• Hindi News
  • Rajasthan News
  • Bharatpur News
  • पूरे भारत से एक साल में सिर्फ 26 छात्रों का होता है एनएसडी में सलेक्शन
--Advertisement--

पूरे भारत से एक साल में सिर्फ 26 छात्रों का होता है एनएसडी में सलेक्शन

भरतपुर | नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा नई दिल्ली में 37 वर्ष तक प्रोफेसर रहे 66 वर्षीय प्रो. रोबिन कुमार दास रविवार रात भरतपुर...

Dainik Bhaskar

May 01, 2018, 03:40 AM IST
पूरे भारत से एक साल में सिर्फ 26 छात्रों का होता है एनएसडी में सलेक्शन
भरतपुर | नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा नई दिल्ली में 37 वर्ष तक प्रोफेसर रहे 66 वर्षीय प्रो. रोबिन कुमार दास रविवार रात भरतपुर पहुंचे। वे यहां पर तीन दिवसीय दौरे पर आए हैं। वे यहां प्यासा कुआं शॉर्ट फिल्म की शूटिंग में हिस्सा लिया। उनकी टीम ने भरतपुर में संदूक वाली लड़की, प्लीज यूज मी.. जैसी सामाजिक संदेश देने वाली शॉर्ट मूवी शूट की हैं। ऐसे में उन्होंने वर्तमान परिस्थितियों में ड्रामा की बढ़ती मांग को लेकर भास्कर ने खास बातचीत की। दास ने बताया कि एनएसडी ड्रामाटिक्स आर्ट में 3 साल का डिप्लोमा कोर्स (फुल टाइम रेजिडेंशियल कोर्स) करवाता है। जुलाई में इसकी पढ़ाई शुरू हो जाती है। कोर्स का मकसद स्टूडेंट को ऐक्टिंग, डायरेक्शन, डिजाइन और थिएटर से जुड़े कई एरिया की स्टडी करवाना है। स्कूल में एंट्री पाने के लिए कम से कम 6 नाटकों का एक्स्पीरियंस भी जरूरी है। उन्होंने बताया पूरे भारत में एनएसडी 6 सेंटर में टेस्ट / ऑडिशन करवाता है। हर साल करीब 500-700 एप्लीकेशन आ जाती है। दिल्ली, कोलकाता, बेंगलुरु, मुंबई और गुवाहाटी में टेस्ट दे सकते हैं। पढ़ाई के दौरान इसमें आपको ड्रामेटिक पैसेज, पोएट्री पढ़ने को दिए जाते हैं। स्कूल में पूरे भारत से आने वाले स्टूडेंट्स के लिए सिर्फ 26 सीटें हैं।

X
पूरे भारत से एक साल में सिर्फ 26 छात्रों का होता है एनएसडी में सलेक्शन
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..