• Home
  • Rajasthan News
  • Bharatpur News
  • जसूपुरा में दो ट्यूबवेल और करीब 30 हैंडपंप खराब पांच दिन से पांच हजार ग्रामीण पानी के लिए परेशान
--Advertisement--

जसूपुरा में दो ट्यूबवेल और करीब 30 हैंडपंप खराब पांच दिन से पांच हजार ग्रामीण पानी के लिए परेशान

दिन पर दिन गर्मी के तेबर बढ़ते जा रहे है वहीं क्षेत्र में पेयजल संकट बढ़ता जा रहा है। लेकिन जलदाय विभाग की ओर से इस ओर...

Danik Bhaskar | Apr 17, 2018, 06:55 AM IST
दिन पर दिन गर्मी के तेबर बढ़ते जा रहे है वहीं क्षेत्र में पेयजल संकट बढ़ता जा रहा है। लेकिन जलदाय विभाग की ओर से इस ओर कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है। जिससे ग्रामीण पीने के पानी के लिए इधर उधर भटकते देखे जा सकते हैं। सरकार की ओर से गांव में पेयजल सप्लाई सुचारू रखने के लिए दो ट्यूबवैल बनाए गए हैं लेकिन विभागीय अधिकारियों की अनदेखी के कारण दोनों ट्यूबवैल एक साथ खराब होने से गांव में पांच दिन से पेयजल सप्लाई ठप पड़ी हुई है। यहां करीब 30 हैंडपंप खराब हैं। गांव की आबादी करीब 5000 है।

ग्रामीणों ने बताया कि अधिकारियों की अनदेखी के कारण पांच दिन बीत जाने के बाद भी ट्यूबवैल पर रखी विद्युत मोटर को ठीक नहीं कराया जा सका है जिससे गांव में पेयजल सप्लाई ठप पड़ी हुई। जिससे ग्रामीणों को गांव में लगे हैंडपंपों से पीने का पानी लाना पड़ रहा है। ग्रामीण राजकुमार, हरिओम, गोविंद, जगदीश आदि ने बताया कि जहां गर्मी का मौसम आते ही सरकार की ओर से गांव-गांव में पेयजल समस्या को देखते हुए अभियान चलाकर पेयजल समस्या का समाधान किया जाता है। गांव में जलदाय विभाग की ओर से पांच दिन से पानी की सप्लाई सुचारू नहीं किए जाने गांव में पेयजल संकट बढ़ रहा है। जिसकी कई बार विभागीय अधिकारियों को शिकायत करने के बावजूद भी अधिकारियों की ओर से समस्या के समाधान नहीं किया गया है। जिसे लेकर ग्रामीणों में विभागीय अधिकारियों के प्रति आक्रोश देखा जा रहा है।

मनियां. हैडपंप पर लगी भीड़।

पानी की समस्या का जल्द होगा समाधान : जेईएन

गांव में पेयजल समस्या को लेकर जलदाय विभाग के कनिष्ठ अभियंता चेतन प्रकाश ने बताया कि गांव जसूपुरा में विभाग के दो ट्यूबवैल बने हुए है जिसमें पिछले दिनों आए अंधड़ के कारण एक ट्यूबवैल खराब हो गया। जिसकी लोडिंग खींचते समय बोरिंग में चली गई है जिसे निकालने की कोशिश की जाएगी। वहीं दूसरे ट्यूबवैल की लाइन अटी होने के कारण पेयजल सप्लाई नहीं हो सकी है ऐसे में जल्द ही लाइन को दुरुस्त कराकर गांव में पेयजल सप्लाई दुरुस्त कराई जा रही है। इस संबंध में प्रयास किए जा रहे हैं।

कस्बे में पांच दिन से महिलाएं और बच्चे घंटों धूप में खड़े होकर ला रहे पानी, तब हो रहे घरेलू काम

भास्कर संवाददाता|बसईनवाब

ग्राम पंचायत मुख्यालय सहित गांव चंदूपुरा, नंदपुरा, देवगढ़, रंजीतपुरा, गौदूपुरा, झोर, ऊंची का अडडा, विलैयाखेड़ा में आजकल पेयजल की ऐसी मारामारी चल रही है कि लोगों की दिनचर्या भी बुरी से प्रभावित हो चुकी है। अलसुबह से ही लोगों को सबसे पहले पानी की चिंता रहती है और यह सोचना पड़ता है कि आज कहां से पानी की जुगाड़ की जाए क्योंकि 11 अप्रेल को आए तेज अंधड़ और तूफान के कारण बसई नवाब क्षेत्र मे तबाही मचा दी थी और तभी से विद्युत आपूर्ति बाधित चल रही है हालांकि कस्बा बसई नवाब की विद्युत आपूर्ति तो दो दिन बाद चालू हो गई परन्तु बसई नवाब जीएसएस से जुड़े मालौनी पंवार, पिपहेरा व भदियाना फीडर की बिजली सप्लाई आज तक बंद पड़ी है जिससे गांवों मे पेयजल संकट उत्पन्न हो गया है। इसी के चलते आज बसई नवाब ग्राम पंचायत के गांव चंदूपुरा के कालीचरन, कमल सिंह, दीनदयाल, हेमसिंह, दाताराम, दामोदर, नारायणसिंह, सोनू, प्रेमसिंह सहित सैकड़ों लोगों ने सरपंच प्रतिनिधि सुंदर सिंह कुशवाह के समक्ष अपनी पीड़ा बताई और शाम तक बिजली सप्लाई सुचारू नहीं होने पर आगामी दिन धरना प्रदर्शन की चेतावनी दे डाली।

दूसरी तरफ ग्राम पंचायत बसई नवाब द्वारा लोगों की भीषण पेयजल समस्या को देखते हुए तत्काल छोटे-छोटे गांवों के लिए पानी से भरे टैंकर भेज लोगों को थोड़ा-थोड़ा पेयजल उपलब्ध कराया।

बसईनवाब. टैंकर से पानी भरते लोग।