विश्राम करने के साथ ही ग्रामीणों के संग प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मन की बात भी सुननी थी। अब सांसद के साथ-साथ विधायकों पर भी निष्क्रिय जन प्रतिनिधि होने का ठप्पा लगने की आशंका है। क्योंकि पार्टी ने यह स्पष्ट निर्देश दिए थे कि जो जन प्रतिनिधि गांवों में जाकर प्रधानमंत्री मोदी के मन की बात नहीं सुनेगा, उसे निष्क्रिय मान लिया जाएगा।

    इसलिए अब सांसद बहादुर सिंह कोली, पर्यटन मंत्री कृष्णेंद्र कौर दीपा, विधायक बच्चू सिंह बंशीवाल, जगत सिंह और विजय बंसल की सक्रियता पर सवाल उठ सकते हैं। पार्टी सूत्रों के मुताबिक नगर विधायक अनीता सिंह ने गांव सुंदरावली में जाकर पीएम मोदी के मन की बात सुनी। जबकि भरतपुर विधायक विजय बंसल ने गांव में जाने के बजाय अपने होटल में ही पीएम के मन की बात सुनने की खानापूर्ति की। जबकि पार्टी की ओर से निर्देश दिए गए थे कि प्रत्येक जन प्रतिनिधि 28 से 30 अप्रैल के दौरान दो दिन चयनित गांव में प्रवास के साथ ही रात्रि भी विश्राम करेंगे। इस दौरान जन प्रतिनिधि किसी भी कार्यकर्ता के घर जाकर भोजन करेंगे। चौपाल पर केंद्र और राज्य सरकार की उपलब्धियां बताने के साथ ही जन समस्याएं भी सुनेंगे। बूथ कमेटी की बैठक लेने के साथ ही उन्हें 29 अप्रैल काे ग्रामीणों के साथ प्रधानमंत्री के मन की बात भी सुननी थी। इसके फोटो पार्टी के वाट्स-अप ग्रुप पर डालने थे। पार्टी के पास विधायक अनीता सिंह के अलावा किसी अन्य जनप्रतिनिधि के मन की बात के फोटो नहीं है। सोमवार शाम तक करीब 200 फोटो पार्टी के वाट्स-अप ग्रुप पर आए थे। पार्टी ने जिले की सभी 374 ग्राम पंचायतों में जनप्रतिनिधियों और पदाधिकारियों की ड्यूटी लगाई थी। उल्लेखनीय है कि पार्टी ने इस कार्यक्रम को काफी गंभीरता से लिया था, क्योंकि इसकी मॉनीटरिंग संगठन महामंत्री चंद्रशेखर कर रहे हैं। पार्टी ने चेताया भी था कि जो जन प्रतिनिधि गांवों में नहीं जाएंगे उन्हें निष्क्रिय माना जाएगा।

    मन की बात कार्यक्रम सुनतीं विधायक अनीता सिंह।

    भास्कर संवाददाता | भरतपुर

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मन की बात भले ही सारा देश सुन रहा है। लेकिन भरतपुर जिले के सांसद और 4 विधायकों ने गत रविवार को इससे किनारा कर लिया। जबकि तीन दिवसीय ग्राम स्वराज अभियान के तहत इन्हें गांवों में जाकर रात्रि विश्राम करने के साथ ही ग्रामीणों के संग प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मन की बात भी सुननी थी। अब सांसद के साथ-साथ विधायकों पर भी निष्क्रिय जन प्रतिनिधि होने का ठप्पा लगने की आशंका है। क्योंकि पार्टी ने यह स्पष्ट निर्देश दिए थे कि जो जन प्रतिनिधि गांवों में जाकर प्रधानमंत्री मोदी के मन की बात नहीं सुनेगा, उसे निष्क्रिय मान लिया जाएगा।

    इसलिए अब सांसद बहादुर सिंह कोली, पर्यटन मंत्री कृष्णेंद्र कौर दीपा, विधायक बच्चू सिंह बंशीवाल, जगत सिंह और विजय बंसल की सक्रियता पर सवाल उठ सकते हैं। पार्टी सूत्रों के मुताबिक नगर विधायक अनीता सिंह ने गांव सुंदरावली में जाकर पीएम मोदी के मन की बात सुनी। जबकि भरतपुर विधायक विजय बंसल ने गांव में जाने के बजाय अपने होटल में ही पीएम के मन की बात सुनने की खानापूर्ति की। जबकि पार्टी की ओर से निर्देश दिए गए थे कि प्रत्येक जन प्रतिनिधि 28 से 30 अप्रैल के दौरान दो दिन चयनित गांव में प्रवास के साथ ही रात्रि भी विश्राम करेंगे। इस दौरान जन प्रतिनिधि किसी भी कार्यकर्ता के घर जाकर भोजन करेंगे। चौपाल पर केंद्र और राज्य सरकार की उपलब्धियां बताने के साथ ही जन समस्याएं भी सुनेंगे। बूथ कमेटी की बैठक लेने के साथ ही उन्हें 29 अप्रैल काे ग्रामीणों के साथ प्रधानमंत्री के मन की बात भी सुननी थी। इसके फोटो पार्टी के वाट्स-अप ग्रुप पर डालने थे। पार्टी के पास विधायक अनीता सिंह के अलावा किसी अन्य जनप्रतिनिधि के मन की बात के फोटो नहीं है। सोमवार शाम तक करीब 200 फोटो पार्टी के वाट्स-अप ग्रुप पर आए थे। पार्टी ने जिले की सभी 374 ग्राम पंचायतों में जनप्रतिनिधियों और पदाधिकारियों की ड्यूटी लगाई थी। उल्लेखनीय है कि पार्टी ने इस कार्यक्रम को काफी गंभीरता से लिया था, क्योंकि इसकी मॉनीटरिंग संगठन महामंत्री चंद्रशेखर कर रहे हैं। पार्टी ने चेताया भी था कि जो जन प्रतिनिधि गांवों में नहीं जाएंगे उन्हें निष्क्रिय माना जाएगा।

    शादी समारोह की अधिकता के कारण नहीं जा पाए होंगे सांसद और विधायक : जिलाध्यक्ष

    सांसद अौर विधायकों के गांव में जाकर पीएम मोदी के मन की बात सुनने और अन्य गतिविधियों के फोटो वाट्स-अप ग्रुप में नहीं आए हैं। हो सकता है वे शादियों ा के कारण नहीं जा पाएं हों। ग्राम स्वराज अभियान 4 मई तक चलना है। जो लोग गांवों में अब तक नहीं जा सके थे, वे चले जाएंगे। यह सही है कि गांव में नहीं जाने वाले जन प्रतिनिधियों को निष्क्रिय माना जा सकता है। -भानुप्रताप सिंह, जिलाध्यक्ष भाजपा

  • सांसद और विधायकों ने नहीं सुनी मोदी के ‘मन की बात’
    +1और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Bharatpur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×